उत्तर प्रदेश राज्य

दारुल उलूम ने स्मार्टफोन पर लगाया बैन- इस्तेमाल कर रहे 2 छात्रों को किया बर्खास्त

नई दिल्ली: शिक्षा के स्तर को बढ़ावा देने और कैंपस के वातावरण को सही रखने के लिये दारुल उलूम देवबंद ने छात्रों के स्मार्ट फोन इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया है,और इस पर सख्ती बरतते हुए दो छात्रों पर कार्यवाही भी करी है,जिससे छात्रों में हलचल मच गई है।

मोबाईल के प्रतिबन्ध के ऐलान के बाद स्मार्टफोन इस्तेमाल कर रहे छात्रों के खिलाफ निष्कासन की कार्यवाही करी है,दोनों छात्र उत्तर प्रदेश के सहारनपुर और मुज़फ़्फ़रनगर के रहने वाले हैं।

दरअसल, आरोप है कि दोनों छात्रों के पास से स्मार्ट फोन मिला था, जिस पर फैसला इंतजामिया कमेटी को लेना था और कमेटी ने अपना फैसला सुनाकर दोनों छात्रों को बाहर का रास्ता दिखा दिया. छात्रों के खिलाफ हुई कार्रवाई का नोटिस कैंपस के गेट पर भी चस्पा कर दिया गया है।

दारुल उलूम ने छात्रों के स्मार्ट फोन को इस्तेमाल करने पर इस वर्ष बेहद सख्ती बरती है. संस्था ने ईदुल जुहा के पर्व से पूर्व नोटिस जारी किया था, जिसमें कहा गया था कि छात्रों को मल्टीमीडिया मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करने दिया जाएगा, इसलिए छात्र बकरीद की छुट्टी में अपने स्मार्ट फोन अपने घरों पर छोड़कर आएं. बकरीद की छुट्टी के बाद फिर से दारुल उलूम ने छात्रों के नाम नोटिस जारी किया था।

इंतजामिया कमेटी ने कहा है कि स्मार्ट फोन समय बर्बाद करता है और दारूल उलूम में पढ़ रहे बच्चों का समय बेहद कीमती है. इस समय को स्मार्ट फोन के इस्तेमाल में बर्बाद नहीं करना चाहिए. उन्होंने कहा छात्रों के भविष्य के लिए फैसला लिया गया है. मल्टीमीडिया मोबाइल पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने में बाधक है. छात्रों में शिक्षा की गुणवत्ता बनी रहे इसके लिए यह निर्णय लिया गया है।