उत्तर प्रदेश राज्य

गैंग रेप पीड़िता किशोरी ने फांसी लगाकर मौत को गले लगाया

Sagar PaRvez
=============
@शर्मनाक पंचायत में इंसाफ की टूटी आस… गैंग रेप पीड़िता किशोरी ने फांसी लगाकर मौत को गले लगाया

सितारगंज: क्षेत्र में दुष्कर्म की शिकार हुयी एक किशोरी ने फांसी लगाकर जान दे दी। मामले में तीन दिन पहले हुये दुष्कर्म की जानकारी पुलिस को किशोरी की खुदकुशी के बाद मिली। बताया जा रहा है कि परिजनों और ग्रामीणों के मामला रफा-दफा करने की कोशिशों के चलते पीड़िता ने जान दी। परिजनों से पूछताछ के आधार पर पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

सरकड़ा चौकी प्रभारी हरविंदर कुमार ने बताया कि पीलीभीत रोड के एक गांव निवासी किशोरी 20 मार्च की रात घर के नजदीक खेत में गयी थी। इस दौरान गांव के ही पवन राणा और शिव कुमार ने किशोरी को पकड़ लिया और दुष्कर्म किया। किसी तरह घर पहुंची किशोरी ने घर पहुंचकर परिजनों को जानकारी दी। इसके बाद परिजनों ने आरोपियों के परिजनों से बात की। चौकी प्रभारी ने बताया कि पूछताछ में साफ हुआ कि ग्रामीण मामला दबाने की कोशिश कर रहे थे।

इसकी जानकारी मिलने पर देर रात किशोरी ने घर पर फांसी लगाकर जान दे दी। कोतवाल सलाउद्दीन ने बताया कि मामले में परिजनों से पूछताछ के बाद दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। बताया कि शव पोस्टमार्टम के लिये भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद आगे कार्रवाई की जायेगी।

पंचायत में टूटी इंसाफ की आस तो जान दे दी
क्षेत्र में सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हुयी किशोरी की खुदकुशी के मामले में ग्रामीणों और पंचायत की बड़ी लापरवाही सामने आयी है। बताया जा रहा है कि किशोरी आरोपियों को सजा दिलाना चाहती थी, लेकिन पीड़िता के परिवार ने पुलिस को जानकारी देने के बजाय पंचायत पर भरोसा जताया। वहीं, पंचायत ने भी दोनों आरोपियों पर जुर्माना लगाने की सजा देकर मामला रफा-दफा करने की कोशिश की। दो दिन तक इंसाफ की मांग करती रही किशोरी को इसकी जानकारी मिली तो उसका विश्वास टूट गया और उसने फांसी लगाकर जान दे दी।

पुलिस के अनुसार परिजनों ने पूछताछ में बताया कि किशोरी चाहती थी कि परिवार पुलिस को मामले की जानकारी दे।
वह दोनों आरोपियों को कानूनी कार्रवाई के बाद सजा दिलवाना चाहती थी। लेकिन, गांव के कुछ लोगों को जब जानकारी मिली तो वे पीड़िता के परिजनों के पास आ गये। बताया जा रहा है कि इन लोगों ने पीड़तिा के पिता को आरोपियों के परिवार से बात करने के लिये दबाव बनाया।

पुलिस के अनुसार इसके बाद दो दिनों तक गांव में कई बार पंचायतों का दौर चला। रविवार शाम आखिरी पंचायत में दोनों आरोपियों पर जुर्माना लगाकर मामले को रफा-दफा कर दिया गया। इसके बाद किशोरी ने जान दे दी। पुलिस ने मामले की जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *