उत्तर प्रदेश राज्य

एएमयू छात्र नेता #कोरोना वारियर आमिर_मिन्टोई को पुलिस ने उठाया : हर रोज़ हज़ारों ग़रीबों को खिला रहे थे खाना!PICS

आज के समय में जब भागमभाग और मारामारी की जिंदिगी जीने को लोग अच्छा समझते हैं, आमिर मिंटो दिशा में चलते हैं, वो लोगों के दुःख, तकलीफ, परेशानियों में उनके साथ शामिल हो जाते हैं, आमिर मिंटो युवा हैं, एक जीनियस छात्र हैं, वो कोई अमीर इंसान नहीं हैं फिर भी हर समय आम आदमी के सरोकारों को अहमियत देते हुए उनकी मदद करने के लिए सबसे आगे रहते हैं, उनका हातिमताई वाला किरदार सरकारों को नहीं पचता है, मामला अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी हिंसा का हो, बनारस में छात्रों के साथ बर्बरता, नागरिकता कानून पर धरना प्रदर्शन हों या अब कोरोना महामारी, आमिर मिंटो हर मामले में आगे आगे रहे, इसी वजह से उनके ऊपर अनेक बार पुलिसिया कार्यवाहियां और मुकद्म्मे दर्ज हुए हैं, आमिर एक छात्र हैं, वो बहुत सरल स्वाभाव के व्यक्ति हैं, सूत्रों से मिली जानकारियों के मुताबिक आमिर मिंटो को कुछ अज्ञात लोग चार पहिया वाहन में उठा कर ले गए, जानकारी के मुताबिक आमिर को पुलिस ने हिरासत में लिया है, सोशल मीडिया में आमिर की पुलिस हिरासत में लेने की घटना की खबर वायरल है

Hind Rashtra
============
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र आमिर मिंटोइ जो स्टेप फाउंडेशन भी चलाते हैं और मॉब लिंचिंग में मारे गए बच्चों को पढ़ाने की जिम्मेदारी भी ले रखी है और साथी कोविड-19 की महामारी में मरीज और गरीबों को खाना खिलाने की जिम्मेदारी भी ले रखी है और इसी सिलसिले में मेडिकल के ट्रॉमा सेंटर पहुंचे लोगों को खाना बंटवाते वक्त सूत्रों के हवाले से खबर है की छह-सात लोग जबरदस्ती उठाकर ले गए जब इस बारे में एएमयू छात्र संघ पूर्व उपाध्यक्ष सैयद माजिन अली ने बताया कि यह लोग पुलिस के लोग थे, और प्रशासन से बात हुई है उन्होंने बताया कि जिला बदर के केस में उठाया है।

Raja Bhaiya
==================
एएमयू छात्र नेता #मोहम्मद_आमिर_मिन्टोई का उठाया जाना गैरकानूनी तत्काल किया जाए रिहा- #रिहाई_मंच

रिहाई मंच ने एएमयू छात्र नेता आमिर मिन्टोई के उठाए जाने की कड़ी भर्त्सना करते हुए तत्काल रिहाई की मांग की है।

रिहाई मंच ने इसे गैरकानूनी कहते हुए बताया कि एएमयू के छात्रों ने बताया है कि एएमयू के मेडिकल कॉलेज पर छात्र नेता अमीर मिन्टोई और उनकी कोआर्डिनेशन टीम रोज़ की तरह ज़रूरतमंद लोगों को खाना बांटने गई थी। खाना बांटने के बाद वे इमरजेंसी के सामने वाले मेडिकल स्टोर से मास्क खरीद रहे थे, तभी सफेद रंग की ब्रेज़ा कार में कुछ लोग आते हैं और अमीर मिन्टोई और अरशद को किडनेप करने की कोशिश करते हैं। अरशद खुद को छुड़ा कर भागने में कामयाब हो जाता है लेकिन अमीर मिन्टोई को वो लोग खींचकर कार में ज़बरदस्ती बैठा कर भाग जाते हैं। मेडिकल कॉलेज में अफरा तफरी के माहौल के बीच पता चलता है कि वो लोग एसओजी वाले थे। कोऑर्डिनेशन कमेटी ने एएमयू प्रशासन को इस घटना की जानकारी दे दी है।

यह घटना हमें बताती है कि इस लॉक डाउन में भी कैसे पुलिस मनमानी पर उतारू है और रोज़ सैकड़ों लोगों तक राहत सामग्री और भोजन पहुचाने वालों को परेशान कर रही है। रिहाई मंच इस घटना की निंदा करता है और मांग करता है कि सामाजिक कार्यकर्ता और छात्र नेता आमिर मिन्टोई को तत्काल रिहा किया जाए।

 

team amir mintooe 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *