दुनिया

अमेरिका ने फ़ैलाया ईरान के सामने मदद का हाथ, अब आया ऊंट पहाड के नीचे : रिपोर्ट

 

अमेरिकी विदेशमंत्री ने इससे पहले ईरान पर आरोप लगाया था कि वह कोरोना से मुकाबले के बहाने दवाओं पर लगे अमेरिकी प्रतिबंध को हटवाने के प्रयास में है।

अमेरिकी विदेशमंत्री ने कहा है कि कोरोना वायरस से मुक़ाबले के लिए इस देश के शोधकर्ताओं को ईरान, चीन और इटली की सूक्ष्म जानकारी की ज़रूरत है।

अमेरिकी विदेशमंत्री माइक पोम्पियो ने फाक्स न्यूज़ से साक्षात्कार में कहा जब एंथनी फोची (Anthony fauci) और डेबरा ब्रिक्स (Deborah Birx) के चिकित्सक कोरोना वायरस के ख़तरे के बारे में बात कर रहे हैं और उससे होने वाली जानी क्षति के बारे में चेतावनी दे रहे हैं तो इस वायरस से मुकाबले के बारे में सोचना चाहिये और इस संबंध में जिस चीज़ की आवश्यकता है वह एक मात्र जानकारी है।

विदेशमंत्री माइक पोम्पियो और दूसरे अमेरिकी अधिकारियों ने इससे पहले चीन की कम्युनिस्ट पार्टी पर आरोप लगाया था कि उसने कोरोना वायरस के प्रसार के बारे में ग़लत जानकारियां फैलाई हैं।

चीनी अधिकारियों और इस देश के संचार माध्यमों ने कोरोना को चीनी या वुहान का वायरस कहने के कारण अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की आलोचना की थी और वे क्रोधित थे।

अमेरिकी विदेशमंत्री ने इससे पहले ईरान पर आरोप लगाया था कि वह कोरोना से मुकाबले के बहाने दवाओं पर लगे अमेरिकी प्रतिबंध को हटवाने के प्रयास में है।

रोचक बिन्दु यह है कि माइक पोम्पियो ने एसी स्थिति में कोरोना से मुकाबले में ईरान पर टीका- टिप्पणी की थी जब पिछले सप्ताहों से अमेरिका में फैले कोरोना वायरस से मुकाबले के संबंध में ट्रंप सरकार के कमज़ोर क्रिया -कलाप जगजाहिर हो चुके हैं और अमेरिकी संचार माध्यम बार- बार इस देश में चिकित्सा संवाभावनाओं की कमी की बात कर रहे हैं।

यहां तक कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक मास्क को कई बार प्रयोग करने की बात कही है।

ज्ञात रहे कि आधिकारिक सूत्रों के अनुसार अमेरिका में एक लाख 64 हज़ार से व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और तीन हज़ार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि स्वतंत्र सूत्रों का कहना है कि अमेरिकी अधिकारियों के अतीत को देखते हुए यह बात पूरे विश्वास से कही जा सकती है कि अमेरिका में संक्रमित और मरने वाले व्यक्तियों की संख्या इससे कहीं अधिक है जो अमेरिका के आधिकारिक सूत्र बता रहे हैं।

अमेरिकी अधिकारी ट्रंप की यह कह कर आलोचना कर रहे हैं कि वह अपनी लापरवाही के कारण हज़ारों लोगों की मौत का कारण बन रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *