विशेष

अगर कोई बोली से नहीं मानेगा तो गोली से तो मानेगा ही : ऐसे असामाजिक तत्वों पर सदैव के लिए प्रतिबंध लगाना चाहिए.!

Sagar PaRvez

भाजपा सांसद ने अपनी ही पार्टी के विधायक को बताया ‘ब्लैकमेलर’ , विधायक ने भेज दिया 23 करोड़ रुपये का मानहानि नोटिस

**चाल, चरित्र, चेहरा का जूता मार सांसद-विधायक कांड तो याद होगा‼️

महाराष्ट्र: औरंगाबाद के गंगापुर विधानसभा निवार्चन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी विधायक प्रशांत बम्ब ने नांदेड़ निवार्चन क्षेत्र से अपनी पार्टी के सांसद प्रताप पाटिल चिखलीकर को मानहानि का नोटिस भेजकर

सांसद ने हाल ही में राज्य में लोक निर्माण विभाग (PWD) अधिकारियों को भेजे गये पत्र में उन्हें ‘ब्लैकमेलर’ बताया है

जारी नोटिस की प्रति के अनुसार विधायक बम्ब ने सांसद चिखलीकर से 23 करोड़ रुपये का मुआवजा मांगा या फिर संवाददाता सम्मेलन में बिना शर्त सार्वजनिक रूप से माफी मांगने और उनसे सोशल मीडिया में प्रसारित सभी संदेशों को हटाने के लिए कहा है।

नोटिस के मुताबिक चिखलीकर ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को नवंबर 2019 में एक पत्र लिखा था जिसमें कहा गया कि वह एक ‘ब्लैकमेलर’ हैं

गौरतलब है कि…
भाजपा के केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री मोटेपे से जूझ रहे नितिन गडकरी ने पिछले महीने कहा था कि जब भी मराठवाड़ा क्षेत्र में किसी भी प्रकार का बुनियादी ढांचा निर्माण कार्य शुरू होता है तो स्थानीय राजनीतिक नेता ठेकेदारों को परेशान कर रिश्वत की मांग करते हैं।

इस पत्र में चिखलीकर ने उन्हें ‘ब्लैकमेलर’ कहा था…
बंब ने कहा, ” मैंने अपने कानूनी सलाहकार के मार्फत चिखलीकर को मानहानि का नोटिस भेजा है।”
नोटिस में कहा गया है कि चिखलीकर के आरोप बेबुनियादी हैं और उनसे उन्हें मानसिक पीड़ा हुई, ऐसे में उन्हें मुआवजे के रूप में 23 करोड़ रूपये दिया जाए। इस नोटिस में यह भी कहा गया है कि चिखलीकर बिना शर्त माफी मांगें और सोशल मीडिया पर बंब के खिलाफ डाले गये सारे पोस्ट हटाये जाएं।

बंब ने कहा, ”मेरी पार्टी ने इस मुद्दे पर दखल नहीं दिया…
मैंने कानूनी उपचार का मार्ग अपनाने का निर्णय लिया।” हालांकि, अभी तक चिखलीकर की प्रतिक्रिया नहीं मिल पायी है।

उल्लेखनीय है कि भाजपा नेता और केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने पिछले महीने कहा था कि मराठवाड़ा में जब भी कोई बुनियादी ढांचा निर्माण कार्य शुरू होता है तो स्थानीय नेता ठेकेदार को परेशान करते हैं। गडकरी ने संकेत दिया था कि ये नेता काम शुरू होने से पहले ठेकेदार को फोन करते हैं और रिश्वत मांगते हैं।

उन्होंने चेतावनी दी थी कि यदि ऐसी रूकावट नहीं बंद हुई तो उन लोगों को सीबीआई(????❗️) जांच का सामना करना पड़ सकता है।

New York Times called Adityanath ‘terrorist’!

Jul 14, 2017

New York Times called Adityanath ‘terrorist’!. The American newspaper New York Times has described UP Chief Minister Yogi Adityanath as a Hindu terrorist. N.Y. Times has presented Hinyuva as a terrorist organization.Adityanath ‘terrorist’‘A firebrand Hindu priest with political stair climbing’ U P. Chief Minister Yogi Adityanath has been described as a rival for the Hindu youth. The article says that a mahant has been elected to rule in India’s most populous province.

Her lectures are hated. Most of the people call Aditiya Nath as Yogis. The yogi has been identified as the mahant of a temple. This leader, who created the army of youth to take revenge for the historical errors of Muslims, is said to have been
traditionalism.Adityanath ‘terrorist’He has created a Hindu youth dynasty to avenge the historical errors of Muslim rulers. Yogi is mentioned in the article against the Muslims. The article also wrote a lot about the political journey of Adityanath and the politics of the Bharatiya Janata Party.

I.P. Singh
@IPSinghSp
योगी छत्तीसगढ़ चुनाव प्रचार करने गये बीजेपी
चुनाव हार गई,योगी मध्यप्रदेश चुनाव प्रचार
करने गये बीजेपी चुनाव हार गई,राजस्थान में
प्रचार करने गये बीजेपी चुनाव हार गई,अभी
झारखंड चुनाव प्रचार में कहाँ कोई इरफान जीतेगा तो राममंदिर कैसे बनेगा
बीजेपी सब चुनाव हार गई अब दिल्ली भी
हारेगी।

 

Umashankar Singh उमाशंकर सिंह
@umashankarsingh
जामिया और शाहीनबाग़ में दो फ़ायरिंग की वारदात के बाद चुनाव आयोग के आदेशानुसार साउथ ईस्ट के DCP को हटा दिया गया है।

लेकिन जिस मंत्री के उकसावे भरे बयान के बाद फ़ायरिंग की वारदात हो रही है उसका भी तो कुछ करता चुनाव आयोग!

Satyendra PS

2020-21 के बजट की सबसे अच्छी बात यह है कि रामदेव, आसाराम की सलाह के अनुसार कुछ धमाकेदार कदम नहीं उठाया गया।

सरकार को एक राष्ट्र निर्माण कोष बनाने की जरूरत है। देश के हर आधारकार्ड धारक से हर महीने 500 रुपये इस कोष में अनिवार्य स्वैच्छिक आधार पर जमा कराया जाए।
इस कोष का इस्तेमाल सेना के लिए हथियार, लाठी डंडा खरीदने के लिए हो। वर्दी भी खरीदी जा सकती है। पुलिस के लिए इस पैसे से अत्याधुनिक असलहे खरीदे जाएं,जिससे वह टुकड़े टुकड़े गैंग को गोली मार सकें। साथ ही कोर्ट के आदेश के बाद इस कोष से भव्य रामलला मन्दिर बनाया जाए।

इस कोष की वसूली आयकर विभाग को न देकर सेना और पुलिस के जवानों को दी जाए। एक बार मेल से चेतावनी भेजने पर जो पैसे न जमा कर दे, उसे पुलिस मुख्यालय में चूतड़ पर 4 सोंटा फाइन के साथ जमा करने की सहूलियत दी जाए।

यह कोष बनाने के लिए बजट में प्रावधान की जरूरत नहीं होगी, क्योंकि यह आयकर व वित्त मंत्रालय से अलग कोष होगा। कभी भी सरकार इसका प्रस्ताव कर सकती हैं।

 

Surendra Rajput
@ssrajputINC
लो कपिल गुर्जर गोपाल और उनके समर्थक सुन लो आप शाहींन बाग की औरतों पर गोली बरसा रहे हैं और वो आप पर फूल बरसा रही हैं। ये ही अंतर है मोहब्बत और नफ़रत का। उठो जागो

Vinod Kapri
@vinodkapri
संवैधानिक पद पर रहते हुए ये व्यक्ति गोली मारने की बात कर रहा है। ऐसे ही लोग भारत को ख़त्म कर रहे हैं। शर्मनाक। ना ये योगी कहलाने लायक़ हैं , ना मुख्यमंत्री।

Manav Yadav
@ManavLive
अगर कोई बोली से नहीं मानेगा तो गोली से तो मानेगा ही: योगी आदित्यनाथ

Akhilesh Yadav
@yadavakhilesh
भाजपा के जन-प्रतिनिधियों का ‘हिंसक-वाचन’ एक भयावह स्थिति है. माननीय न्यायालय व चुनाव आयोग को इन कथनों का संज्ञान लेकर तुरंत दंडात्मक कार्रवाई करनी चाहिए. ऐसे असामाजिक तत्वों की लोकसभा व विधानसभा सदस्यता रद्द करके, इन पर सदैव के लिए प्रतिबंध लगाना चाहिए.

आपराधिक कृत्य!

डिस्क्लेमर : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *