विशेष

“बर्फ़ और आग” : मुझसे शिकायत की थी कि अटल ने उस मकान को व्यविचार का अड्डा बना रखा है वहां नित्य नई-नई लड़कियां आती हैं!!

BBC News Hindi

कारोबार करने में आसानी यानी ‘ईज़ ऑफ़ डूइंग बिज़नेस’ की रैंकिंग में भारत ने 14वें स्थान की छलांग लगाई है. वहीं पाकिस्तान ने विश्व बैंक की ‘ईज़ ऑफ़ डूइंग बिज़नेस’ रैंकिंग में भारत से दोगुनी छलांग लगाई है. इमरान ख़ान की सरकार बनने के बाद से पाकिस्तान में कई तरह के आर्थिक सुधार किए गए हैं और इसका असर इस रैंकिंग में भी साफ़ दिखा.

Priyanka Gandhi Team
@priyanka_g_team
गुजरात विधान सभा चुनाव अबकी बार 150 पार-99सीटें।

महाराष्ट्र विधान सभा चुनाव अबकी बार 220 पार-105सीटें।

हरियाणा विधान चुनाव अबकी बार 75 पार-40सीटें।

इन सभी चुनावों में भाजपा के घमंड का जवाब जनता ने दिया और यह स्पष्ट है कि सत्ता का दुरुपयोग अब नहीं चलेगा।

Poulomi Saha
@PoulomiMSaha
#He won on a NCP ticket from #Satara in Lok Sabha 2019

#He quit as MP in Sept to join BJP

#Bypolls were declared for Satara

#BJP announced him their candidate

Now: Udayanraje Bhosale trails from Satara by over 94000 votes! ????

Is a Chhatrapati descendant all set to lose?


Mahesh Langa
@LangaMahesh

Serves him right! Also Alpesh Thakor and Dhaval Zala, both resigned as legislators to join BJP, are trailing from their respective seats.


William Dalrymple
@DalrympleWill

Today is the birthday of Bahadur Shah Zafar II who as well as being a great poet and calligrapher also had a great line in hats

Prashant Kumar
@scribe_prashant
BREAKING: Wrestler Yogeshwar Dutt who joined the BJP ahead of polls loses his debut election!

Jiggs ????????
@Sootradhar
Hey
@IlhanMN
This is what is called Grass Roots democracy. Block Development Council Elections in the Union Territories of Jammu Kashmir & Ladakh.

If you can’t figure out what this is, we can ask the Qatari Ambassador to India to give you a special briefing!!


Foreign Policy
@ForeignPolicy
“For the first time in a long time, Lebanese have realized that the enemy is … their own government and political leaders—not an outside occupier or regional influencer,” Hanin Ghaddar writes.

Satya Patel
मैं कुछ दिन पहले जिस पेड़ पर झूला था, अब उस पर कभी नहीं झूल सकूंगा। आज विकास की आरी ने उसकी हत्या कर दी है। बहुत दुःखी और बेबस महसूस कर रहा हूं।

Jitendra Narayan

मोदी-शाह गिरोह के कमीनापन का साहस के साथ सामना करता एक वीर…

महाराष्ट्र की राजनीति में एनसीपी के साथ छगन भुजबल ने भी वापसी की है। महाराष्ट्र के येवला विधानसभा सीट पर भुजबल साहब को 62.59 प्रतिशत मत मिले हैं। उन्होंने शिवसेना के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी को 54 हजार से ज्यादा मतों से हराया है। दअरसल, सब्जी बेचने से डिप्टी सीएम पद का सफर तय कर चुके भुजबल साहब के लिए पिछले कुछ वर्ष बेहद कष्टकारी रहे, जब मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में उन्हें जेल जाना पड़ा था।

-Vivekanand Singh

NDTV India
================

महाराष्ट्र और हरियाणा में बीजेपी की सरकार बन रही है. दोनों ही राज्यों में देवेंद्र फडणवीस और मनोहर लाल खट्टर ही मुख्यमंत्री होंगे. नया मुख्यमंत्री नहीं होगा. प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने दोनों के पिछले कार्यकाल की तारीफ की है और आगे के लिए बधाई दे दी है. इस चुनाव में जनता ने अपनी तरफ से विपक्ष को भी मजबूत किया है. सत्ता नहीं दी है. विपक्ष के खेमे में अगर देखें तो लड़ाई राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और जननायक जनता पार्टी ने ही लड़ी, बाकी कांग्रेस को लेकर यही कहा जा रहा है कि उसके उम्मीदवार तो लड़ रहे थे मगर पार्टी नजर नहीं आ रही थी.

Satyendra PS
============
मुझे अटल बिहारी वाजपेयी और नाना देशमुख की चारित्रिक दुर्बलताओं का ज्ञान हो चुका था. कुछ समय पूर्व जब मैं जनसंघ का अध्यक्ष था, केंद्रीय कार्यालय मंत्री जगदीश प्रसाद माथुर ने, जो वाजपेयी के साथ ही 30 राजेन्द्र प्रसाद रोड पर रहता था, मुझसे शिकायत की थी कि अटल ने उस मकान को व्यविचार का अड्डा बना रखा है. वहां नित्य नई-नई लड़कियां आती हैं. अब सिर से पानी गुजरने लगा है. इसलिए जनसंघ के वरिष्ठ नेता होने के नाते यह बात मैंने आपके नोटिस में लाने की हिम्मत की है.

मुझे अटल के चरित्र के विषय में कुछ जानकारी थी, परंतु स्थिति इतनी बिगड़ चुकी है, यह मैं नहीं जानता था. मैंने अटल को अपने निवास स्थान पर बुलाया और बंद कमरे में उससे माथुर द्वारा कही गई बातों के विषय में पूछा. उसने जो सफाई दी, उससे माथुर की बात और साफ हो गई. तब मैंने उसे सुझाव दिया कि वह विवाह कर ले, अन्यथा वह तो बदनाम होगा ही, जनसंघ की छवि को भी धक्का लगेगा.

जिंदगी का सफर – 3
पेज 25
लेखक- प्रोफेसर बलराज मधोक
प्रकाशन वर्ष- 2003
प्रकाशक- दिनमान प्रकाशन, 3014, चर्खेवालान, दिल्ली, 110006

 

Jitendra Narayan
अगर थोड़ी भी शर्म बची हो तो सेनाध्यक्ष विपिन रावत आगे किसी भी चुनाव में मोदी-शाह गिरोह के पक्ष न कूदें…
अपनी फ़ज़ीहत के साथ-साथ हमारे गौरवशाली सेना की भी फ़ज़ीहत करा दी…!!!

Poetry and Short-Story Written By Pabitra Adhikary
============
Earth will be calm again

Century old pirates
Keep it in mind
Those who are sinning, those who are torturing
They will get punishment someday.
They will be forced to put their heads on guillotine.
A superior power brings in
a big responsibility.
Those who will not carry out the responsibilities,
Shall also get punished.

With stardust for crores of years
The earth that has formed,
The beautiful nature that has formed,
We have no right to spoil it.
We human beings
In this earth we are aliens,
Or from some other planet.
As a result of adaptations of crores of years
The varied greenery and wildlife
That has formed,
No right do we have to destroy.

We, the human race
Consider ourselves to be the most intelligent.

What we can feel,
We consider that to be true.
However there is another world
Beyond our world of feelings.
If there’s anything more mysterious
In this universe,
It is time.
With change of time the most developed creatures
Too become extinct someday.
Even the dinosaurs have
Become extinct in this way.
Human race too in last two lakh years
Has frequently got destroyed and again
Has got recreated.

So friend, keep it in mind
Earth will be calm again.
Catastrophe will befall.
Then the forests will return again
Glittering city civilization will disappear.
A green, calm and lovely earth
Will return again.

Ashutosh Kumar
·
निदा नवाज़ हिन्दी में कश्मीर की और कश्मीर में हिन्दी की आवाज़ का नाम है .
उनकी कवितायेँ उस अनकहे दुःख से बनी हैं, जिसका नाम कश्मीर है .
यह एक ऐसी ही कविता है, जो एक ही समय में सरकार की नज़र में विद्रोही और मजहबी निजाम की नजर में धर्मद्रोही है.
क्या यह कविता के ‘मो मैन्स लैंड’ में हमारे समय का टोबा टेक सिंह है?
अबकी वीरेनियत में इन्हें आमने-सामने सुनिए.

वीरेनियत-4
————-
गुलमोहर हॉल
इंडिया हैबिटैट सेंटर,
लोदी रोड, नई दिल्ली
(मेट्रो स्टेशन- जोर बाग़/ जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम /खान मार्केट)

मध्यवर्गीय लोग

हम मध्यवर्गीय लोग
होते हैं
पतझड़ में खिलने वाले फूल
ठिठुरती सुगंध
और फीकी रंगत लिए

बसते हैं यथार्थ से अधिक
सपनों में हम
और टंके रहते हैं जीवन भर
सपनों की ही सूली पर

हमारी आशाएं फिसल जाती हैं
अधिकतर
दिल की सीढ़ियों से
बिखर जाती हैं हमारे ही जीवन की तरह
और फूटते हैं सदैव उनमें
निराशा के अंकुर

हम मध्यवर्गीय लोग
बांटते हैं अपना व्यक्तित्व
हर क्षण
पुरानी परंपराओं और
आधुनिक उपलब्धियों के बीच

हम प्यार भी करते हैं
चोरी छुपे
किसी हत्या की तरह
और टूटती है सदैव
हमारे प्यार की पतवार
बीच भावना सागर के
बचा रहता है केवल एक बिम्ब
हमारी आँखों के दर्पण में
महरूमियों का

हम खुल कर कभी नहीं मुस्कुराते
हंसने की एक्टिंग करते हैं सदेव
औरों की देखा-देखि में

हर मनोवेज्ञानिक परीक्षा
हम पर ही की जाती है
हम पर ही आज़माए जाते हैं
आणविक
और विष भरे हथियार

हम खाली पेट और नंगे जिस्म भी
जश्न मनाते हैं
देश के एटमी शक्ति होने पर

हम मध्यवर्गीय लोग
मध्य-रात्रि में जन्मे
वे बच्चे हैं
जो जीवन भर मापते रहते हैं
अँधेरे का सफ़र
तलवों की लंबाइयों से

हम वे परकटे परिंदे हैं
जो सदैव
अपनी कल्पनाओं की
कायरता में
ढूंढते हैं आकाश .

(“बर्फ़ और आग”-2015)

(लेख में व्यक्त विचार, लेखक के निजी विचार हैं. आलेख में दी गई किसी भी सूचना की तथ्यात्मकता, सटीकता, संपूर्णता अथवा सच्चाई के प्रति TEESRI JUNG HINDI उत्तरदायी नहीं है. आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *