विशेष

कोरोना की त्रासदी के बीच वह घटनाएं जो आपको मुसकुराने पर मजबूर कर देंगी!

कोरोना वायरस की महामारी ने वैसे तो सारी दुनिया में हाहाकर मचा दिया है और हर तरफ़ से संक्रमितों और मरनें वालों की संख्या बढ़ने की दुखद ख़बरें आ रही हैं मगर इस बीच कुछ एसी भी ख़बरें भी आ रही हैं जिन्हें पढ़कर या देखकर इंसान मुसकुराए बग़ैर नहीं रह सकता।

फ़्रांस के नोबेल आब्जरवेटर मैगज़ीन ने इसी प्रकार की कुछ ख़बरें छापी हैं।

चोरों ने घटनास्थल पर वह दस्तावेज़ छोड़ी जिसके ज़रिए वह बहुत आसानी से धर लिए गए

फ़्रांस के एक शहर में पुलिस ने उन चोरों को बड़ी आसानी से धर दबोचा जो एक फ़ार्म हाउस में चोरी करके फ़रार हो गए थे। चोरों का वह पेपर फ़ार्म हाउस में गिर गया जो लाक डाउन के दौरान ज़रूरी काम से बाहर जाने के लिए प्रशासन की ओर से जारी किया जाता है। पेपर में सारी जानकारियां दर्ज थीं जिससे पुलिस ने बहुत आसानी से सारे चोरों को पकड़ लिया।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि हमें तो यह लगा कि चोर नशे में थे इसलिए अपना पता भी हमारे लिए छोड़ गए।

बाप बेटे 34 दिन लगातार साथ रहे

मैगज़ीन ने एक ख़बर यह भी छापी कि स्पेन में ख़्वान एंटोनियो और उनके पिता रीजीनो मैड्रिड के क़रीब कोसलाडा शहर के अस्पताल से डिसचार्ज हुए तो दोनों ने विक्ट्री का निशान बनाया। दोनों इस बात पर ख़ुश थे कि अस्पताल में वह 34 दिन चौबीस घंटे एक दूसरे के साथ रहे।

अस्पताल की प्रवक्ता ने बताया कि जब 70 साल के रीजीनो अस्पताल में दाख़िल हुए तो डाक्टरों ने कहा कि इनकी हालत बहुत गंभीर है यह तीन चार घंटे से ज़्यादा जीवित नहीं रहेंगे इसलिए उनके बेटे को साथ रहने की अनुमति दे दी गई मगर देखने में आया कि रीजीनो की हालत धीरे धीरे बेहतर होने लगी।

बेटे ने बाप को अकेला छोड़ने से इंकार किया तो उसे अनुमति दे दी गई और दोनों 34 दिन तक साथ रहे। बेटे को भी कुछ दिनों तक अस्पताल में रोका गया और चेक किया गया कि कहीं वह ख़ुद भी तो संक्रमित नहीं हो गया है। अस्पताल का कहना है कि यह बड़ी ख़ूबसूरत घटना है लेकिन आम तौर पर कोरोना के बीमार के घरवालों को बीमार के साथ रहने की अनुमति नहीं दी जाती इस मामले में हालात कुछ एसे बन गए कि बेटे को बाप के साथ रहने की अनुमति दी गई।

मधुमक्खी ने ख़ूब शहद का उत्पादन किया

यह घटना फ़्रांस के आलज़ास इलाक़े की है। आलज़ास के रहने वाले एक किसान का कहना है कि वह बीस साल से शहद का करोबार कर रहे हैं मगर यह पहला अवसर है कि मधुमक्खियों ने इतनी अधिक मात्रा में शहद तैयार किया है।

मैगज़ीन का कहना है कि लाक डाउन की वजह से हर तरफ़ शांति है और किसानों की गतिविधियां भी कम हो गई हैं और प्रदूषण भी नहीं है तो मधुमक्खियां बहुत आराम से अपना आहार तलाश करती हैं और ज़्यादा शहद का उत्पादन करती हैं।

ट्रम्प की बात नहीं मानी तो लोकप्रितया बढ़ गई

अमरीका के ओहायो राज्य के गवर्नर माइक डेवाइन का कहना है कि उन्होंने ट्रम्प की बात मनने के बजाए चिकित्सा विशेषज्ञों की सलाह मानने का फ़ैसला किया तो उनकी लोकप्रियता बहुत तेज़ी से बढ़ गई। ट्रम्प लाकडाउन के लिए तैयार नहीं थे मगर गवर्नर ने हालात और विशेषज्ञों के परामर्श को देखते हुए तत्काल लाक डाउन कर दिया। ओहायो स्कूलों को बंद करने वाला पहला अमरीकी राज्य था। इसका नतीजा यह हुआ कि उनकी लोकप्रियता का ग्राफ़ 85 प्रतिशत तक पहुंच गया।

स्रोतः अलजज़ीरा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *