इतिहास

#IqbalDay : इक़बाल और इटली का तानाशाह बेनिटो मुसोलिनी

Syed Faizan Siddiqui
============
#IqbalDay

 

इक़बाल और इटली का तानाशाह बेनिटो मुसोलिनी

जब इक़बाल दूसरी राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस के लिए सितम्बर 1931 में इंग्लैंड गए थे तब इतालवी सरकार ने इक़बाल को इटली आने का न्यौता दे दिया और फिर आप नवम्बर 1931 में रोम में फेमस हॉल में मुसोलिनी से मिले ।

जब अल्लामा मोहम्मद इकबाल मुसोलिनी से मिले तो बातों बातों में ही अल्लामा इकबाल ने हुजूर صَلَّى اللَّهُ عَلَيْهِ وَسَلَّمَ की उस पॉलिसी का जिक्र किया कि शहर की आबादी में अधिक बढ़ोतरी करने से बेहतर है
दूसरे शहर आबाद किए जाएं मुसोलिनी यह सुनकर मारे खुशी से उछल पड़ा कहने लगा शहरी आबादी की प्लानिंग का इससे बेहतर हाल और कोई हो ही नहीं सकता,

आज से 14 सौ साल पहले आप صَلَّى اللَّهُ عَلَيْهِ وَسَلَّمَ ने हुकुम दिया था कि मदीना की गलियों को चौड़ा रखो गलियों को घरों की वजह से तंग ना करो हर गली इतनी चौड़ी हो की दो लादे हुए ऊंट आसानी से गुजर सकें
14 सौ साल बाद आज दुनिया उसी हुक्म पर अमल कर रही है शहरों में तंग गलियों को चौड़ा किया जा रहा है

आप صَلَّى اللَّهُ عَلَيْهِ وَسَلَّمَ ने हुकुम दिया था कि मदीना के बिल्कुल बीच में मरकजी मार्केट कायम की जाए उसे सूक़ मदीना का नाम दिया गया था आज की तहजीब याफ्ता दुनिया कहती है कि जिस शहर के बीचों बीच मार्केट ना हो वह तरक्की नहीं कर सकता

आप صَلَّى اللَّهُ عَلَيْهِ وَسَلَّمَ ने कहा था यह तुम्हारी मार्केट है इसमें टैक्स ना लगाओ आज दुनिया इस नतीजे पर पहुंची है कि मार्केट को टैक्स फ्री होना चाहिए दुनिया भर में ड्यूटी फ्री मार्केट का रुझान बढ़ रहा है

मस्जिद नबवी को एक मरकाजी हैसियत हासिल थी मदीना भर की तमाम गलियां मस्जिद नबवी तक सीधे पहुंचती थी
ताकि किसी जरूरतमंद को पहुंचने में मुश्किल ना हो आज हर मुल्क के सर बराह का बंगला ऑफिस बनाने के वक्त इस बात का खास ख्याल रखा जाता है

आप صَلَّى اللَّهُ عَلَيْهِ وَسَلَّمَ ने अपने सहाबा हजरात को मना किया था दरख़्तों को ना काटो कोई इलाका फतेह हो तो भी दरख़्तों को आग ना लगाओ आज मौसम की तबदीली और प्रदूषण दुनिया का दूसरा बड़ा मसला है विश्व लेवल पर टेंपरेचर बढ़ रहा है ग्लेशियर पिघल रहे हैं गर्मी बढ़ रही है सब कुछ पेड़ों और जंगलों की कमी से हो रहा है

एक आदमी ने मदीना के बाजार भट्टी लगाली हजरत उमर रजिअल्लाहो अन्हो ने उस से कहा तुम बाजार को बंद करना चाहते हो शहर से बाहर चले जाओ आज दुनिया भर में इंडस्ट्रियल एरिया शहर से बाहर बनाया जा रहा है :

Naim AKhtar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *