देश

नशे में रहना अच्छी बात है, लेकिन देशभक्ति का नशा इतना भी नहीं होना चाहिए कि मोदी जी की तरह शादी ही न करें : कैलाश विजयवर्गीय

भारत को हिंदुत्व की राजधानी बन जाना चाहिए : बीजेपी जल्द ही उस संविधान को बदल देगी जिसमें धर्मनिरपेक्ष शब्द लिखा है!

NDTV India
==========
दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था का बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेश किया. 2 घंटे 40 मिनट तक चले भाषण में देश की अर्थव्यवस्था को संकट के दौर से उबारने के प्रयास हैं. इनकम टैक्स की नई दरों का ऐलान किया गया. बजट में 2020-21 में GDP की अनुमानित विकास दर 10 प्रतिशत रखी गई है. LIC में सरकार अपनी हिस्सेदारी बेचेगी. बैंको में 5 लाख तक की जमा पूरी तरह सुरक्षित रहेगी. 2022 तक किसानो की आय दोगुनी करने का संक्ल्प है. कृषि किसानों को ऊर्जा संयत्र लगाने में मदद, कृषि क्षेत्र को 2 करोड़ 83 लाख दिये गए. PPP मॉडल के तहत अस्पताल बनेंगे. राष्ट्रीय भारती ऐजेंसी बनाने का ऐलान भी किया गया.

BJP सांसद अनंत हेगड़े बोले- बेंगलुरु को बन जाना चाहिए हिंदुत्व की राजधानी

भारतीय जनता पार्टी के सांसद अनंत कुमार हेगड़े संविधान बदलने और ताजमहल को शिव मंदिर बताने जैसा बयान को लेकर पहले भी सुर्खियों में रह चुके हैं.

भारतीय जनता पार्टी के सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने कहा है कि बेंगलुरु को हिंदुत्व की राजधानी बन जाना चाहिए. उन्होंने ट्वीट कर कहा है, ‘बेंगलुरु को हिंदुत्व की राजधानी बन जाना चाहिए. भारत को हिंदुत्व की राजधानी बन जाना चाहिए. मैं यह कहने से नहीं कतराऊंगा. मुझे इसकी कोई परवाह नहीं है. जो लोग नहीं समझते हैं, वो बार-बार सावरकर से लड़ते रह सकते हैं.’

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कर्नाटक से भारतीय जनता पार्टी के सांसद अनंत कुमार हेगड़े पहले भी अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रह चुके हैं. साल 2017 में भी बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े तब चर्चा में आए थे, जब उन्होंने कहा था कि बीजेपी जल्द ही उस संविधान को बदल देगी, जिसमें धर्मनिरपेक्ष शब्द लिखा है.

उन्होंने कहा था कि भारतीय संविधान कहता है कि हम धर्मनिरपेक्ष हैं, इसलिए इसे मानना ही पड़ेगा, हम संविधान का आदर करते हैं. हालांकि इसे कई बार बदला गया है, यह भविष्य में बदलेगा, हम लोग संविधान बदल देंगे.

इसके अलावा बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े ताजमहल को लेकर भी चौंकाने वाला बयान दे चुके है. अनंत हेगड़े ने कहा था कि ताजमहल को मुसलमानों ने नहीं बनवाया था, बल्कि शाहजहां ने इसे राजा जयसिंह से खरीदा था. उन्होंने कहा था कि ताजमहल एक शिव मंदिर था, जिसे राजा परमतीर्थ ने बनाया था और इस मंदिर को तेजो महालया के नाम से जाना जाता था.

इसके अलावा अनंत कुमार भड़काऊ बयान भी दे चुके हैं. पिछले साल जनवरी में उन्होंने कहा था कि जो हाथ हिन्दू लड़कियों को छूते हैं, उनको नहीं रहना चाहिए, उनको काट दिया जाना चाहिए.

 

कैलाश विजयवर्गीय बोले- ‘नशा इतना भी न हो कि मोदी जैसे शादी ही न करें’

सोर्स : aajtak.in

इंदौर।
भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय महासचिव और मध्य प्रदेश के कद्दावर नेता कैलाश विजयवर्गीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर दिए एक बयान के बाद फिर चर्चा में हैं. लोगों को ड्रग्स की जगह देशभक्ति के नशे का पाठ पढ़ाते-पढ़ाते कैलाश विजयवर्गीय ने कह दिया कि नशे में रहना अच्छी बात है, लेकिन देशभक्ति का नशा इतना भी नहीं होना चाहिए कि मोदी जी की तरह शादी ही न करें.

दरअसल मध्य प्रदेश के इंदौर में नशे के खिलाफ एक मैराथन दौड़ के बाद बीजेपी नेता विजयवर्गीय भाषण दे रहे थे और युवाओं से नशा नहीं करने की अपील कर रहे थे. इसी दौरान उन्होंने कहा कि नशे में रहना अच्छी बात है लेकिन यह नशा काम और देशभक्ति का होना चाहिए. इसके आगे उन्होंने कहा कि ‘नशा इतना भी ना हो कि मोदी जी जैसे शादी ही ना करें’

बता दें कि कैलाश विजयवर्गीय अपने अजीबोगरीब बयानों के लिए आए दिन सुर्खियों में बने रहते हैं. बीते दिनों उन्होंने इंदौर के मशहूर पोहे को लेकर अजीब बयान दिया था जिसके बाद वो विपक्ष के निशाने पर आ गए थे.

पोहे को लेकर उन्होंने कहा था कि मेरे घर पर मजदूरी कर रहे लोगों के पोहा खाने के स्टाइल से मैं समझ गया कि वो बांग्लादेशी हैं. विजयवर्गीय के इस बयान के बाद उन्हें सोशल मीडिया पर लोगों के नाराजगी का सामना करना पड़ा था.

इससे पहले भी संघ पदाधिकारियों को लेकर उन्होंने एक बयान दिया था. विजयवर्गीय ने कहा था कि अगर इंदौर में संघ के पदाधिकारी नहीं होते तो शहर में आग लगा देता. इस बयान की भी काफी आलोचना हुई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *