देश

शत्रुघ्न सिन्हा ने पढ़े ओवैसी की शान में क़सीदे,जमकर करी तारीफ देखिए क्या कहा ?

नई दिल्ली:ऑल इंडिया मजलिस ऐ इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख और हैदराबाद से लोकसभा साँसद बैरिस्टर असदउद्दीन ओवौसी सदन में हर एक मुद्दे पर चर्चा में भाग लेते हैं,और जनहित की आवाज़ उठाने का काम करते हैं जिसके कारण उनके आलोचक भी उनकी तारीफ करते हैं,और उनको सराहते हैं।

भाजपा के सेलिब्रेटी सांसद बॉलीवुड में अपने अभिनय की धूम मचा देने वाले शत्रुघ्न सिन्हा ने ओवैसी की शान में जमकर क़सीदे पढ़े हैं और उनकी तारीफ की है,सिन्हा अपने ऑफिशियल ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा है

शत्रु ने अपने ट्विट्टर अकाउंट पर एक ट्वीट में कई नेताओ की तारीफ की है.उन्होंने ओवैसी की संसद भवन में कल दी गयी स्पीच की सराहना की है.शत्रु ने कहाकि असदुद्दीन ओवैसी ने अपने कुछ शब्दों में ही एक प्रभावी स्पीच दी है.ओवैसी की तारीफ करने वाले में सिर्फ शत्रुघ्न सिन्हा ही नही है.सी-वोटर से जुड़े यशवंत देशमुख ने भी असदुद्दीन ओवैसी की स्पीच की सराहना की है।

यशवंत देशमुख ने कहाकि विपक्षी की तरफ से जितने नेताओ स्पीच दी है उसमे सबसे ज़ोरदार स्पीच ओवैसी की थी.उन्होंने कहाकि ओवैसी ने कम समय का पूरा उपयोग करते हुए मोदी सरकार की कमियों को गिनाया।

क्या कहा था ओवैसी ने ….

लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए ओवैसी ने मोदी सरकार से सात सवाल किए. उन्होंने कहा, कश्मीर में हमारे 124 सिपाही मारे जा चुके हैं, लेकिन आपकी कश्मीर नीति क्या है? ओवैसी ने कहा कि यह सरकार दलितों से मोहब्बत के बड़े-बड़े दावे किए जा रहे हैं, लेकिन जिस जज ने एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में फैसला दिया, उन्हें एनजीटी का जज नियुक्त कर दिया गया. सरकार में इतनी हिम्मत नहीं है कि वह एससी/एसटी एक्ट पर अध्यादेश लाए.इसी क्रम में ओवैसी ने कहा, फिक्स डिपॉजिट छह परसेंट हैं, महंगाई दर छह फीसदी है, आप की क्या नीति है. उन्होंने कहा, ‘मेरा सरकार से सवाल है आप कांग्रेस मुक्त भारत चाहते हैं या दलित-मुस्लिम मुक्त भारत चाहते हैं. सरकार की नीति ने देश में भय का माहौल पैदा कर दिया.’