दुनिया

दुश्मनों को धमकी देते हुए तय्यब एर्दोगान ने कहा- “मैंनें बहुत दिन सब्र कर लिया,सब्र की भी हद होती है”

नई दिल्ली: अमेरिका और तुर्की के बीच चलता विवाद रुकने का नाम नही ले रहा है,अमेरिका धमकी पर धमकी दे रहा है तो तुर्की सीना तानकर उसकी धमकियों को उसकी भाषा मे जवाब देरहा है,राष्ट्रपति एर्दोगान ने पहले ही चेतावनी दे दी थी कि अगर तुम्हारे पास डॉलर है तो हमारे पास अल्लाह है।

आर्थिक संकट से झुझते तुर्की बाज़ार में उसके सहयोगी और दोस्त आगे बढ़कर उसका समर्थन कर रहे हैं,ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, एर्दोगान ने शुक्रवार को अंकारा में अपने सत्तारूढ़ एके पार्टी के सदस्यों से कहा, “मैं लम्बे वक़्त से सब्र कर रहा हूँ लेकिन मेरे सब्र की भी एक हद है। ”

उन्होंने अपनी राय को बहाल किया कि उच्च दर मुद्रास्फीति को धीमा करने में मदद नहीं करेगी और चेतावनी दी जाएगी कि उनका संयम हमेशा के लिए नहीं रहेगा।

केंद्रीय बैंक दर वृद्धि के लिए बार-बार के रह रहा था। एर्दोगान ने कहा, और “काफी” बड़ी वृद्धि के साथ जवाब दिया। जानकारी के मुताबिक, उन्होंने कहा कि तुर्की नियामक के “आजादी के परिणाम” देखेंगे।

आपको बता दें कि, लिरा ने टिप्पणियों पर लाभ मिटा दिया और इस्तांबुल में दोपहर में 0.4 प्रतिशत कम 6.1058 डॉलर प्रति डॉलर पर कारोबार कर रहा था।

गुरुवार के आश्चर्यजनक कदमों ने उन बाजारों को उकसाया जो महीनों से गिरावट में फंस गए थे। अमेरिका के साथ एक राजनयिक पंक्ति से प्रेरित हुए और फिर केंद्रीय बैंक निष्क्रियता से बढ़ गए।