मध्य प्रदेश राज्य

भाजपा सरकार में मंत्री रहे लक्ष्मीकांत शर्मा हनी ट्रैप मामले की आरोपी श्वेता स्वप्निल जैन के साथ ‘सम्बन्ध’ बनाते दिख रहे हैं : वीडियो

1984-1987 तक इंदौर क्रिश्चियन कॉलेज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़ा छात्र नेता विजय जैन जो कि स्वेता का पति है वह सागर में रहता था वह सागर से इंदौर आया था । सागर के सम्मानित और संपन्न परिवार के विजय जैन का बुन्देलखण्ड के छात्र-छात्राओं के बीच मजबूत पकड़ थी ।विजय जैन तभी से भारतीय जनता पार्टी से जुड़े छात्र नेताओं और वरिष्ठ नेताओं के साथ उसका लगातार संपर्क रहता था । बाद में विजय जैन वापस सागर चला गया । उच्च राजनीतिक पकड़ के चलते विजय जैन की राजनैतिक महत्वाकांक्षा जोर मारती रही।जिसको देखकर बुन्देलखण्ड के कद्दावर नेताओं ने उसे शराब के नशे में डुबा दिया । इसी बीच पारिवारिक कलह और पैसों की तंगी से परिवार विघटित हो गया । भाजपा शासनकाल में इंदौर के कद्दावर नेता के सागर का प्रभारी मंत्री बनने के बाद विजय जैन की स्थति में थोड़ा सुधार होना शुरू हुआ । श्वेता विजय जैन को छोटे मोटे काम भी मिलना शुरू हो गये । काम के सिलसिले में श्वेता और विजय जैन का भोपाल आना जाना शुरू हुआ । उच्च राजनीतिक संपर्को को देखकर अब श्वेता की राजनैतिक महत्वाकांक्षा कुलांचें मारने लगी । जिसका भरपूर फायदा भाजपा के दो कद्दावर मंत्रीयों ने उठाया । इसी बीच श्वेता के आर्थिक हितों और राजनैतिक महात्वाकांक्षा की आड़ में भरपूर शोषण किया गया । उसे भारतीय जनता युवा मोर्चा का पदाधिकारी बना दिया गया । श्वेता सागर से विधानसभा चुनाव का टिकट मांग रही थी और बुन्देलखण्ड के कद्दावर नेताओं के हाथ एक श्वेता की वीडियो क्लीपिंग हाथ लग गई । जिसकी आड़ में श्वेता के राजनैतिक कैरियर को खत्म किया ही गया । सागर के स्थानीय कद्दावर नेताओं ने अपनी राजनीतिक रोटियां भी सेंक ली ।

श्वेता अचानक गुमनामी के अंधेरे में चली गई लेकिन इसी बीच निचले स्तर के पुलिस अधिकारियों और नेताओं ने उसका शोषण करना जारी रखा । जिसके बाद श्वेता ने कई लोगों की वीडियो रिकॉर्डिंग कर ली और फिर वो खुलकर अपराध के दलदल में उतर गई । ओर बन गयी हनी ट्रेपर

Rifat Jawaid
@RifatJawaid
Not surprised. Sexual favour to grant governemnt contracts. Journalists involved too. Aside from Monica Yadav, the other four arrested are Aarti Dayal, Shweta Swapnil Jain, Shweta Vijay Jain, Barkha Soni and a driver.
@JantaKaReporter
Omprakash.

Mohanty RN
@men_toomovement
Police had identified the accused as

Aarti Dayal (29), Monika Yadav (18), Shweta Vijay Jain (39), Shweta Swapnil Jain (48), Barkha Soni (34) and Omprakash Kori (45)

Main accused women gifted Audi Car 2 Monika 4 physical relationsp with many men n agreed too

The honey trap case, which shook the state’s leaders and officials, again came into the limelight after about two months. This time the alleged audio and video of Laxmikant Sharma, who was a minister in the BJP government, has gone viral on the Saashal media. In the video, Laxmikant is seen alongside Shweta Swapnil Jain, an accused in the Honey Trap case. In another clip of the video, Laxmikant is seen making serious allegations against former Chief Minister Shivraj Singh Chaihan and making objectionable talks about the Sangh. Although this video is from when, it is not yet clear. But, it is being told after December 2015, because then Laxmikant came out of jail in Vyapam Ghatetala case.

I am not aware that I am currently in Delhi, I do not know about this. You have come to know that such a case has come up. – Rakesh Singh, State President, Laxmikant in BJP Video: I drank a sip of poison Laxmikant is seen in the video discussing before the 2013 assembly elections, when he was Public Relations Minister. In the posters during the campaign, they are referring to Shivraj’s displeasure over the photo of Narendra Modi. They are also seen accusing Shivraj’s family. In the conversation, they are saying in the case of Vyapam that I drank a sip of poison, but did not implicate anyone. The party is my mother, I will never betray her. I got involved due to political loyalty.

How the video leaked, SIT started investigation SIT is investigating the Honey Trap case. But, she has not been able to reveal much about Kai. In such a situation, despite all the strictness, this video has gone viral. According to sources, the SIT has started an investigation into how the video of Laxmikant Sharma went viral.”

मध्य प्रदेश में फिर हनी ट्रैप : महिला ने युवक को घर बुलाकर बनाया गंदा वीडियो

इंदौर। मध्य प्रदेश की सियासत और नौकरशाही में भूचाल ला देने वाले बहुचर्चित हनी ट्रैप केस के बाद ऐसा ही एक और मामला सामने आया है। इसके तार भी इंदौर से जुड़े हुए है। आरोप है कि एक महिला ने युवक को जाल में फंसा लिया और अब उसे रुपयों के लिए वह ब्लैकमेल कर रही है। युवक की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर मंगलवार को पुलिस ने तीनों आराेपियों को गिरफ्तार भी किया है। पुलिस के अनुसार भी दो फरियादी सामने आए हैं।

जांच अधिकारी दिलीप देवड़ा ने बताया कि मामला चंदन नगर का है। एक फरियादी द्वारा शिकायत की गई थी कि एक महिला अपने दो साथियों के साथ हनीट्रैप जैसी वारदात को अंजाम दे रही है। महिला ने पहले उसे झांसे में लिया और फिर घर बुलाया। यहां पर उसने अपने साथ मिलकर उसके कुछ अश्लील वीडियो बना लिए। अब वे वीडियो दिखाकर उसे ब्लैकमेल कर रही है।

युवक ने पहले उसे 25 हजार रुपए ​दिए, लेकिन अब वह 55 हजार रुपयों की मांग कर रही है। युवक की शिकायत पर पुलिस ने महिला सहित उसके दो साथी दुर्गेश सेन और राकेश सोलंकी को गिरफ्तार किया।

Madhya Pradesh/ Laxmikant Sharma seen with Honey Trap accused, former MP minister makes allegations against Shivraj Singh Chouhan and Sangh

Bhopal: The honey trap case, which shook the state’s leaders and officials, again came into the limelight after about two months. This time the alleged audio and video of Laxmikant Sharma, who was a minister in the BJP government, has gone viral on social media. In the video, Laxmikant is seen alongside Shweta Swapnil Jain, an accused in the Honey Trap case.

Laxmikant is seen making serious allegations against Shivraj: In another clip of the video, Laxmikant is seen making serious allegations against former Chief Minister Shivraj Singh Chouhan and talking objectionable things about the Sangh. Although the time of this video is not yet clear. But, it is believed that it belongs to a period after December 2015, because then Laxmikant came out of jail in Vyapam scam.

‘I do not know’: Rakesh Singh, State President, BJP, said: ‘I am currently in Delhi, I have no idea about this. I learnt about this through you.’.

Laxmikant says I took a sip of poison: In the video, Laxmikant is seen discussing before the 2013 assembly elections when he was the Public Relations Minister. In the posters during the campaign, he is seen referring to Shivraj’s displeasure over the photo of Narendra Modi. He is also seen accusing Shivraj’s family. In the conversation, he is heard saying that in the Vyapam case he took a sip of poison, but did not implicate anyone. The party is my mother, I will never betray her. I got involved due to political loyalty, he is heard saying

How the video leaked, SIT started investigation: The SIT is investigating the Honey Trap case. But, it has not been able to make any significant revelation so far. In such a situation, despite all the strictness, this video has gone viral. According to sources, the SIT has started an investigation into how the video of Laxmikant Sharma went viral.


अब व्यापमं के आरोपी मंत्री हुए हनी ट्रैप के शिकार, सामने आया अश्लील वीडियो

– हनीट्रैप कांड से जुड़ीं 5 महिलाएं भले ही अभी जेल में हों, मगर उनमें से एक महिला का एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है.
– इस वीडियो में उस वक्त की शिवराज सरकार के एक दिग्गज मंत्री नजर आ रहे हैं.
– वीडियो वायरल होते ही राज्य में एक बार फिर हनीट्रैप कांड की चर्चाएं जोर पकड़ने लगी है.

भोपाल:मध्य प्रदेश की सियासत में भूचाल ला देने वाले हनीट्रैप कांड से जुड़ीं 5 महिलाएं भले ही अभी जेल में हों, मगर उनमें से एक महिला का एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. इस वीडियो में उस वक्त की शिवराज सरकार के एक दिग्गज मंत्री नजर आ रहे हैं. वीडियो वायरल होते ही राज्य में एक बार फिर हनीट्रैप कांड की चर्चाएं जोर पकड़ने लगी है. न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक नए वीडियो में पूर्व मंत्री और हनीट्रैप कांड की आरोपी महिला साथ-साथ हैं. इसमें नजर आ रहे दृश्य `बहुत कुछ` कह रहे हैं.

सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियो ने राज्य की सियासत में एक बार फिर हलचल मचा दी है. इसको लेकर बीजेपी जहां बचाव की मुद्रा में है, वहीं कांग्रेस को एक बड़ा मुद्दा मिल गया है.

बता दें कि हनी ट्रैप कांड में राज्य में मनपसंद जगह तबादले और गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) को बड़े काम दिलाने के लिए महिलाओं के उपयोग की बात सामने आई थी. इंदौर के एक इंजीनियर को ब्लैकमेल करने के आरोप में पुलिस ने एक महिला और एक पुरुष को पकड़ा था. इसके बाद इनकी चार अन्य महिला साथियों को भी पुलिस ने पकड़ा था. पांचों महिलाएं इन दिनों जेल में हैं.

5 महिलाओं ने मिलकर हनी ट्रैप का रैकेट तैयार किया था

मध्य प्रदेश के राजगढ़, छतरपुर और भोपाल की पांच महिलाओं ने मिलकर हनी ट्रैप का संगठित रैकेट तैयार किया था. इस रैकेट के जरिए वो राजनेताओं और सीनियर अफसरों को हनी ट्रैप में फंसाने का काम करती थीं. आरोपियों ने कई राजनेताओं और अफसरों की सीडी बनाकर उन्हें ब्लैकमेल किया और करोड़ों रुपए ऐंठ लिए. एसआईटी की जांच में सामने आया कि हनी ट्रैप के इस सिंडीकेट में करीब 40 कॉल गर्ल्स थीं. जिनमें बॉलीवुड की कुछ हीरोइने भी शामिल थीं. जो ना सिर्फ नेताओं और अफसरों के करीब गईं बल्कि बेहद शातिराना तरीके से उनकी वीडियो भी बना ली. इनकी दूसरी टीम ने उन्हीं पिक्चरों को अपने शिकार से पैसे ऐंठने और उनसे सरकारी काम निकलवाने का जरिया बना लिया.

मीडिया के धुरंधर भी इस रैकेट में थे शामिल!

जो हसीनाएं सियासत और नौकरशाही के आला लोगों के कमरे तक पहुंचती थी, अपने शिकार को जाल में फंसाने में पूरी एहतियात बरतती थीं. इनके पास होटलों में रुकने के लिए फर्जी आईडीज़ थी. ये खुलासा तो खुद पुलिस भी कर चुकी है. हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप और जबरन वसूली मामले में भोपाल के कई पत्रकारों के नाम उभरकर सामने आए थे. मामले में कथित भूमिका वाले पत्रकारों में हिंदी समाचार पत्र का एक रेजिडेंट एडिटर, न्यूज चैनल का एक कैमरामैन और क्षेत्रीय सैटेलाइट टीवी चैनल का मालिक शामिल थे. एसआईटी ने जांच के दौरान कहा था कि अगर सबूतों में पाया गया कि नौकरशाहों ने सेक्स स्कैंडल के सरगनाओं की बात मानने के लिए अपने पद का दुरोपयोग किया है तो उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा. सबसे महत्वपूर्ण कामों में नौकरशाहों और नेताओं द्वारा सेक्स-स्कैंडल के सरगना को आवंटित ठेकों का पता लगाना है.

हनी ट्रैप के पूरे 90 वीडियो है पुलिस के पास

पुलिस को इन ब्लैकमेलर हसीनाओं के पास से एक दो नहीं बल्कि पूरे 90 ऐसे वीडियो मिले थे जिनमें सियासतदानों से लेकर ब्यूरोक्रेट तक की गंदी बातें रिकार्ड हैं. इसके अलावा इन शिकारी महिलाओं के पास से 8 सिम कार्ड्स भी मिले हैं. जिनका रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है. इस हाई प्रोफाइल स्कैंडल में पकड़ी गईं पांच में से दो महिलाओं ने लोकसभा चुनाव के दौरान कई बड़े नेताओं के अंतरंग संबंध वाले वीडियो 30 करोड़ रुपये में बेचने की कोशिश की थी. लेन-देन को लेकर कुछ नेताओं से इन महिलाओं की कई दौर की बातचीत भी हुई थी.

सत्ताधारी कांग्रेस और विपक्षी दल बीजेपी दोनों एक-दूसरे पर हनी ट्रैप गैंग द्वारा उनके नेताओं की रिकर्डिंग के आरोप लगा रहे हैं. ऐसे में मध्य प्रदेश पुलिस मुख्यालय ने इंदौर में दर्ज किए गए हनी ट्रैप (मोहपाश) मामले को गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन 23 सितंबर को कर दिया है.

क्या है मध्य प्रदेश हनी ट्रैप केस नेताओं, अफसरों और रसूखदारों को हुस्न के जाल में फंसाकर उनके अश्लील वीडियो बनाने के बाद ब्लैकमेल करने का पूरा मामला मध्य प्रदेश हनी ट्रैप केस है। अन्य की तरह की तरह इंदौर नगर निगम का इंजीनियर हरभजन सिंह भी गिरोह के जाल में फंसा और अश्लील वीडियो बनवा बैठा। गिरोह ने उससे अश्लील वीडियो के बदल तीन करोड़ रुपए मांगे। हरभजन सिंह ने इंदौर के पलासिया पुलिस थाने में शिकायत दी, जिस पर पुलिस ने 18 सितम्बर को भोपाल से 3 और 19 सितम्बर को इंदौर से 2 महिलाओं को पकड़ा तब से आए दिन हनी ट्रैप केस में चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। फिलहाल पांचों महिला आरोपी 14 अक्टूबर 2019 तक के लिए जेल में हैं।

हनी ट्रैप की आरोपी के साथ दिखे मप्र के पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत, शिवराज-संघ पर लगाए आरोप

भोपाल . प्रदेश के नेताओं और अफसरों को हिला देने वाला हनी ट्रैप मामला करीब दाे माह बाद फिर सुर्खियाें में आ गया। इस बार भाजपा सरकार में मंत्री रह चुके लक्ष्मीकांत शर्मा का कथित ऑडियो और वीडियाे साेशल मीडिया पर वायरल हाे रहा है। वीडियाे में लक्ष्मीकांत हनी ट्रैप मामले की आरोपी श्वेता स्वप्निल जैन के साथ दिखाई दे रहे हैं।

वीडियाे की एक अन्य क्लिप में लक्ष्मीकांत पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहान पर गंभीर आरोप लगाते और संघ के बारे में आपत्तिजनक बातें करते दिख रहे हैं। हालांकि यह वीडियाे कब का है, यह अब तक स्पष्ट नहीं हाे सका है। लेकिन, इसे दिसंबर 2015 के बाद का बताया जा रहा है, क्याेंकि तब लक्ष्मीकांत व्यापमं घाेटाला केस में जेल से बाहर आए थे।

मुझे जानकारी नहीं : मैं इस समय दिल्ली में हूं, मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। आपसे ही पता चला कि ऐसा कोई मामला सामने आया है। – राकेश सिंह, प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा

वीडियाे में लक्ष्मीकांत : मैंने जहर का घूंट पी लिया
वीडियाे में लक्ष्मीकांत 2013 के विधानसभा चुनाव के पहले की चर्चा करते नजर आ रहे हैं, तब वे जनसंपर्क मंत्री थे। प्रचार के दौरान पोस्टरों में नरेंद्र मोदी के फोटो पर वे शिवराज की नाराजगी का जिक्र कर रहे हैं। वे शिवराज के परिवार पर भी आरोप लगाते दिख रहे हैं। बातचीत में वे व्यापमं मामले में कह रहे हैं कि मैंने जहर का घूंट पी लिया, लेकिन किसी को नहीं फंसाया। पार्टी मेरी मां है, उससे कभी गद्दारी नहीं करूंगा। मैं राजनीतिक वफादारी के कारण उलझा।

वीडियो कैसे लीक हुआ, एसआईटी ने शुरू की जांच
हनी ट्रैप मामले की जांच एसआईटी कर रही है। लेकिन, वह अब तक काेई बड़ा खुलासा नहीं कर पाई है। ऐसे में तमाम सख्ती के बावजूद यह वीडियाे वायरल हुआ है। सूत्राें के मुताबिक लक्ष्मीकांत शर्मा का वीडियाे कैसे वायरल हाे गया, इसकी पड़ताल एसआईटी ने शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *