दुनिया

ईरान का ज़फ़र सैटेलाइट लांच के बाद सफलतापूर्वक कक्षा में स्थापित नहीं हो सका

रविवार की शाम ईरान ने सेमनान स्थित इमाम ख़ुमैनी लांच पैड से ज़फ़र उपग्रह लॉन्च कर दिया है।

हालांकि ईरानी रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता सैय्यद अहमद हुसैनी के मुताबिक़, ज़फ़र सैटेलाइट लांच के बाद सफलतापूर्वक कक्षा में स्थापित नहीं हो सका।

स्थानीय समय के अनुसार, शाम 7 बजकर 15 मिनट पर इस सैटेलाइट को लांच किया गया था। सीमुर्ग़ रॉकेट द्वारा लांच किए गए सैटेलाइन ने समस्त चरणों को सफलतापूर्वक पूरा किया, लेकिन अंत में कक्षा में स्थापना के समय उसे ज़रूरी गति प्राप्त नहीं हो सकी।

ईरान के दूरसंचार मंत्री मोहम्मद जवाद आज़री जाहरुमी ने ट्वीट करके कहा है कि हमारी यह कोशिश सफल नहीं हो सकी, लेकिन हम यहीं नहीं रुकेंगे, हम महान ईरानी उपग्रहों के साथ फिर लौटेंगे।

मंत्री का कहना था कि इस सैटेलाइट को तैयार करने पर 22 लाख यूरो ख़र्च हुए, लेकिन अगर उसे किसी अन्य देश से ख़रीदते तो इसके लिए पांच गुना ज़्यादा क़ीमत चुकानी पड़ती।

इससे पहले ईरान की अंतरिक्ष एजेंसी के प्रमुख ने कहा था कि 113 किलोग्राम वज़न वाले ज़फ़र सैटेलाइट को सीमुर्ग़ रॉकेट द्वारा ज़मीन से 530 किलोमीटर की दूरी पर अंतरिक्ष में लांच किया जाएगा।

यह सैटेलाइट वैज्ञानिक निगरानी के उद्देश्य से लांच किया गया था, ताकि भूकंप का अध्ययन करने में मदद मिल सके।

ईरान, वैज्ञानिक उद्देश्यों के लिए सैटेलाइट कार्यक्रम चला रहा है, इसके बावजूद अमरीका और पश्चिमी देश इसे अपने लिए ख़तरा बता रहे हैं।

ग़ौरतलब है कि रविवार को ही इससे पहले आईआरजीसी ने कक्षा में उपग्रह को ले जाने के लिए डिज़ाइन किए गए नई नस्ल के इंजिन वाले नए बैलिस्टिक मिसाइल राद-500 का अनावरण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *