देश

राजस्थान : पुलिस द्वारा छात्र व छात्राओं पर बरबरता पूर्वक लाठीचार्ज, पुरुष पुलिस कर्मियों द्वारा नाकाबिले बरदास्त हरकतें!

Ashafaque Kayamkhani
===============
सीकर
Si सुनील जांगिड़ ओर कॉन्स्टेबल मनोज लाइन हाजिर
दोनों की छात्राओं से मारपीट की फोटो हुई थी वायरल
हालांकि दोनों को निलंबित करने की है मांग
बेकपुट पर आई पुलिस ने किय्या लाइन हाजिर
मामला शांत करने की कवायद

सीकर मे पुलिस द्वारा छात्रो पर बरबरता पूर्वक लाठीचार्ज व छात्राओं के साथ पुरुष पुलिस कर्मियों द्वारा नाकाबिले बरदास्त हरकतें होने की राजस्थान सरकार को हाईकोर्ट के जस्टिस से जांच करवाई जानी चाहिए।

Ashafaque Kayamkhani

पूर्व विधायक कामरेड अमरा राम ने की प्रेस वार्ता करके
पुलिस की लाठीचार्ज की की कड़े शब्दों में निंदा की।
।अशफाक कायमखानी।
सीकर।
वामपंथी विचारधारा वाले छात्रसंगठन एसएफआई के स्टुडेंट्स पर पुलिस द्वारा बरबरता पूर्वक लाठी चार्ज करके छात्र-छात्राओ को गम्भीर घायल करने के खिलाफ पूर्व विधायक कामरेड अमरा राम ने प्रैस कांफ्रेंस करके पुलिस पर गम्भीर आरोप लगाते हुये कहा है कि उक्त घटना के खिलाफ तीस अगस्त को आंदोलन करने की चेतावनी दी है।
अमरा राम ने एसपी व उपपुलिस अधीक्षक सहित सभी दोषी पुलिस कर्मियों को बर्खास्त करने की मांग करते हुये छात्राओं से पुरुष पुलिसकर्मियों के मारपीट के आरोप व खाकी पर गुंडागर्दी और मारपीट का आरोप भी लगाये साथ ही घायल लोगों का उपचार नहीं कराने का आरोप भी लगाया।
सीकर में आज छात्रसंघ चुनाव के बाद पुलिस द्वारा प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया के कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज के विरोध में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के पूर्व विधायक अमराराम ने आज पत्रकार वार्ता कर पुलिस की कार्यवाही को दमनात्मक कार्रवाई बताई। अमराराम ने साफ तौर पर आरोप लगाया कि पुलिस ने खाकी वर्दी में गुंडागर्दी की है राह चलते हुए और महिलाओं तक को नहीं छोड़ा अमराराम ने कहा कि जब तक पुलिस उपअधीक्षक सहीत दोषी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त नहीं किया जाएगा 30 अगस्त से अनिश्चितकालीन महापड़ाव कलेक्ट्रेट के सामने शुरू किया जाएगा अमराराम ने यह भी कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस ने जमकर लाठीचार्ज किया और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यालय में घुसकर दमनात्मक कार्रवाई करते हुए लोगों पर लाठियां बरसाई उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पुरुष पुलिसकर्मियों द्वारा महिला और छात्राओं के साथ जमकर लाठी से मारपीट की गई है उनके राजनीतिक कार्यकाल में उन्होंने अभी कभी भी ऐसा नहीं देखा उन्होंने राजकीय कन्या महाविद्यालय में प्राचार्य और प्रशासन पर धांधली का आरोप लगाते हुए कहा कि एसएफआई के कैंडिडेट को हराया गया है इसको लेकर न्यायालय में भी जाएंगे उनका पुलिस के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएंगे यह भी कहा कि 80 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर रखा है लेकिन उनका उपचार भी नहीं करवा रही है पूर्व विधायक पेमाराम की गिरफ्तारी को भी उन्होंने दमनात्मक कार्रवाई बताया इस बात को लेकर पूर्व विधायक अमराराम व सीपीएम के नेता कलेक्टर से मुलाकात भी की और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की

सीकर में छात्रसंघ चुनाव के परिणाम के बीच दोपहर बाद माहौल गर्माया गया। पुलिस ने लाठीचार्ज कर एसएफआई छात्र-छात्राओं पर जमकर लाठियां भांजी। जिसमें कई घायल हो गए। पुलिस की पिटाई में पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष नवदीप की दोनों टांगे टूट गई। जिसे गंभीर हालत में एसके अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पुलिस ने पूर्व विधायक पेमाराम, किशन पारीक सहित 3 दर्जन समर्थकों को हिरासत में लिया है। जिससे शहर में तनाव की स्थिति बन गई।जानकारी के अनुसार राजकीय कन्या महाविद्यालय में परिणाम में धांधली को लेकर एसएफआई के सैकड़ों कार्यकर्ता प्रदर्शन पर उतर आए। पुलिस ने रोकना चाहा तो वह धरने पर बैठ गए। इसके बाद कार्यकर्ता कलेक्टर से मिलने कलेक्टे्रट पहुंचे। यहां भी पुलिस ने उन्हें रोक दिया। बाद में छात्र वापस कॉलेज की तरफ आने लगे। इसी दौरान कल्याण सर्किल पर तैनात पुलिस जाब्ते ने उन्हें खदेडऩा शुरू किया। पुलिस ने लाठीचार्ज करते हुए एसएफआई कार्यकर्ताओं और उनके समर्थकों को जमकर खदेड़ा। पुलिस ने जाट बोर्डिंग छात्रावास और ढाका भवन में घुसकर भी सर्मथकों को बाहर निकाला और डंडे बरसाते हुए गाड़ी में डालकर ले गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *