देश

मुसलमान से हिन्दू बने परिवार पर हुई मुस्लिम पँचायत-हिन्दू संगठनों पर लगाया साज़िश का आरोप-दी खाप पंचायत की चेतावनी

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के बागपत में थाना छपरौली के गाँव बदरखां में पुलिस की कार्यवाही से क्षुब्ध होकर मुसलमान से हिन्दू धर्म परिवर्तन परिवर्तन करने वाले अख्तर के परिवार के इस फैसले के बाद से गांव और क्षेत्र में बड़ा तनाव फैला हुआ है।

धर्म परिवर्तन का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। गुरुवार को गांव के मुस्लिम समाज के लोगों ने पंचायत कर हिन्दू संगठन के सदस्यों पर धर्म परिवर्तन के लिए उकसाने ओर उनके गांव को बदनाम करने की साजिश का आरोप लगाते हुए मामले में जल्द ही 7 गांवों की खाप पंचायत बुलाने की चेतावनी भी दी है।

क्या है मामला: 27 जुलाई को कोतवाली बागपत क्षेत्र खुबिपुरा निवाड़ा गांव में अख्तर अली के 22 वर्षीय बेटे गुल हसन का शव गांव में ही एक दुकान में खूंटी से लटका हुआ मिला था। पीड़ित परिवार ने गांव के ही मुस्लिम समाज के दबंगो पर उसकी हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी थी। पीड़ितों का आरोप है कि कोतवाली बागपत पुलिस ने गलत तरीके से उसका पोस्टमार्टम कराकर आत्महत्या में मामला दर्ज कर लिया। पुलिस आरोपियो से मिलीभगत कर पीड़ितों को ही हत्या के मामले में फंसाने की धमकियां दे रही थी।

इसके बाद पीड़ित परिवार के 13 लोगों ने 1 अक्टूबर को एसडीएम बड़ौत को एफिडेविट देकर इस्लाम धर्म छोड़कर हिन्दू धर्म अपना लिया। इसके बाद पीड़ित जब अपने पैतृक गांव बदरखा पहुंचे तो वहां पर युवा हिन्दू वाहिनी संगठन के नेतृत्व में हिन्दू रीति रिवाज से हवन यज्ञ कर सभी 13 लोगो का नामकरण कराया था।

इसे लेकर आज निवाड़ा गांव में मुस्लिम समाज के लोगों ने एक पंचायत कर हिन्दू संगठन पर गांव के लोगों को बदनाम करने का आरोप लगाकर साजिश करने का आरोप लगाया। साथ ही चेतावनी दी गयी कि जल्द ही 7 गांव की खाप पंचायत बुलाकर आगे की रणनीति तय की जाएगी।