उत्तर प्रदेश राज्य

दिन दहाड़े मारे गए हिन्दू महासभा नेता रणजीत बच्चन की तीन पत्नियां थीं, बलात्कार व छेड़ख़ानी के दो मुक़द्द्मे थे, गोरखपुर पुलिस के रेकॉर्ड में ‘फ़रार’ है : रिपोर्ट

मशहूर गायक मुकेश ने एक फिल्म का निर्माण किया था उसका नाम है ”तीसरी कसम’, फिल्म का निर्देशन बासू भटाचार्य का था और राज कपूर, वहीदा रहमान फिल्म के अहम् किरदारों में थे, इस फिल्म के गीतों को आज भी लोग पसंद करते हैं, जैसे दुनियां बनाने वाले क्या तेरे मन में समायी, काहे को ये दुनिया बनायीं,,,,पान खाये सैयां हमारो, मलमल के कुर्ते पे छींट लाल लाल,,,इस फिल्म के एक गाने के बोल हैं, ‘बुरा कीजिये बुरा होगा, भला कीजिये भला होगा, बही लिख लिख के क्या हो ओगे, यहीं सब कुछ चुकाना है, सजन से झूठ मत बोलो खुदा के पास जाना है,,,

खूबसूरत दुनियां में इंसान ने खुद अपने चारों तरफ झूठ, फ़रेब,. मक्कारी के ऐसे ऐसे खतरनाक जाल बुन रखे हैं जिनमे वो खुद तो जीवनभर उलझा ही रहता है औरों का जीना भी दुशवार करता है, इंसान के अंदर का हैवान उससे न जाने क्या क्या करवाता है जबकि ये जीवन अमूलय है , हमारी ये ज़मीन बे मिसाल है, यहाँ जिधर देखिए अल्लाह/भगवान् ने एक से बढ़ कर एक नज़ारे, बहारें, फूल, फल, दरिया, पहाड़, दरख़्त, खुशबु, रात, दिन, चाँद, सूरज, सितारे अता किये हैं, मगर लालच में सराबोर इंसान पाप के रास्ते से खुद को अलग नहीं करता है बल्कि पाप करने के लिए अपना हुलिया, चोग़ा, रूप बदल कर धर्म की आढ़ में धार्मिक बनने का ढोंग रचता है, वो बुरे कामों को भी पुण्य समझ कर करता रहता है और समझता है कि साथ साथ खुदा को भी धोखा दे लेगा, ऐसा मगर होता नहीं है, ऊपर वाला सब देख रहा है,,,यहीं सब कुछ चुकाना है, सजन से झूठ मत बोलो खुदा के पास जाना है,,,परवेज़

Aafrin
@Aafrin7866
लखनऊ के हजरतगंज में मारे गए हिन्दू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष रणजीत श्रीवास्तव उर्फ रणजीत बच्चन गोरखपुर पुलिस के रेकॉर्ड में ‘फरार’ है। “साली” से #रेप के मामले में र रणजीत बच्चन पर केस दर्ज है और चार्जशीट भी लग चुकी है।

INDIA’S18
@Indias18network
रणजीत बच्चन हत्या कांड: जानिए अब तक की पूरी घटना
दोस्त आदित्य कुमार श्रीवास्तव है अहम गवाह
तफ्तीश के लिए 8 टीमों का हुआ गठन
पुलिस कमिश्नर ने 50 हजार रुपए का इनाम किया घोषित
सीसीटीवी कैमरों से हुई संदिग्ध व्यक्ति की पहचान

उत्तर प्रदेश: राजधानी के हजरतगंज में ग्…

P. भारद्वाज
@Parvesh04945153
हाउडी बाबा
लो बे भक्तो भगवा की आड़ मे गुफा आश्रम से आगे भी जंहा है इस कथित हिन्दुत्वा का ये करेंगे देश की रक्षा हरामियों पहले अपनी मां बहनों की तो कर लो रक्षा
रणजीत बच्चन कहलाये हिंदू नेता रचाई थीं तीन शादियां कौन हैं तीनों पत्नियां दो दुष्कर्म के केस

विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष रणजीत बच्चन ने तीन शादियां की थी। रणजीत ने पहली शादी स्मृति से काफी पहले परिवार के लोगों के कहने पर की थी। बाद में पहली पत्नी से नाता तोड़ लिया। वर्ष 2002 से 2009 के बीच साइकिल यात्रा के दौरान उनके साथ रहीं कुशीनगर की कालिंदी शर्मा से दूसरी शादी की। कुछ साल पहले लखनऊ में एक अधिकारी की बेटी निर्मला श्रीवास्तव से तीसरी शादी रचा ली। शुरू में कालिंदी शर्मा और निर्मला श्रीवास्तव के बीच काफी विवाद हुआ था, लेकिन बाद में दोनों के बीच सहमति बन गई और साथ रहने लगीं।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रविवार की सुबह गोली मार दी गई। सुबह सवेरे हुई इस हत्या के बाद लखनऊ में हड़कंप मच गया। हमलावरों ने रणजीत के बिलकुल पास आकर उनपर गोलियां बरसाईं जिसके चलते उनकी मौत हो गई। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी यह सामने आया है कि रणजीत को नाक के बिलकुल पास से गोली मारी गई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस हत्या में 9mm की पिस्टल का इस्तेमाल किया गया था।

रविवार सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले रणजीत यादव पर हमलावरों ने हजरतगंज के छतर मंजिल इलाके में गोलियां बरसा दीं। ज्यादा खून बहने के कारण उनकी मौत हो गई। कहा जा रहा है कि उन्हें 9 एमएम की पिस्टल से गोली मारी गई। यह पिस्टल पेशेवर लोगों द्वारा उपयोग की जाती है। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (एसीपी) नवीन अरोड़ा ने कहा कि पुलिस ने घटनास्थल से दो मोबाइल फोन बरामद किए हैं और साइबर सेल कॉल डिटेल्स निकाल रही है। पुलिस ने एक सीसीटीवी फुटेज भी जारी किया है, जिसमें दो संदिग्धों को देखा गया है। इन पर 50 हजार रुपये का इनाम भी जारी कर दिया गया है।

दुष्कर्म के दो मामलों में भी फंसे थे रणजीत
गोरखपुर पुलिस अहिरौली स्थित पैतृक आवास पहुंच कर भी जानकारी जुटा रही है। पुलिस के मुताबिक रणजीत बच्चन ने तीन शादियां की थीं। एक पत्नी ने रणजीत के खिलाफ गोरखपुर के महिला थाने में मुकदमा भी दर्ज कराया था। इसके अलावा शाहपुर थानाक्षेत्र में असुरन की रहने वाली एक अन्य महिला ने भी दुष्कर्म, छेड़खानी की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। दोनों मुकदमे दर्ज होने के बाद पुलिस ने उसके कथिक वृद्धाश्रम का बोर्ड भी उखाड़ दिया था।

दूरदर्शन और भारतेंदु नाट्य एकेडमी के कलाकार भी थे रणजीत
विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष रणजीत बच्चन भारतेंदु नाट्य एकेडमी ग्रेडेड आर्टिस्ट 2010 से एवं आल इंडिया दूरदर्शन ड्रामा आर्टिस्ट वर्ष 2000 से थे। वर्तमान में गुलरहिया के टोला पतरका में निवास करते थे। लगभग 18 वर्ष सामाजिक एवं राजनीतिक क्षेत्र में सक्रिय रहे। भारत, भूटान साइकिल यात्रा में दल नायक रहे। उनका नाम लिम्का बुक आफ रिकार्ड में दर्ज हुआ। उन्होंने भारतीय सोशल वेलफेयर फाउंडेशन गोरखपुर की स्थापना की थी।

कौशल्या आश्रम, वृद्धा एवं अनाथ आश्रम गोरखपुर की स्थापना की। जापानी इंसेफेलाइटिस एवं मतदाता जागरूकता के लिए अभियान भी चलाया था। महापुरुषों की प्रतिमा का सफाई अभियान, पल्स पोलियो अभियान के साथ समाज के अति पिछड़े, गरीब शोषित के हक के लिए संघर्ष भी करते रहे। भारतीय कायस्थ महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष, गोरखपुर पत्रकार एसोसिएशन के सदस्य भी रहे थे। कला में उनकी खासी रुचि थी।

सपा सरकार में थी अच्छी पैठ, फिर बने थे हिंदू नेता
प्रदेश में सपा की सरकार रहने के दौरान रणजीत बच्चन का नाम अखिलेश यादव के करीबियों में शामिल हो गया था। प्रदेश के अलग-अलग हिस्से में साइकिल यात्रा भी लेकर निकले थे। गोरखपुर के सपा नेता भी रणजीत के पास जाकर दरबार लगाते थे। अफसर भी उन्हें अलग से तवज्जो दिया करते थे। मगर सरकार बदलने के बाद ही वह हिंदूवादी नेता हो गए।

=========

रणजीत बच्चन की हत्या में पुलिस के हाथ एक सीसीटीवी फुटेज मिला है। सीसीटीवी फुटेज में एक शख्स कंबल लपेटे उसी जगह से गुजरता दिखाई दे रहा है, जहां आज सुबह रणजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या की गई। कहा गया है कि इस व्यक्ति के बारे में सूचना देने वाले व्यक्ति को पुलिस की तरफ से 50 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा और सूचना देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी।

संदिग्ध के बारे में सूचना मोबाइल नंबर 9454400137 पर या मेल आईडी cplkw137@gmail.com पर दे सकते हैं।

वारदात के तार गोरखपुर में भी खंगाले जा रहे हैं। हत्या की खबर आते ही पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम गुलरिहा के पतरका टोला में बन रहे रणजीत के आश्रम में पहुंच गई। वहां पर आश्रम के पीछे बने टीनशेड में ताला बंद था लेकिन उसकी भी जांच की गई है।

पुलिस ने वहां से रणजीत के एक करीबी को उठाकर पूछताछ कर रही है। उधर, बिछिया स्थित उनके रिश्तेदार के घर पहुंचकर पुलिस ने छानबीन की है। अब तक की जांच के बाद पुलिस का कहना है कि छानबीन में कुछ खास हासिल हो सका है। जांच जारी है।

जानकारी के मुताबिक लखनऊ में रविवार सुबह अखिल भारतीय हिंदू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष रणजीत बच्चन की गोली मार कर हत्या कर दी गई। गोरखपुर के चिल्लूपार विधानसभा क्षेत्र के लालालोगों की अहिरौली का मूल निवासी रणजीत बच्चन ने गुलरिहा के पतरका टोला में वृद्धाश्रम का निर्माण कर रहे थे। इसकी सूचना मिलते ही एसएसपी डॉ. सुनील कुमार गुप्ता ने पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम लगा दी।

क्राइम ब्रांच की टीम ने जांच पड़ताल शुरू कर दी। पुलिस ने रिश्तेदार, दोस्त और उनके निर्माणाधीन आवास पर जाकर पूछताछ की। रणजीत पर दुष्कर्म का केस दर्ज कराने वाली युवती से भी पुलिस ने संपर्क किया लेकिन युवती दर्ज केस के अलावा कोई अन्य जानकारी नहीं दे सकी। सीओ क्राइम प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि गोरखपुर में उसके आवास आदि पर जांच की गई है लेकिन कहीं भी कुछ खास नहीं मिला है।

लखनऊ में अपने मित्र के साथ मॉर्निंग वॉक पर निकले रणजीत बच्चन (Ranjeet Bachchan) की रविवार सुबह सरेराह गोली मारकर हत्या कर दी गई। रणजीत बच्चन विश्व हिंदू महासभा के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष होने के साथ-साथ लंबे समय तक समाजवादी पार्टी से भी जुड़े रहे थे। वह सपा के लिए गोरखपुर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करवाते थे।

रणजीत बच्चन मूल रूप से गोरखपुर जिले के गोला के अहरौली पंचगांवा के रहने वाले थे, जोकि मौजूदा समय में लखनऊ में हजरतगंज की ओसीआर बिल्डिंग के बी ब्लॉक में रहते थे।

रणजीत बच्चन विश्व हिंदू महासभा के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष होने के साथ-साथ लंबे समय तक समाजवादी पार्टी से भी जुड़े रहे थे। वह सपा के लिए गोरखपुर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करवाते थे।

रणजीत बच्चन मूल रूप से गोरखपुर जिले के गोला के अहरौली पंचगांवा के रहने वाले थे, जोकि मौजूदा समय में लखनऊ में हजरतगंज की ओसीआर बिल्डिंग के बी ब्लॉक में रहते थे। सपा सरकार में रंजीत को उक्त फ्लैट आवंटित किया गया था। उनकी दो पत्नियां थीं। पहली पत्नी का नाम कालिंदी और दूसरी का स्मृति है। कालिंदी गोरखपुर में रहती हैं, और संबंध विच्छेद हो जाने के बाद उसने गोरखपुर में रणजीत के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी।

बता दें कि साइकिल यात्रा में रणजीत बच्चन की साथी रहीं कुशीनगर के नेबुआ नैरंगिया के बैरवा पाट्टी में रहने वाली कालिंदी निर्मल शर्मा का नाम साइकिलिंग को लेकर लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज है। कालिंदी परिवार के साथ सिटी के कृष्णा नगर मोहल्ले में रहती हैं। साल 2004 में रणजीत बच्चन गोरखपुर प्रेस क्लब में घूमते हुए नजर आते थे। कालिंदी निर्मल शर्मा के साथ ही रणजीत ने सपा की शांति सद्भावना यात्रा में भी भागीदारी की थी।

शांति सद्भावना मिशन को पूरा करने के लिए 4 फरवरी 2002 को रणजीत बच्चन और कालिंदी ने साइकिल यात्रा शुरू की थी। दोनों भारत, भूटान, बांग्लादेश, नेपाल और बर्मा के बॉर्डर एरिया तक पहुंचे। एक लाख बत्तीस हजार दो सौ पचास किमी की यात्रा तय कर भारत के 28 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों की यात्रा पूरा की थी। सात साल 10 महीने और 13 दिन तक ली उनकी साइकिल यात्रा 18 दिसंबर 2009 को एमपी इंटर कॉलेज में खत्म हुई थी।

अमिताभ बच्चन को मानते थे अपना आदर्श: अमिताभ बच्चन के लुक और हेयर स्टाइल का अनुसरण करने वाले रणजीत बच्चन बताते थे कि वह बिग बी को अपना आदर्श मानते थे, उस दौर में गोरखपुर के आसपास रणजीत बच्चन कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी करवाते थे। मामले में लापरवाही बरतने पर चौकी इंचार्ज समेत चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। जांच के लिए छह टीमों का गठन किया है।

विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष रणजीत बच्चन कुछ दिन पहले नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर भड़काऊ बयान देकर सुर्खियों में आए थे। उन्होंने कहा था कि जो लोग सीएए का विरोध कर रहे हैं, उन्हें पाकिस्तान चले जाना चाहिए। खुद को हिंदू नेता के तौर पर स्थापित करने के लिए उन्होंने भगवा कपड़े पहनना शुरू कर दिया था।

इससे पहले लखनऊ में रहने के दौरान रणजीत हिंदू महासभा के चक्रपाणि महराज के संपर्क में आए और संगठन को ज्वाइन किया। बाद में उन्होंने विश्व हिंदू महासभा के नाम से अलग संगठन खड़ाकर खुद को अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित कर दिया।

सत्ता के हिसाब से पार्टी बदल देते थे रणजीत
गोरखपुर के चिल्लूपार विधानसभा क्षेत्र के लालालोगों की अहिरौली के मूल निवासी रणजीत बच्चन सरकार के हिसाब से अपना झंडा बदल लेते थे। कभी बसपा के साथ उनकी करीबी थी। सपा सरकार बनी तो तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ रहे और इसी दौरान साइकिल यात्रा भी की थी। सपा सरकार में ही लखनऊ में उनके नाम पर सरकारी आवास आवंटित हुआ था और फिर वह वहीं पर रहने लगे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *