देश

शाहीन बाग़ में जनता कर्फ्यू के बीच प्रदर्शन जारी : चेहरा ढक कर आए दो बाइक सवारों ने प्रदर्शनकारियों पर पेट्रोल बम फेंका!

Sagar PaRvez
==========
@शाहीन_बाग धरना स्थल के पास फेंका गया पेट्रोल बम

दिल्ली के शाहीन बाग में तथाकथित जनता कर्फ्यू के बीच भी प्रदर्शन चल रहा है। रविवार को प्रदर्शनकारियों के धरना स्थल के पास पेट्रोल बम फेंका गया है।

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने बताया कि रविवार सुबह 8 बजे दो बाइक सवार चेहरा ढक आए और चाय की दुकान पर दो पेट्रोल बम मारकर फरार हो गए। घटना के वक़्त शाहीन बाग में करीब 20 प्रदर्शनकारी बैठे हुए थे। बम फेंकने की घटना कालिंदी कुंज के रास्ते पर हुई है।

Saba Naqvi
@_sabanaqvi
The #ShaheenBagh protests began with commitment to constitution. There are times when individual rights to protest have to be abandoned in view of larger public good. Please listen to appeals to move even the few protesters at site. You are now harming and not helping the cause.

Aysha Renna
@AyshaRenna
#ShaheenBagh protest site is attacked using petrol bomb and a firing reported from #Jamia.
On a day when when the PM has asked to observe #JantaCurfew to combat the #CoronavirusPandemic ,
Guess who can do this?

Shaheen Bagh Official
@Shaheenbaghoff1
A few hours ago, a petrol bomb was thrown to violently disrupt our protest. Unidentified miscreants allegedly threw the bomb at the outer barricades that cordon off the site of the #ShaheenBagh gathering and ran off.

 

डीसीपी आरपी मीणा का कहना है कि धरना स्थल से करीब 200 मीटर दूरी पर कुछ घटना घटी है। इसकी जांच की जा रही है। पुलिस सीसीटीवी की मदद से आरोपियों को तलाश रही है।

प्रदर्शनकारियों को हटाने पर सुनवाई कल
शाहीन बाग से सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों को हटाने की मांग को लेकर दायर याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट सोमवार को सुनवाई करेगा। कोरोना वायरस का प्रसार रोकने की मांग करते हुए दायर याचिकाओं के अलावा शीर्ष कोर्ट में अन्य याचिकाएं लंबित हैं। जस्टिस संजय किशन कौल, जस्टिस केएम जोसेफ और जस्टिस संजीव खन्ना की पीठ 23 मार्च को प्रदर्शनकारियों को हटाने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई करेगी।

शीर्ष कोर्ट में नई याचिका वकील आशुतोष दुबे और भाजपा नेता एवं वकील नंद किशोर गर्ग ने दायर की है।
इसमें कोरोना से उत्पन्न स्वास्थ्य आपदा का हवाला हुए शाहीन बाग से तुरंत ही भीड़ हटाने या प्रदर्शनकारियों को हटाने का निर्देश देने की मांग की गई है। वकील अमित साहनी की ओर से और भाजपा नेता नंद किशोर गर्ग की दूसरी याचिका पर भी शीर्ष कोर्ट सुनवाई करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *