देश

नया भारत : गुजरात में लड़कियों के मोबाइल रखने पर ठाकोर समुदाय ने लगाया बैन, भाग कर शादी की तो बेटे-बेटी के पिता को भरना होगा दंड

बनासकांठा: गुजरात के बनासकांठा में ठाकोर समुदाय द्वारा 12 गांवों में कई अजीबोगरीब नियम बनाए गए हैं. इसमें एक नियम ऐसा है कि लड़कियां अपने पास मोबाइल नहीं रख पाएंगी. नियम के मुताबिक एक अगर किसी का बेटा या बेटी शादी करने के लिए भाग जाते हैं तो लड़के के परिवार को 2 लाख रुपये और लड़की के पिता को 1.50 लाख रुपये का दंड भरना होगा.

बनासकांठा जिले के दांतिवाडा तहसील के जेगोल गांव मे रविवार को ठाकोर क्षत्रिय समुदाय की एक बैठक थी जिसमें कई अलग-अलग नियम बनाए गये हैं.


1. बेटियों को मोबाइल रखने पर प्रतिंबंध और पकड़ा गया तो परिवार दोषी ठहराया जायेगा.
2. गांव में डीजे और पटाखों पर प्रतिबंध होगा.
3. समुदाय की इज्जत उछालने पर बेटे के पिता को 2 लाख और बेटी के पिता को 1.5 लाख का दंड भरना होगा.
4. सामाजिक व्यवहारों में कपड़े, बर्तन की प्रथा बंद करके कैश में व्यवहार करने का नियम बनाया गया है.
5. मरण में कफन सिर्फ परिवार का सदस्य दे पायेगा, अन्य कोई नहीं लाएगा.
6. शादी के दौरान बारात निकालने पर प्रतिबंध लगाया गया है, बाहर से बारात आएगी तो बारात नहीं निकाली जाएगी.
7. जिस घर में भाई-भाई के बीच विवाद चल रहा हो और जब तक सुलाह न हो तब तक परिवार के किसी भी कार्यक्रम में आने पर प्रतिबंध रहेगा.

ठाकोर समुदाय द्वारा बनाए गए नियमों में कई विवादित निर्णय लिए गए हैं. लेकिन बनासकांठा जिले के 12 गांवों के लिए लगाए गए इन प्रतिबंधों को अल्पेश ठाकोर और स्थानीय विधायक गेनी बेन ठाकोर ने सही बताया है. विधायक ने कहा कि लड़कियां अपने टीनएज में भविष्य उज्जवल बनाएं इसलिए ये प्रतिबंध जरूरी हैं.

वहीं अल्पेश ठाकोर ने कहा कि मोबाइल नहीं रखने का नियम सबके लिए समान होना चाहिए. बेटियां हीं क्यों बेटों पर भी यह नियम लागू होना चाहिए. उन्होंने कहा कि रही बात लव मैरिज की तो इस पर मैं कुछ नहीं कहना चाहता क्योंकि मैंने भी अन्य समुदाय में शादी की है.

By: एबीपी न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *