देश

GST पर कैग की रिपोर्ट में सरकार की किरकिरी, इकनॉमी की हालत ख़राब : राहुल गाँधी ने घेरा

Sagar PaRvez
========

**Demonetisation and GST rollout are perfect examples of ineptitude and lack of depth in the Modi Govt. Their callous attitude has sent the Indian economy in tailspin and has brought it to the brink of a meltdown. @RahulGandh

राहुल गांधी ने मोदी सरकार को इकनॉमी की खराब हालत के लिए घेरा है. राहुल ने ट्वीट कर कहा कि नोटबंदी और जीएसटी मोदी सरकार के अनाड़ीपन के सबूत हैं. उन्होंने कैग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने भारतीय अर्थव्यवस्था को बर्बादी के कगार पर पहुंचा दिया है. राहुल ने जीएसटी पर कैग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है सरकार के संवेदनहीन रवैये ने भारतीय अर्थव्यवस्था को मुश्किल में डाल दिया है.

जीएसटी की जटिलता दो साल बाद भी कम नहीं:कैग
कैग ने जीएसटी पर अपनी पहली ऑडिट रिपोर्ट मंगलवार को संसद में रखी . सीएजी ने कहा है कि सरकार ने जीएसटी को लाने से पहले इसका टेस्ट नहीं किया. इसकी दिक्कतों की वजह से सरकार का रेवेन्यू कम हो रहा है. इस नए टैक्स सिस्टम के अहम हिस्से इनवॉयस मैचिंग सिस्टम का अभी तक अमल में आना बाकी है. रिटर्न के लिए जो सिस्टम बनाया गया है,वो इतनी जटिल और टेक्निकल खामियों से भरी हुई है कि इनपुट टैक्स क्रेडिट के मामले में घोटाले की पूरी गुंजाइश है.

सीएजी का यह भी कहना है कि खुद केंद्र सरकार ही उन नियमों का पालन नहीं कर रही है जो उसने जीएसटी के लिए बनाए हैं. रिपोर्ट में कहा गया है, ‘2017-18 में भारत सरकार ने राज्यों में जीएसटी से मिली रकम का बंटवारा वित्तीय आयोग के फॉर्मूले के आधार पर किया जो संवैधानिक प्रावधानों और आईजीएसटी एक्ट के उलट है.’

‘जीएसटी से जुड़ी एजेंसियों में तालमेल नहीं’
कैग के मुताबिक इस नई व्यवस्था को लेकर राजस्व, केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर बोर्ड और जीएसटी नेटवर्क जैसे विभागों के बीच पर्याप्त तालमेल भी नहीं है.

राहुल ने इसी पर बुधवार को ट्वीट करते हुए कहा कि सरकार ने जल्दबाजी में जीएसटी लागू कर और नोटबंदी जैसे कदम उठाकर संवेदनहीन रवैया अपनाया जिससे देश की अर्थव्यवस्था मंदी के कगार पर पहुंच गई है. नोटबंदी और जीएसटी जैसे कदम मोदी सरकार की अकुशलता और सोच की कमी के सटीक उदाहरण हैं. उसके संवेदनहीन रवैये ने भारतीय अर्थव्यवस्था को मंदी के कगार पर ला खड़ा किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *