Uncategorized

लेकिन कृपा के दरवाज़े पहले की तरह खुले हैं

कर्बला, नजफ़ और मशहद स्थित धार्मिक स्थलों के द्वार बंद हुए हैं, लेकिन कृपा के दरवाज़े पहले की तरह खुले हैं
विश्व भर के अन्य देशों की तरह मुस्लिम देश ईरान और इराक़ भी कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहे हैं और इस प्रकोप पर क़ाबू पाने के लिए इन दोनों देशों में स्थित पवित्र धार्मिक स्थलों को आम जनता के लिए बंद कर दिया गया है।

लेकिन ज़ियारत के लिए पवित्र धार्मिक स्थलों के दरवाज़े बंद होने का मतलब यह नहीं है कि इन धार्मिक स्थलों से जनता और ज़रूरतमंदों तक पहुंचने वाली कृपा का द्वार भी बंद हो गया है।

इमाम हुसैन  के शुभ जन्म दिवस पर इराक़ के पवित्र शहर कर्बला में स्थित उनके मज़ार की ओर से पूरे शहर में ग़रीबों और ज़रूरतमंदों को खाना और अन्य ज़रूरत की चीज़ें बांटी जा रही हैं।

इराक़ के सर्वोच्च धार्मिक नेता आयतुल्लाह सीस्तानी के दिशा निर्देशों के अनुसार, कर्बला स्थित इमाम हुसैन  के रौज़े के विशाल भोजनालय को सक्रिय कर दिया गया है और ज़रूरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है।

इसी प्रकार, पवित्र शहर नजफ़ में स्थित हज़रत अली (के रौज़े और बग़दाद तथा सामर्रा में स्थित पवित्र मज़ारों से जुड़ी संस्थाएं भी सक्रिय हैं और चिकित्सा व उपचार समेत लोगों की अन्य ज़रूरतों की आपूर्ति में महत्वपूर्ण योगदान दे रही हैं।

ईरान के पवित्र शहर मशद में स्थित हज़रत इमाम अली रज़ा का मज़ार पिछले एक महीने से भी अधिक समय से देश के कई प्रांतों में कोरोना के ख़िलाफ़ फ़्रंटलाइन पर अपनी सेवाएं देने वाले डॉक्टरों और नर्सों को दोनों वक़्त का भोजन उपलब्ध करा रहा है।

शुक्रवार की रात, इमाम हुसैन, हज़रत अब्बास और इमामे ज़ैनुल आबेदीन के शुभ जन्म दिवस के अवसर पर इमाम हुसैन के मज़ार के मुख्य द्वार पर हरे रंग के तीन अलम लगाए गए हैं और शहर को सजाया गया है।

महामारी पर निंयत्रण के लिए देश और शहर में लगाई गई पाबंदियों के कारण, इमाम हुसैन के मज़ार में ज़ायरीन की सीमित संख्या को ही प्रवेश की अनुमति दी गई, जहां उन्होंने ज़ियारत की और इस महामारी से पूरी दुनिया की मुक्ति के लिए दुआ की।

इराक़ के स्वयं सेवी बलों ने पूरे कर्बला शहर को सेनिटाइज़ किया है, ख़ास तौर पर पवित्र धार्मिक स्थलों के आसपास के इलाक़ों में साफ़ सफ़ाई का ख़ास ख़याल रखा जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *