देश

मोदी भारत-पाकिस्तान तनाव का इस्तेमाल अपनी पार्टी को मज़बूत करने के लिए कर रहे हैं : चीन

ब्रितानी विदेश मंत्री डोमिनिक रॉब ने कहा है कि उन्होंने भारतीय विदेश मंत्री से कश्मीर के हालात पर चर्चा की और ब्रिटेन की चिंताएं ज़ाहिर कीं.

उन्होंने कहा, “मैंने भारतीय विदेश मंत्री से बात की है. हमने स्थिति को लेकर अपनी कुछ चिंताएं ज़ाहिर की हैं और शांति की अपील की है. लेकिन हमने भारत के नज़रिए से स्थिति को भी समझा है.”

वहीं बांग्लादेशी गृह मंत्री असदउज्ज़मा ख़ान ने दिल्ली में भारतीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाक़ात की है. हालांकि इस मुलाक़ात से जुड़ी अधिक जानकारियां अभी सामने नहीं आई हैं.

पाकिस्तान ने भारत के साथ राजनयिक संबंध सीमित करने और द्विपक्षीय व्यापारिक संबंध तोड़ने की घोषणा की है.

प्रधानमंत्री इमरान ख़ान की अध्यक्षता में पाकिस्तान की राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक हुई जिसमें भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापारिक रिश्ते को निलंबित करने की घोषणा की गई है.


पाकिस्तानी विदेश मंत्री जाएंगे चीन

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक़ पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा है कि वो चीन के शीर्ष नेतृत्व से कश्मीर के हालात पर चर्चा करने के लिए बीजींग जा सकते हैं.

वहीं चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी का मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित एक लेख में कहा गया है चीन भारत और पाकिस्तान के बीच विवाद में हस्तक्षेप नहीं करेगा और किसी एक का पक्ष भी नहीं लेगा.

लेख में कहा गया, ‘चीन भारत पाकिस्तान के विवाद में हस्तक्षेप नहीं करेगा या किसी एक का पक्ष नहीं लेगा लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि वो भारत को अपने राष्ट्रीय हितों को नुक़सान पहुंचाने देगा.’

लेख में कहा गया, “भारत के इस क़दम ने भारत और चीन के बेहतर हो रहे और मुश्किल से बनाए गए रिश्तों को चोट पहुंचाई है.”

चीन ने बुधवार को कश्मीर मुद्दे पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. इससे पहले मंगलवार को दी प्रतिक्रिया में चीन ने कहा था कि ‘यथास्थिति में बदलाव न हो.’

इस लेख में ये भी कहा गया है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत-पाकिस्तान तनाव का इस्तेमाल अपनी पार्टी को मज़बूत करने के लिए कर रहे हैं.

अख़बार ने कहा, “मोदी भारतीय लोगों का दिल जीतने और सत्ताधारी बीजेपी को मज़बूत करने के लिए भारत पाकिस्तान संघर्ष का इस्तेमाल कर रहे हैं.”

एक लेख में ग्लोबल टाइम्स ने कहा, “मोदी और बीजेपी देश में राष्ट्रवाद को बढ़ावा दे रहे हैं. भारत में एक बार फिर राष्ट्रवाद सफलतापूर्वक फैला दिया गया है.”

लेख में चिंता ज़ाहिर की गई है कि मोदी की इस इकतरफ़ा घोषणा से क्षेत्र में तनाव और अधिक बढ़ेगा.

“कश्मीर में बढ़ रहे तनाव से भारत की सुरक्षा व्यवस्था के सामने भी गंभीर चुनौतियां पैदा होंगी.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *