उत्तर प्रदेश राज्य

कोरोना से मरने वालों को दफ़न करने के बजाए जलाने की मांग करने वाले वसीम रिज़वी को हुआ कोरोना!

हाल ही में कोरोना वायरस को लेकर उत्तर प्रदेश शिया वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी ने एक विवादित बयान दिया था कि अगर उनकी मौत कोरोना वायरस से होती है, तो उन्हें दफ़न करने के बजाए, जला दिया जाए।

इस बीच सूत्रों का कहना है कि मंगलवार को रिज़वी को सांस लेने में तकलीफ़ की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

लखनऊ में अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि वसीम रिज़वी में कोरोना वायरस के लक्षण देखे जा रहे हैं, इसीलिए जांच के लिए सैम्पल भी ले लिया गया है।

भारतीय मीडिया में आने वाली ख़बरों के अनुसार, उत्तर प्रदेश वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष अभी हाल ही में दुबई की यात्रा से लौटे हैं।

वसीम रिज़वी अपने विवादित बयानों के लिए जाने जाते हैं और जब से केन्द्र में प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार बनी है वे लगातार अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के समर्थन और मुस्लिम विरोधी बयान दे रहे हैं।

जानकार लोगों का कहना है कि वक़्फ़ बोर्ड में बड़े पैमाने पर धांधली की जांच से बचने के लिए वे योगी और मोदी सरकार को ख़ुश करने के लिए इस तरह के विवादित बयान देते रहे हैं।

Qazi Faraz Ahmad
@qazifarazahmad
Shia Waqf Board Chairman Waseem Rizvi admitted in hospital after symptoms of Corona Virus. Blood sample taken two days back. Reports awaited. Has a recent travel history from Dubai. #BREAKINGNEWS #coronavirusindia

आम आदमीSunflower
@Ketul1Indian
#शिया वक़्फ़ बोर्ड चेयरमैन #वसीमरिज़वी की तबियत बिगड़ी

वसीम रिज़वी अस्पताल में भर्ती
सांस लेने में तकलीफ के बाद अस्पताल में कराया गया भर्ती

वसीम रिज़वी का कोरोना का सैम्पल लिया गया
वसीम रिज़वी की कोरोना रिपोर्ट का इन्तिज़ार

कुछ दिन पहले ही दुबई से लौटे थे वसीम

#WaseemRizvi

 

कोरोना वायरस से मरने वाले ग़ैर हिंदू भारतीय नागरिकों को भी जलाए जाने की बात कहकर उन्होंने करोड़ों भारतीय मुसलमानों और ईसाईयों के दिलों को ठेस पहुंचाई थी, जो अपने मुर्दों को जलाने के बजाए दफ़नाते हैं।

अब वसीम रिज़वी की कोरोना जांच की रिपोर्ट के नतीजे का इंतेज़ार है।

न्यूज़ सोर्स : पारस टुडे हिंदी
तीसरी जंग हिंदी का समाचार से कोई सरोकार नहीं है, न ही तीसरी जंग समाचार की पुष्टि करता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *