विशेष

यह_है_असली_हिंदुस्तान : गिरिराज सिंह को पशुपालन मंत्रालय दिया गया है लेकिन वो खुद पशुओं से बदतर होगये हैं

‎Mohammad Parvez‎

·
मुस्लिम परिवार ने मंदिर में कराई गोद ली हिन्दू बेटी की शादी, लोग बोले:– #यही_है_असली_हिंदुस्तान….!!!!!

सोशल मीडिया में एक शादी काफी चर्चा बटोर रही है। यह शादी हाल ही में केरल (Kerala) के कासरगोड जिले में हुई है। दरअसल यह शादी हुई मंदिर में और इसे कराया वहीं के एक मुस्लिम परिवार ने। दुल्हन बनी लड़की जब करीब पांच-सात साल की थी तो इस मुस्लिम परिवार ने उसे गोद ले लिया था। मुस्लिम दम्पत्ति (Muslim Couple) ने उसे ना सिर्फ हिन्दू रीति रिवाज सिखाए बल्कि हिन्दू रीति रिवाजों के अनुसार ही लड़की की शादी भी करवाई।

कासरगोड के भगवती मंदिर में शादी के इस समारोह का आयोजन बीते रविवार(16 फरवरी) को किया गया था।
मंदिर में आयोजित इस शादी समारोह में परिवार और दोस्तों के अलावा हिंदू-मुस्लिम दोनों ही समुदायों के लोग मौजूद थे।
दुल्हन का नाम राजेश्वरी है। विष्णु प्रसाद नाम के युवक से हुई ये शादी धार्मिक सौहार्द का मिसाल बन रही है।
बताया जाता है कि अब्दुल्ला और खदीजा ने राजेश्वरी के पिता की मौत के बाद उसे गोद ले लिया था।
गोद लिए जाने के बाद राजेश्वरी, अब्दुल्ला और खदीजा के बच्चों शमीम, नजीब और शरीफ के साथ पली और बड़ी हुई।
सोशल मीडिया में इस शादी को लोग हिंदू मुस्लिम एकता की मिसाल बताते हुए लिख रहे हैं
@कि यही तो है असली हिंदुस्तान।

ये जुम्मन कभी नहीं कहेंगे के
शिया-सुन्नी जो दोनो ही कलमे के शरीक हैं वो भाई भाई हैं

देवबंदी-बरेलवी जो दोनों ही सरवर ए कायनात नबी ﷺ के ग़ुलाम है वो भाई भाई हैं

क्यों नहीं कहेंगे? क्योंकि इन्हें मुसलमानों के इत्तेहाद से बैर है। ये शरजील को तेहरिकी बताएंगे और कहेंगे के उसका साथ देना अक़ीदे से भटकना है, और ये रावण को अपना मसीहा और कन्हैया को अपना रहबर मानेंगे जो कि पक्के सच्चे आलिम दीन हैं ????

और सबसे मज़ेदार बात “हम 135 करोड़ एक हैं” ????????
अरे मियाँ जी अगर आप 135 करोड़ एक हैं तो फिर माफ़ कीजियेगा प्रज्ञा को भी तुम ही ने संसद भेजा है, गिरिराज को भी अनुराग को भी और मोदी और शाह को भी तुम ही ने बिठाया है।
और तुम्हारे अपनों ने ही CAA पास किया है।

इस लिए हमें माफ करों हम तुम्हारे साथी ना कल थे और ना कल होंगे हमें हमारा दीन मुबारक और तुम्हे तुम्हारी चाटूकारिता और ग़ुलामी मुबारक।
Arshad Mirza Alig

Ritesh Makwane


“टीआरपी के खेल से परे हमारा हिंदुस्तान”…

तस्वीर में सफ़ेद कमीज में दिख रहें सज्जन का नाम अब्दुल्लाह है और बुर्के में खड़ी महिला का नाम ख़दीजा है,केरल के कासरगोड के रहने वाले इस मुस्लिम दंपति ने एक हिंदू लड़की को वर्षो पहले गोद लिया था,जब उसने अपने माता-पिता को खो दिया था…. वह उस समय10 साल की थी…अब जब वह 22 वर्ष की है,तब उसके दत्तक माता-पिता ने सभी हिंदू रीति-रिवाजों के साथ उसकी शादी एक हिंदू लड़के से बड़ी धूमधाम से की…
दत्तक माता-पिता का दिल से सम्मान
Gopal Rathi

Shahrukh siddiqui
@srspoet
ट्रम्प के स्वागत में हर मिनट 55 लाख खर्च करेगी क़र्ज़ में डूबी मोदी सरकार!

वाह रे न्यू इण्डिया
Flushed faceThumbs down

BJP KA VIRODHI #VSGT
@sujitsingh__
मुसलमानों को 1947 में पाकिस्तान भेज देना चाहिए था :गिरिराज सिंह

तो
तमिल के लिए तमिलस्तान
मराठों के लिए मराठीस्तान
बंगालियों के लिए बंगालीस्तान
सिखों के लिए सीखस्तान
दलितों के लिए दलितस्तान
अगर इस तर्ज पर देश का बंटवारा होता तो हिंदुस्तान कैसे बना होता मंत्री जी??Thinking face

Rohan Gupta
@rohanrgupta
लगता है ट्रंप जानते के प्रधानमंत्री जी ‘जुमलो’ की बरसात करते हैं! इसी लिए उन्होनें मोदी जी के 1 करोड़ लोग लाने वाले वचन को सार्वजनिक कर दिया जिससे मोदी पर अपना वचन पुरा करने का दबाव पड़ सके !

???????????????????????????????????? #???????????????? ????.???? Flag of India
@Oye_Kumarisme

संघ वाले सनातन धर्म के ठेकेदार नहीं है ना ही औवेसी वाले इस्लाम के ठेकेदार है

प्रजातंत्र है हर कोई आज़ाद है..??

“और अगर एक करोड़ मखियां गूं की तरफ़ गार भी हो जाये तो इसका मतलब ये नहीं कि वो सही है”

Prashant Kanojia
@PJkanojia

गिरिराज सिंह को पशुपालन मंत्रालय दिया गया है लेकिन वो खुद पशुओं से बदतर होगये हैं।
@NitishKumar
से निवेदन है ऐसे आवारा पशु को पकड़कर पिंजड़े में डालें।

Shahnawaz Ansari
@shanu_sab

अमेरिका – ज़िंदाबाद
इंग्लैंड – ज़िंदाबाद
जापान – ज़िंदाबाद
फ्रांस – ज़िंदाबाद
जिन अंग्रेज़ों ने हमसे गुलामी करवाई उनके लिए ज़िंदाबाद का नारा लगाइए कोई आपत्ति नही, लेकिन जैसे ही आप “पाकिस्तान ज़िंदाबाद” कहेंगे, आप देशद्रोही, ग़द्दार, आतंकी हो जाते हैं।
समझ रहे हैं न?
#AmulyaLeona

डिस्क्लेमर : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया फेसबुक पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *