चुनाव

Video: कैराना से साँसद बनी तबस्सुम ने बिजेपी पर किया जमकर प्रहार-देखिए किसको दिया जीत का श्रय ?

नई दिल्ली:नरेंद्र मोदी लहर में जिस उत्तर प्रदेश में भाजपा ने 73 सीटेँ जीत कर रिकॉर्ड बनाया था अब उसी उत्तर प्रदेश में भाजपा सिमटती हुई नज़र आरही है जिसका सीधा असर आगामी लोकसभा के 2019 चुनाव पर पडेगा,फूलपुर,गोरखपुर के बाद अब कैराना में भी बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा है।

सपा बसपा कोंग्रेस के गठबन्धन से राष्ट्रीय लोकदल के सिम्बल पर चुनाव लड़ी तब्बसुम ने बीजेपी की मृगांका सिंह को हरा दिया है. जीत से कुछ समय पहले इंटरव्यू में आरएलडी की तबस्सुम बेगह ने कहा कि अहंकारी लोगों ने यह कहना शुरू कर दिया था कि हमारे पास कोई विकल्प नहीं है. मगर विकल्प तो ऊपर वाला निकालता है. ऊपर वाले ने विकल्प निकाल दिया है और हमलोग साथ मिलकर चलेंगे और 2019 में इन्हें धूल चटाएंगे।

जब तबस्सुम से पत्रकार ने पूछा कि बीजेपी उत्तर प्रदेश में 73 सीटों पर काबिज थी, मगर धीरे-धीरे उसकी संख्या कम रही है. क्या आपको लगता है कि विपक्षी एकता बीजेपी को 2019 में हरा पाएगी? इस पर तबस्सुम ने कहा कि 2019 में हम सब साथ मिलकर चलेंगे और यह गठजोड़ बना रहेगा और हम बीजेपी को 2019 में धूल चटा के रहेंगे।

जीत के बाद तबस्सुम ने कहा, ‘यह सच की जीत है. जो कुछ भी कहा है उसके साथ मैं आज भी हूं, एक साजिश रची गई थी. मैं कभी नहीं चाहूंगी कि भविष्य के चुनाव ईवीएम से हों. संयुक्त विपक्ष का रास्ता अब बिलकुल साफ है.’ बता दें कि राजनीति से तबस्सुम हसन का रिश्ता कोई नया नहीं है. बीजेपी की उम्मीदवार मृगांका सिंह की तरह तबस्सुम भी राजनीतिक घराने से आती हैं।

कैराना लोकसभा उपचुनाव में आरएलडी प्रत्याशी तबस्सुम हसन को सपा, बीएसपी का समर्थन प्राप्त था. बाद में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने भी इनके खिलाफ प्रत्याशी न उतारने का फैसला कर उनका समर्थन कर दिया था।