ब्लॉग

सावधान_#CAA व NRC मुस्लिम मुक्त भारत के निर्माण के अभियान को सफ़ल बनाने के हथियार हैं!

Mohd Sharif

********************************************
देश के प्रधानमंत्री का मुसलमानों से कहना है कि जो इस देश की मिट्टी से पैदा हैं उनको डरने की ज़रूरत नहीं है, उनको नहीं निकाला जाएगा।
यह बात कहने वाला वही शख़्स है जो गुजरात के मुसलमानों के क़ातिल के रूप में जाना जाता है।
गुजरात में जिन मुसलमानों को 2002 में क़त्ल करवाया गया था, क्या वह इस देश की मिट्टी से पैदा नहीं थे? और क्या उनको सिर्फ़ मुसलमान होने की वजह से क़त्ल नहीं करवाया गया था?
ध्यान रहे मुसलमानों के क़त्लेआम पर शर्मिंदा होने के बजाय गर्व करने वाला शख़्स एक बड़ी तादाद में मुसलमानों को इस देश से निकालने या डिटेंशन कैम्प में यातना देकर क़त्ल करने के बाद भी उसको अपनी कामयाबी मान कर गर्व न करेगा इसकी क्या गारंटी है।
यह भी याद रखने वाली बात है कि भाजपा का मुस्लिम मुक्त भारत बनाने का सपना अभियान का रूप ले चुका है और सी ए ए व एन सी आर उसी अभियान को सफल बनाने के हथियार हैं।

Arif Ul Islam
7 hrs ·
DEMONSTRATIONS R GOOD BUT THEY DONT REPLACE PERMANENT POLITICAL PARTY LIKE ML!!
As long as we and our generations live there is no escape from problems and issues which need organisation and permanent sincere cadre in every Democratic set up like India.
CROSS THE MENTAL BLOCKADE AND JOIN UR OWN POLITICAL PARTY. THERE CAN NEVER BE ANOTHER SOLUTION.

China virus death toll posts grim record rise, passes 400

AN INTERESTING VERDICT OF ANTI CAA, NRC,NPA MOVEMENT!!
It has declared above forty Muslim leader, Mullah and Professor non eligible to guide them in times of crisis.
Old and young Muslim women , young boys and girls, students and activists have shown their resolve and aptitude to lead the masses.
DOWN WITH ME AND MY GENERATION.

Afroz Alam Sahil

जो लोग एनआरसी पर गृह मंत्रालय के तथाकथित बयान पर ख़ुश हैं, उन्हें पता होना चाहिए कि देश भर में लोग एनआरसी के लिए सड़कों पर नहीं हैं, बल्कि वो संविधान विरोधी नागरिकता संशोधन अधिनियम के ख़िलाफ़ हैं. उनकी ये लड़ाई संविधान बचाने की है… ऐसे में ज़्यादा ख़ुश मत होईए, अपना सत्याग्रह जारी रखिए… और तब तक जारी रखिए जब तक कि #CAA वापस न ले ली जाए…

डिस्क्लेमर : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *