देश

सीता का नाम भी ठीक से नहीं लिख सकते नरेंद्र मोदी- लिखने में करी बड़ी भद्दी गलती

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शिक्षा को लेकर हमेशा विवाद चलता रहता है,लोग उनके पढ़े लिखे होने पर सवाल उठता रहता है,कोंग्रेस और अरविंद केजरीवाल हमेशा डिग्री पर सवाल उठाते रहते हैं,और खिंचाई करते रहते हैं।

इस बार प्रधानमंत्री के पढ़े लिखे होने पर फिर हंगामा शुरू हुआ है,और हँगामा शुरू हुआ है नेपाल से जहाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को पहुंचे थे। नेपाल पहुंचने के बाद पीएम मोदी सीधे जनकपुर में स्थित जानकी मंदिर पहुंचे और वहां विशेष पूजा अर्चना की। नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने मंदिर परिसर में पीएम मोदी की आगवानी की। बता दें कि जनकपुर माता सीता का मायका है और जानकी मंदिर माता सीता को ही समर्पित है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंदिर परिसर में करीब 45 मिनट रहे और स्थानीय मीडिया के अनुसार, पीएम मोदी ने मंदिर में विशेष पूजा शोदासोपचारा पूजा में भाग लिया। मंदिर में पीएम मोदी पूरे भक्ति भाव में दिखाई दिए, इस दौरान पीएम मोदी ने मंदिर के पुजारियों और अन्य संतों से तो मुलाकात की है, साथ ही मंदिर में चल रहे भजन कीर्तन में मंजीरा भी बजाया और सीताराम का जाप किया।

मंदिर पहुंचने पर पीएम मोदी को सम्मान स्वरुप पगड़ी भी पहनायी गई। यहां मंदिर से निकलते वक्त प्रधानमंत्री वहां विजिटर्स डायरी में अपनी बात लिखी। डायरी में लिखे पीएम के इसी संदेश पर कांग्रेस ने उनकी चुटकी ली है।

दरअसल हुआ ये कि पीएम मोदी ने अपने संदेश में लिखा- ‘जनकपुर धाम जाने की मेरी लंबे समय की इच्छा पूरी हो गई है। यह मेरे लिए इस तीर्थस्थल पर आने का एक यादगार अनुभव है जो नेपाल और भारत के लोगों के दिल में एक विशेष स्थान रखता है।’ हालांकि पीएम मोदी ने डायरी में माता सीता (सिया) को गलती से ‘सीया’ लिख दिया।

पीएम की इसी गलती को कांग्रेस ने पकड़ लिया। कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री आरपीएन सिंह ने प्रधानमंत्री की चुटकी लेते हुए कहा कि, ‘पीएम जो सीता के नाम की दुहाई देते हैं वो पीएम सिया माता का नाम भी ठीक से नहीं लिख सकते?’

बता दें कि नेपाल का यह जानकी मंदिर भगवान राम की पत्नी सीता का जन्म स्थान माना जाता है। सीता की याद में यह मंदिर 1910 में बनाया गया था। तीन तल वाला यह मंदिर पूरी तरह पत्थर और संगमरमर का बना हुआ है और यह मंदिर 4860 से अधिक वर्ग फुट में फैला हुआ है।