देश

बाज़ार में पहुंच चुके हैं करोड़ों की क़ीमत के 200 रुपए के नक़ली नोट

Journalist Jafri

देश की अर्थव्यवस्था को दीमक की तरह चाटने वाले नकली नोटों के धंधेबाज फिर सक्रिय हो गए हैं. प्राप्त जानकारी के मुताबिक दो सौ रुपये के नकली नोटों की बड़ी खेप 15 दिन पहले ही कानपुर में उतारी गई है. खुफिया तंत्र से जुड़े सूत्र इसकी पुष्टी कर रहे हैं. जिस तरह से बाजार में नकली नोट घुलमिल रहा है, उससे डांवाडोल हो रही अर्थव्यवस्था के सामने एक और संकट खड़ा हो सकता है. केंद्र सरकार ने नोटबंदी का फैसला लेने के पीछे प्रमुख कारणों मे नकली नोटों को भी बताया था. सरकार अब तक दो हजार, पांच सौ ,दो सौ, एक सौ, पचास, बीस और दस रुपये का नया नोट जारी कर चुकी है. मगर धंधेबाजों ने हू-ब-हू कॉपी कर नकली नोट बाजार मे उतार दिए हैं.

जानकारों की मानें तो कानपुर मे 15 दिन पहले करीब एक करोड़ कीमत के दो सौ रुपये के नकली नोट बाजार में सप्लाई किया है. शहर में इनके मिलने की पुष्टि दस दिनों से हो रही है. हालांकि जिन्हें नकली नोट मिल रहे हैं वह डर की वजह से खुलकर नही बोल रहा है. सर्वोदय नगर में पान की दुकान चलाने वाले दुकानदार ने छह दिन में तीन बार नकली नोट हाथ में आने की जानकारी दी है. एक नोट तो अभी भी उसके पास है. इसी तरह नरेंद्र मोहन सेतु से एलएलआर अस्पताल जाने वाली सड़क पर स्थित पेट्रोल पंप पर 10 दिन पहले जाली नोट मिले थे. सभी को दो सौ रुपये के जाली नोट मिल रहे हैं.

वहीं खुफिया सूत्र भी बताते हैं कि फिलहाल दो सौ रुपये के नकली नोट बाजार में झोंके गए हैं. इसी तरह फुटकर व्यापारियों के यहां भी नकली नोट चलाए जाने की कोशिशें हो रही है.

ग़ौरतलब है कि नकली नोट बाजार में आया है, वह हू-ब-हू असली जैसा ही है. पहली नजर में कोई भी धोखा खा सकता है. लेकिन उसे पकङना बेहद आसान है. असली नोट के बीचों-बीच हरे रंग का सुरक्षा धागा है. जिस पर भारत और आरबीआई लिखा हुआ है. हरे रंग का यह सुरक्षा धागा नोट को तिरछा करने पर नीले रंग मे चमकता है. नकली नोट मे फर्क केवल इतना है कि सुरक्षा धागा टुकड़ों में दिखाई देता है. जबकि असली नोट में पूरा धागा एक साथ दिखाई देता है. इसके अलावा नकली नोट पानी पड़ने पर रंग भी छोङ रहा है. अग्रणी बैंक प्रबंधक एके वर्मा का कहना है कि अभी इस तरह की जानकारी नहीं मिली है. अगर ऐसा कुछ है तो बैंको को चेतावनी जारी करके उन्हें आगाह किया जाएगा ताकि वह आम लोगों को भी जागरुक करें.

वहीं एडीजी प्रेम प्रकाश का कहना है कि पुलिस के पास अभी तक ऐसा कोई इनपुट नही है. अगर ऐसा है तो पुलिस की स्पेशल टीम को इसके लिए तैनात किया जाएगा. ताकि नकली नोटों का कारोबार करने वाले पकड़े जाएं.

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *