दुनिया

इस्राईल सीरियाई को थका कर ख़त्म कर देने वाली लंबी लड़ाई की बुनियाद रख रहा है : रिपोर्ट

ड्रोन गिरने के बाद इस्राईल पर गिरा दूसरा बम, अध्ययन में साफ़ हुई तसवीर कि ईरान के नेतृत्व वाला इस्लामी प्रतिरोध मोर्चा इस्राईल के अस्तित्व के लिए ख़तरा बन चुका है!

इस्राईल के प्रसिद्ध थिंक टैंक बेगिन अस्सादात केन्द्र ने एक अध्ययन प्रकाशित किया है जिसमें साफ़ शब्दों कहा गया है कि इस्राईल की उत्तरी और दक्षिणी सीमाओं पर जो मोर्चा कार्यरत है जिसमें सीरिया, हिज़्बुल्लाह, जेहादे इस्लामी और हमास उपस्थित हैं वह सीरियाई को थका कर ख़त्म कर देने वाली लंबी लड़ाई की बुनियाद रख रहा है।

वरिष्ठ इस्राईली कमांडर जनरल गरशोन हकोहीन ने इस अध्ययन में हिस्सा लिया जो इससे पहले 42 साल तक इस्राईल की सेना में कार्यरत रह चुके हैं। वह मिस्र तथा सीरिया से इस्राईल के युद्धों में शामिल रह चुके हैं।

हकोहीन के अनुसार पिछले दशक के दौरान अरब जगत में जो उथल पुथल रही और विशेष रूप से सीरिया में जो गृह युद्ध छिड़ा उससे इस्राईल को बड़ा सुकून मिल गया था और इस स्थिति को देखते हुए इस्राईल के भीतर सुरक्षा विशेषज्ञों का यह विचार बन गया था कि अब ज़ायोनी शासन के अस्तित्व के लिए कोई ख़तरा नहीं है। मगर जनरल हकोहीन ने अपने अध्ययन में लिखा है कि अब जब सीरिया का गृह युद्ध समाप्त होने जा रहा है तो इस्राईल के लिए उत्तरी और दक्षिणी दोनों सीमाओं पर बहुत भयानक ख़तरा उभरकर सामने आ गया है। इस ख़तरे का नेतृत्व ईरान कर रहे है जबकि उसके मोर्चे में सीरिया, हिज़्बुल्लाह, जेहादे इस्लामी और हमास सब शामिल हैं।

जनरल हकोहीन का कहना है कि वर्ष 1979 में इस्राईल और मिस्र के बीच शांति समझौता होने के बाद अब यह पहला अवसर है कि इस्राईल के ख़िलाफ़ एक साथ कई मोर्चों पर युद्ध छिड़ जाने का ख़तरा पैदा हो गया है। यह मोर्चे हैं लेबनान, सीरिया और ग़ज़्ज़ा पट्टी यही नहीं पश्चिमी सीमा से भी हमले शुरू हो जाने की आशंका पैदा हो गई है।

हकोहीन का मानना है कि यह ख़तरे तीन प्रकार के हैं, एक तो मिसाइलों का ख़तरा है जो बहु सटीक रूप से अपने लक्ष्यों को भेदने में सक्षम हैं। इन मिसाइलों को इस्राईल के भीतर स्ट्रैटेजिक लक्ष्यों को भेदने के लिए तैयार किया गया है। यह मिसाइल इस्राईल के भीतर एयरपोर्टों, सैनिक छावनियों, बिजलीघरों, तथा आवासीय इलाक़ों को निशाना बना सकते हैं।

हकोहीन के अनुसार इन ख़तरों से इस्राईल को हर तरफ़ से घेर लिया है और इस्राईल बीच में बुरी तरह फंस गया है। ईरान हिज़्बुल्लाह और हमास ने इस्राईल घेर लिया है और इस संयुक्त मोर्चे में यह ताक़त है कि वह इस्राईल के भीतर आम जनजीवन को ठप्प कर दे।

यह रिपोर्ट एसे समय आई है कि जब हिज़्बुल्लाह ने इस्राईल का ड्रोन मार गिराया है और यह साबित कर दिया है कि वायु रक्षा के क्षेत्र में उसने उल्लेखनीय प्रगति कर ली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *