चुनाव

Video: नूरपुर विधानसभा में नईमुल हसन ने बीजेपी के खिलाफ दर्ज करी ऐतिहासिक जीत-

नूरपुर :उत्तर प्रदेश के उपचुनाव में नूरपुर विधानसभा पर भारतीय जनता पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा है उपचुनाव में गठबंधन की तरफ से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी नईमुल हसन ने जीत हासिल कर ली है. नजदीकी मुकाबले में नईमुल हसन ने बीजेपी की प्रत्याशी अवनी सिंह को 6271 वोट से मात दी।

उपचुनाव बीजेपी विधायक लोकेंद्र सिंह के आकस्मिक देहांत के कारण हुए. चुनाव में बीजेपी ने लोकेंद्र सिंह की पत्नी अवनी सिंह को प्रत्याशी बनाया था. लोकेंद्र सिंह ने 2017 में नईमुल हसन के ही हराकर विधानसभा का सफर पूरा किया था. 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लोकेंद्र सिंह को 79 हजार वोट प्राप्त हुये थे, जबकि एसपी के नईमुल हसन को 66 हजार 436 वोट मिले थे।

लेकिन इस बार उपचुनाव में लोकेंद्र सिंह की पत्नी अवनी सिंह बेहतर प्रदर्शन नहीं कर सकीं. मतगणना के दौरान शुरू से ही नईमुल हसन ने बढ़त बनाए रखी थी. हालांकि कई बार ऐसा लगा कि अवनी सिंह आगे निकल जाएंगीं, लेकिन नईमुल हसन ने अपनी बढ़त बरकरार रखी. 25 राउंड की मतगणना के बाद सपा प्रत्याशी को 94,476 मत मिले, वहीं बीजेपी प्रत्याशी अवनी सिंह 88,205 वोट ही जुटा सकीं।

उधर लखनऊ में समावजादी पार्टी दफ्तर में जोश का माहौल देखने को मिल रहा है. यहां सपा कार्यकर्ता गठबंधन के समर्थन में जमकर नारेबाजी कर रहे हैं. माना जा रहा है कि नूरपुर के बाद कैराना लोकसभा उपचुनाव के परिणाम आते ही अखिलेश यादव सपा कार्यकर्ताओं को संबोधित कर सकते हैं. दिलचस्प बात ये है कि इस उपचुनाव में अखिलेश यादव ने एक भी चुनावी सभा को संबोधित नहीं किया था।

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने गत सोमवार को हुए उपचुनाव में मतदान के दौरान वी.वी. पैट मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतों को देखते हुए कैराना लोकसभा सीट के 73 मतदान केन्द्रों पर पुन: मतदान का फैसला किया था। कैराना में पुनर्मतदान के लिए आयोग की तरफ से 500 अतिरिक्त वी.वी. पैट मशीनें उपलब्ध कराई गईं, साथ ही इनमें किसी भी तरह की संभावित गड़बड़ी को यथाशीघ्र दुरुस्त करने के लिए आयोग द्वारा 20 अतिरिक्त इंजीनियर भी तैनात किए गए थे