विशेष

#CAA #NRC : यूरोपीय यूनियन के बाद अब सार्क से ज़लील होने के लिए तैयार हो जाए

जान अब्दुल्लाह

#CAA #NRC

यूरोपीय यूनियन के बाद अब सार्क अर्थात घर के बच्चो से जलील होने के लिए तैयार हो जाए।

आसाम के एन आर पी में अन्य के अतिरिक्त एक लाख गोरखा मूल के भारतीय नागरिक भी लिस्ट में नहीं आए

निश्चय किया गया कि कोई भी गोरखा ट्रिब्युनल में नहीं जाएगा क्योंकि वर्ल्ड वार दो के समय अंग्रेज़ इन्हे नेपाल से लाए थे और नेपाल के एक हिस्से पर कब्ज़ा करके उसे भारत में मिला दिया था जहां इन्हे बसाया गया है।

इस अत्याचार की शिकायत गोरखा समूह द्वारा नेपाल सरकार से की गई और नेपाल सरकार ने न केवल भारत सरकार से गोरखा पर होने वाले अत्याचार पर विरोध प्रकट किया है अपितु जवाब तलब किया है।

साथ ही स्पष्ट किया है कि काठमांडू में होने वाले आगामी सार्क शिखर सम्मेलन में इस विषय पर भारत के विरूद्ध प्रस्ताव लाया जाएगा।।

सी ए ए सिर्फ हमारा ही थोड़े है !

Parmod Pahwa सर

 

Iqbal Ahmad Khan

असम में CAA के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन के दौरान BJP कार्यकर्ताओं ने ही किया था केंद्रीय मंत्री रामेश्वर तेली के घर पर हमला! 2 BJP कार्यकर्ताओं समेत 3 गिरफ्तार.


एनआरसी में बाहर हुए गोरखा
इंडियन एक्सप्रेस अख़बार ने ख़बर दी है कि असम में एक लाख गोरखा राष्ट्रीय नागरिकता पंजीकरण (एनआरसी) से बाहर हो गए हैं.

गोरखा समुदाय ने नेपाल सरकार के समक्ष इसे लेकर अपनी चिंताएं ज़ाहिर की हैं.

हालांकि, नेपाल और भारत के बीच इसे लेकर कोई औपचारिक या आधिकारिक बातचीत नहीं हुई है.

अख़बार नेपाल सरकार में सूत्र के हवाले से लिखता है कि भारत के वरिष्ठ मंत्रियों अमित शाह और राजनाथ सिंह के बयानों से नेपाल आश्वस्त है कि नेपाली मूल के लोगों को कोई समस्या नहीं होगी.

सूत्र ने इस बात पर ज़ोर दिया कि ये ”भारत और उसके लोगों का मसला है”. सूत्र ने कहा कि संबंधित नेपाली भाषी लोग भारत के लिए “स्थानीय” हैं, क्योंकि वो उस क्षेत्र के मूल निवासी हैं, जो बहुत पहले नेपाल का हिस्सा नहीं रहा.

सूत्र ने कहा कि नेपाली भाषी असम में बस गए हैं. अगर कोई समस्या है, तो हम बात कर सकते हैं और हल कर सकते हैं.

Sandhya Dwivedi

पीढ़ियों का कनेक्ट खत्म करता बजट

मेरा घर कानपुर में है….नहीं-नहीं घाटपुर के पास एक गांव है बैरीपुर वहां पर…दादा ने बैरीपुर में घर बनाया. पिता ने कानपुर में. कुछ खेती भी गांव में है. कोई खेती कराने वाला नहीं तो जैसे-तैसे कुछेक हजार रु. लेकर मां-पापा खेत किराए में दे देते हैं. बैरीपुर का घर भी कुछ नहीं देता. गांव के घर में पुराने भरोसेमंद नौकर-चाकर रहते हैं, मुफ्त में. कानपुर में तो अभी पूरा परिवार-मां-पापा, भाई-भाभी, उनके बच्चे. हम भाई-बहन घर से बाहर निकले तो अलग-अलग जगह अपना आशियाना बनाया. उम्मीद कम ही है कि घर रहने के लिहाज से लौटेंगे. लेकिन आत्मविश्वास है कि लौटने के लिए एक घर तो है. मेरे दादा-दादी ने पापा को विरासत में खेती और एक बहुत बड़ा घर दिया. मेरे पापा ने हमें एक घर दिया. बचाए हुए कुछ पैसे भी उनके पास हैं. पता नहीं कितने? पर हां, हमें यह फिक्र नहीं कि उनका खर्चा कैसे चलता है. यकीन है, उनकी बचत इतनी रही होगी कि वे आराम से बसर करें. इतना ही हनीं कुछेक लाख का कर्जा जरूरत पड़े तो यकीन है, बिना ब्याज वहां से मिल जाएगा. दरअसल गांव और कानपुर का घर-जमीन और बचत आर्थिक उपलब्धि से ज्यादा भरोसे की पूंजी है….यह एक ‘कर्तव्य और एक फर्ज’ का भी नाम है. पिता ने एक घर दिया. भले ही हम वहां रहे न रहें, लेकिन उन्होंने हमें चाहरदीवारी के मकान से ज्यादा ‘अपना घर’ होने का विश्वास दिया. लेकिन #बजट2020 #BUDGET2020 हमसे कह रहा है अब घर बनाने की जरूरत नहीं. यानी जो विश्वास हमारे दादा और पिता ने दिया उसे अगली पीढ़ी को देने की जरूरत नहीं. बचत ही नहीं पीढ़ियों का कनेक्ट खत्म करने की सलाह भी इस बजट में साफ झलकती है. मतलब अब ना दादा खरीदे और ना पोता बरते…

Ajmal Tirmizi

Salman khan in minto hall Bhopal

Ghulam Kundanam

योग्य बेटा – सहायक भाई
——————————-

बड़े बुजुर्गो का यह बेटा
तीर्थ यात्राएं भी करवाया,
सारे राज्यों से अधिक
वृद्धा पेंशन इसने दिलवाया।

देश की बहनों का भाई
नारी सुरक्षा के कदम बढ़ाया,
रोजगार-व्यवसाय-स्वालंबन हेतु
यातायात निःशुल्क कराया।

बच्चों के प्यारे अंकल ने
सरकारी स्कूल बेहतर बनाया,
सुविधा संपन्न उत्कृष्ट शिक्षा दे
बच्चों का सुन्दर भविष्य बनाया।

व्याधि – दुर्घटना पीड़ितों के लिए
जनता को ही फ़रिश्ते बनाया,
जांच ईलाज निशुल्क दिला कर
हजारों लोगों की जान बचाया।

यह योग्य बेटा, सहायक भाई
दिल्ली की जनता को भाया,
नफरती भाषा बोलने वालों ने
ऐसे को आतंकी बतलाया।

सर्वथा योग्य अरविंद भाई को दिल्ली की जनता का प्यार फिर से बेशुमार मिल रहा है। व्यवस्था परिवर्तन और सुधार का मिशन निरंतर आगे बढ़ता जाएगा। देश का दिल दिल्ली आगे बढ़ेगा तो देश भी आगे बढ़ेगा।

काम पर वोट! व्यवस्था परिवर्तन के लिए वोट!

????जय हिन्द! ????????

-ग़ुलाम कुन्दनम्,
जिलाध्यक्ष,
आम आदमी पार्टी,
रोहतास बिहार।
9931018391,
9334194591.
03/02/2020.

वर्तमान सेवा : तिमारपुर विधानसभा, दिल्ली।
सुयोग्य प्रत्याशी: दिलीप कुमार पाण्डेय।

डिस्क्लेमर : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *