देश

राजस्थान-गुजरात सीमा से भारत में घुसे ‘चार’ आतंकी, पूरे देश में हाईअलर्ट जारी!

सिरोही। राजस्थान-गुजरात सीमा से सोमवार को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) एजेंट के साथ चार लोगों के एक समूह ने भारत में प्रवेश किया है। जिला अधिकारियों को जैसे ही इसके बारे में जानकारी मिली उन्होंने राजस्थान-गुजरात समेत पूरे देश में हाई अलर्ट जारी कर दिया है। बताया जा रहा है कि यह सभी लोग अफगानिस्तानी पासपोर्ट के जरिए भारत के अंदर दाखिल हुए हैं।

राजस्थान के सिरोही के पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीणा ने जिले के सभी पुलिस स्टेशनों को पत्र भेजा है। उन्होंने कहा, ‘आईएसआई एजेंट के साथ चार लोगों के एक समूह ने भारत में प्रवेश कर लिया है जिसकी वजह से राजस्थान और गुजरात सीमा सहित पूरे देश में हाई अलर्ट जारी किया गया है। यह आतंकी किसी भी समय आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम दे सकते हैं।’

पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि वह भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों की सख्ती से जांच करे जैसे कि होटल और बस स्टेशन। जिससे कि किसी भी अप्रिय घटना को होने से रोका जा सके। पुलिस को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि वह विशिष्ट क्षेत्रों में चेकप्वाइंट लगाए और संदिग्ध वाहनों की आवाजाही पर नजर रखे।

इसके अलावा पुलिसकर्मियों को पूरी तरह से अलर्ट रहने और संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ करने को कहा गया है। इससे पहले नौ अगस्त को खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट में आतंकी हमले को लेकर अलर्ट जारी किया गया था। जिसमें कहा गया था कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के जेहादी आतंकी जम्मू-कश्मीर और उसके बाहर बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते हैं।

19 अगस्त को रक्षा सूत्रों ने बताया कि उन्हें घाटी में फिदायीन हमले के इनपुट हैं वहीं, पकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) को भी सक्रिय किया गया है। सूत्रों के अनुसार, सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा के सामने पाकिस्तानी जफरवाल क्षेत्र में कुछ आतंकियों को सक्रिय किया गया है। उन्हें बैट के साथ हमले करने के लिए निर्देश मिले हैं। इनपुट के अनुसार सांबा क्षेत्र में बैट हमले की योजना है।

बसंतर के सामने पाकिस्तानी जफरवाल क्षेत्र में लैहरी कलां लॉचिंग पैड स्थापित है, जहां आतंकियों की हलचल देखी गई है। उन्हें सीमा की रेकी करवा कर घुसपैठ के साथ हमले करने के कडे़ निर्देश दिए गए हैं। हालांकि, बीएसएफ के अधिकारियों के अनुसार सुरक्षा कड़ी है और सतर्कता के चलते घुसपैठ कर पाना आसान नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *