विशेष

जिस पार्टी को मालेगांव आतंकी ब्लास्ट की आरोपी को टिकट देने में शर्म नहीं आई वो कांडा के समर्थन से क्यों शर्म करेंगी!

Abdul Azeem
·
ये देखिये बीसीसीआई के सचिव कुर्सी पर बैठे हैं
और बीसीसीआई के अध्यक्ष खड़े हुए हैं
बीसीसीआई के सचिव इस वजह से कुर्सी पे हैं क्यों कि अमित शाह के बेटे हैं
ऐसे इंसान को बीसीसीआई के सचिव बनाया गया है जो कभी क्रिकेट खेलना तो दूर की बात मौजूदा क्रिकेट के सभी नियम तक नही जानता होगा


MP Congress
@INCMP
दीवाली पर मंदी की मार,
अबकी बार अंधी सरकार..?

-सोना-चाँदी के व्यापार में 40% की गिराव
-सोना आयात में 60% की कमी
-सोने में पिछले वर्ष की तुलना में 66% गिरावट
-अन्य वस्तुओं के व्यापार में 40% गिरावट

हर तरफ़ हर जगह मंदी के अफ़साने हैं,
सरकार निन्द्रालीन है, लुट रहे ख़ज़ाने हैं।


Vikram Partap Jp

इसे चाहिए सुरक्षा , इसे मुसलमानों से यू ही डर लगता है , जबकि मुस्लिम इसके मुँह लगना तो दूर इसको देखना भी पसन्द नही करते क्यों मुसलमान दोस्तो , बता दो क्या राय है आपकी इस सुंदरी के बारे में

The Dalit Voice
@ambedkariteIND
मायावती जी के नेतृत्व वाली #BSP और प्रकाश अंबेडकर के नेतृत्व वाली #VBA ने बीजेपी की B-Team बनकर कार्य किया है कांग्रेस सत्ता से बाहर रहे और बीजेपी सत्ता मे आए इसके लिए पूरा दलित वोट भाजपा मे ट्रांसफर किया है, आखिर इसके लिए बेकस्टेज समझौता यह हुआ होगा कि ED CBI IT इनसे दूर रहेगी।

Ritu
@Ritu25826785
टाइगर भी मेमना बन गया।
ये कुर्सी पर बैठा बंदा जय शाह है, अमित शाह का बेटा। अमित शाह का बेटा होने की काबिलियत की वजह से ये BCCI में महासचिव बना। BCCI अध्यक्ष बने हैं सौरभ गांगुली। लेकिन ये फोटो साफ बता रहा है कि किसकी क्या औकात है।

आम नागरिक
@RammeharDabla
जिस देश मे 10 रु KG वाली सब्जी को अच्छी तरह जांच परख के खरीदा जाता हो ….आज उस देश मे दागी व मानसिक रुप से गले-सडे विधायक को भाजपा

करोंडों रु या फिर मंत्री पद के लालच से खरीदेगी, जो कि लोकतंत्र के स्वास्थ्य
के लिए हानिकारक है


Sameer Khan سمیر خان
@SK_SHES
1.76 हज़ार करोड़ रिजर्व बैंक के चंदे के बाद
हमारे गरीब मोदी जी अपनी गरीबी को दूर करते हुए
बहुत जल्दी भारत भिखारी बनने वाला है
भक्तों को बधाई????
विपक्ष को प्यार????
गोदी मीडिया को चरणस्पर्श????
#मोदी_ले_डूबा

KARAN THAPAR DESI
@DesiStupides
जिस में देश की जनता प्रज्ञा ठाकुर को वोट दे सकतीं हैं वो गोपाल कांडा को क्यों नहीं देगी?

जो पार्टी को मालेगांव आतंकी ब्लास्ट की आरोपी को टिकट देने में शर्म नहीं आई वो कांडा के समर्थन से क्यों शर्म करेंगी?

पब्लिक ने सोच लिया है जब तक बर्बादी नहीं तब तक तथाकथित की भक्ति करेगे।

जान अब्दुल्लाह
यह खबर यदा कदा आती रहती है कि सऊदी सरकार ने हज की फीस बढ़ा दी

खबर आते ही एन्टी सऊदी देखो देखो करके नाचने लगते है

नाच देख कर सऊदी भक्त झूठ झूठ बोल कर कूदने लगते है

जनता के बीच मे असमंजस की स्थिति आ जाती है कि क्या सच है क्या झूठ

एन्टी सऊदी जनता, एन्टी सऊदी ब्लॉग को सच मानती है

सऊदी भक्त जनता, सऊदी भक्त ब्लॉग को सच मानते है

फिर दोनों अपने अपने काम मे लग जाते हैं

फिर जब दोनों हज पर जाते है तो 2 लाख भी देने पड़े तो चुपचाप देते है

एन्टी सऊदी यह सोच कर देता है कि पहले 1 लाख होगी अब 2 लाख पर क्या करे जाना तो है, क्योकि सच मे उसको पता नही है कि पहले कितनी थी।

सऊदी भक्त यह सोच कर देता है कि पहले 2 भी लाख होगी और अब भी, सऊदी सरकार जुल्म नही करती, दे दो

इस तरह जो काम चलते आ रहा है, चलता रहता है

मुझे इससे 2 पैसे का भी फर्क नही पड़ता कि हज की फीस क्या हो गयी है

अगर फीस औकात से बाहर हो गयी तो हज माफ हो चुका है, वापस चलो, हज न करने की पकड़ नहीं होगी यह पैसा अपने बाल बच्चो पर लगाओ

अगर औकात में है तो चुप चाप जाकर हज कर लो।

इसलिए इस मामले में न पोस्ट लिखी कभी न बताई, अभी दोनों तरफ का नाच गाना देख के लिख रहा हूँ

हज करने की अगर वुसअत नही है तो हज आप पर फ़र्ज़ नही हुआ है। हज इबादत है ज़िन्दगी का एक मात्र लक्ष्य नही है कि मुझे पैसा कमाकर हज पर जाना है

पैसा कमाओ, ज़कात दो और अगर हज की वुसअत हो जाये तो हज करिये।।

चीज़े बहुत सिंपल है यदि आप सोच बदल लो, कल 1 लाख में होता था और कल से 2 लाख में होगा और मेरी औकात डेढ़ लाख की है

तो कल फ़र्ज़ था आने वाले कल में फ़र्ज़ नही, चिल मारो घर पर

2 लाख अंटी में पड़े होंगे तब कर लेंगे

डॉ चिल्लम चिल्ली

जान अब्दुल्लाह
लोग राधे मां के भक्तो को बेवकूफ कहते है
इसका सीधा मतलब यह है कि जब तक किसी पंथ के मानने वाले हम पर हावी नहीं हो जाते हम उसका सम्मान नही करते।

क्या केवल संख्या बताएगी कि हमे किसकी भावना का सम्मान करना चाहिए या नही?

यदि ऐसा है तो यह समाज की दोगलापन्ति है। ऐसे लोग फिर अपनी भावना का सम्मान करवाने का अधिकार खो बैठते है।

ठीक यही काम हम भारत के ईसाइयो को लेकर करते है।

हमे अपने लिए ही dotted खीरा चाहिए और दूसरे के लिए कैक्टस।

सही है भाई

डॉ खीरावाला

Shahnaj Begam
बताइये
छोटे भाई का पजामा बड़े भाई का कुर्ता,मूछे साफ लंबी सी गंदी बिना सफाई की हुई बेहूदा दाढ़ी,जेब मे दांत साफ करने की अपना प्रदर्शन करती दांतुन,झटका तलाक़,आँखों मे सुरमा,मदरसों में रट्टा लगाती बच्चो की फ़ौज,हलाला कराते मौलाना,नाखून तक ढक कर जानवर की तरह जीती औरते,हराम ऑर्गन डोनेशन,हराम इन विट्रो fertilisation,हराम tv,मस्जिदों पर चिल्लाते लाउडस्पीकर,शिया ,सुन्नी अला बला ।कहाँ लिखा है क़ुरान में ?मदरसे में रट्टा लगा कर तो ये अमेरिका इस्राइल से जंग करते है।एक हाफ़िज़ 7 पीढ़ी बख्शवा देता है चाहे बलात्ककारी ही क्यो ना हो।
ये है हदीसो का नतीजा।
इस तरह की बेहूदगी क़ुरान में कही नही।क़ुरान सिद्धांत है।क़ुरान संविधान है।क़ुरान वेज्ञानिक है।

Pradeep Kasni
·
पर्सनल हिस्ट्रीज़ का पुनर्लेखन : संदर्भ हरयाणा

गोपाल गोयल कांडा के पिता आरएसएसिया हुए रह सकते हैं। उनको देखकर लगता भी है कि यही तथ्य है !

पर यह नयी जानकारी है कि देवीलाल जनसंघी — अथवा संघियों के अडिग भरोसेमंद सहयात्री — थे :

. . . या फिर यह दो जैनों का जादुई यथार्थवादी ऐतिहासिक पुनर्लेखन है ?!!

Pooja Nagar
@PoojaNagarIND
दुष्यंत चौटाला का BJP के साथ आने से प्रदेश भर में विरोध प्रदर्शन शुरू,

लेकिन इस विरोध प्रदर्शन से अब कोई फायदा नही, क्योंकि सत्ता और मीडिया दोनों BJP की मुट्ठी में हैं।

Ravish Kumar
@RavishND
दुष्यंत चौटाला युवा है, युवाओं की राजनीति करते है, बेहतर होता, वो एक मजबूत विपक्ष के रूप में कार्य करते।

जाट आज दुष्यंत का BJP के साथ जाने के बाद ठगा हुआ महसूस कर रहा है, जाटों ने BJP के खिलाफ वोट किया था, लेकिन यहां खेल हो गया।

अब जाट फिर कभी दुष्यंत पर भरोसा नही कर पाएंगे।

Asif Hussain
·
कांडा फूल में जाए या हाथी के .. में इससे क्या ?? जनता ने चुना है तो हो गए एमएलए या तो पहले टिकट ही नही मिलना था , अब जब चुन कर आ चुके हैं तो हैं एमएलए सीना ठोक के l

मुझे नही लगता दुसरा प्रत्याशी भी कोई दूध का धुला होगा , हाँ अलग बात है कांडे जैसा वाईरल नही , मगर होगा तो कोई दुष्ट ही , यहां सबसे बड़ा दोषी न्याय पालिका है फिर निर्वाचन आयोग फिर जनता बाकी तब कोई और !

यही लोकतंत्र की सच्चाई है , हजम नही हो रहा है तो लिहाफ ओढ़ के सो जाएं ????????

Atul K Mehta
·
कुछ दिनों के बाद पटना प्रदेश जनसंघ के सहमंत्री वैद्य सुरेश दत्त शर्मा का एक पत्र मिला. उसमें उसने दीनदयाल जी की हत्या के संबंध में कुछ चौंका देने वाली बातें लिखी थीं. उसने लिखा कि 10 फरवरी को प्रातः 11 बजे के लगभग उसकी दुकान के सामने एक रिक्शा रुका. उसमें बैठा व्यक्ति उसके पास आया और उसने कहा कि दीन दयाल उपाध्याय की आज रात को हत्या कर दी जाएगी. उसने षड़यंत्र करने वालों में जनसंघ के एक केंद्रीय अधिकारी का नाम लिया और कहा कि उन्हें बचा सकते हो तो बचा लो. उसने वह नाम भी लिखा. वह था नाना देशमुख.

(नाना जी देशमुख को नरेंद्र मोदी सरकार ने भारत रत्न दिया है, अटल बिहारी वाजपेयी को भी)

जिंदगी का सफर – 3
पेज 17
लेखक- प्रोफेसर बलराज मधोक
प्रकाशन वर्ष- 2003
प्रकाशक- दिनमान प्रकाशन, 3014, चर्खेवालान, दिल्ली, 110006

Satyendra PS जी की वाल से..

Mohammad Arif Dagia
·
हरियाणा में निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बनाती दिख रही बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस ने कोशिशें तेज कर दी हैं। कांग्रेस नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने शुक्रवार को कहा कि अभी खेल खत्म नहीं हुआ है और पिक्चर बाकी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक कांग्रेस दुष्यंत चौटाला की पार्टी जेजेपी से संपर्क में बताई जा रही है। बता दें कि अभी 10 विधायकों वाली जेजेपी ने पत्ते नहीं खोले हैं। दुष्यंत तिहाड़ में बंद अपने पिता से विचार-विमर्श करने जाएंगे। इस बीच निर्दलीयों को साधने के बाद बीजेपी, जेजेपी को साधने में भी जुटी है, जिससे उसकी सरकार को मजबूती मिल सके। बता दें कि बीजेपी के 40 सीटों पर रुकने के बाद समीकरण कुछ ऐसा बैठा है कि सरकार गठन के दो रास्ते खुल गए हैं। किंगमेकर की भूमिका में दुष्यंत के साथ निर्दलीय विधायक भी आ गए हैं।

‘…तो जूतों से मारेगी जनता’

डी एस हुड्डा ने बातचीत में निर्दलीय विधायकों को चेतावनी भी दी। उन्होंने कहा कि जो निर्दलीय खट्टर सरकार का हिस्सा बनना चाहते हैं वे अपनी राजनीतिक कब्र खुद खोद रहे हैं। वे लोगों का भरोसा तोड़ रहे हैं। हरियाणा की जनता उन्हें कभी माफ नहीं करेगी। जनता उन्हें जूतों से मारेगी। हुड्डा ने यह भी कहा कि वह भी निर्दलीय विधायकों के संपर्क में हैं।

At least two people have been killed and dozens injured in violent protests in Ethiopia against Nobel Peace Prize laureate and Prime Minister Abiy Ahmed, state media reported Thursday.
Tensions remained high in parts of the country after supporters of a high-profile activist took to the streets Wednesday following rumors of his mistreatment by state forces.
Jawar Mohammed, a member of the Oromo ethnic group, who has been a public critic of Abiy, had accused security forces of trying to orchestrate an attack against him.
The clashes had resulted in deaths and injuries in Oromia, one of nine regions in the ethnically diverse country, the state-run Ethiopian News Agency reported Thursday.
As head of the US-based Oromia Media Network, Jawar played a crucial role in promoting anti-government protests that prompted Ethiopia’s ruling coalition to appoint Abiy as the first prime minister from the Oromo ethnic group, Ethiopia’s largest. (AFP)

#कठुआ_गैंगरेप_हत्याकांड जांच करने वाली SIT के सदस्यों पर कोर्ट ने दिया FIR करने का आदेश

**हालाँकि इतने जघन्य कांड को मोदी मीडिया सिर्फ़ कठुआ मामला ही बता रहा है
Ankur Sharma, defence lawyer in Kathua rape case: The competent court in Jammu has ordered registration of FIR against all members of SIT which was investigating the Rasana case. SSP Jammu has been directed to register FIR against them & file compliance report before 7th November

जम्मू कश्मीर की एक अदालत ने कठुआ में 2018 में एक बालिका के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्या मामले की जांच करने वाले विशेष जांच दल (एसआईटी) के छह सदस्यों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किये जाने के पुलिस को निर्देश दिये। अदालत ने पुलिस को एसआईटी के उन छह सदस्यों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किये जाने के निर्देश दिये

जिन्होंने 2018 में कठुआ के एक गांव में आठ वर्षीय एक बालिका के साथ बलात्कार और हत्या मामले की जांच की थी और गवाहों को झूठे बयान देने के लिए कथित तौर पर उनका शोषण किया था और उन्हें विवश किया।

न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रेम सागर ने मामले के गवाहों सचिन शर्मा, नीरज शर्मा और साहिल शर्मा की एक याचिका पर जम्मू के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) को निर्देश देते हुए कहा कि इन छह लोगों के खिलाफ संज्ञेय अपराध बनता है। अदालत ने तत्कालीन एसएसपी आर के जल्ला (अब सेवानिवृत्त), एएसपी पीरजादा नाविद, पुलिस उपाधीक्षकों शतम्बरी शर्मा और निसार हुसैन, पुलिस की अपराध शाखा के उप निरीक्षक उर्फन वानी और केवल किशोर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश दिये और जम्मू के एसएसपी से 11 नवम्बर को मामले की अगली सुनवाई पर अनुपालन रिपोर्ट देने को कहा।

जिला एवं सत्र न्यायाधीश तेजविंदर सिंह ने इस वर्ष जून में तीन मुख्य आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी

जबकि मामले में सबूत मिटाने के लिए अन्य तीन को पांच वर्ष जेल की सजा सुनाई थी।

(लेख में व्यक्त विचार, लेखक के निजी विचार हैं. आलेख में दी गई किसी भी सूचना की तथ्यात्मकता, सटीकता, संपूर्णता अथवा सच्चाई के प्रति TEESRI JUNG HINDI उत्तरदायी नहीं है. आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *