दुनिया

इस्लामाबाद में पहले मंदिर निर्माण के लिए इमरान ख़ान ने 10 करोड़ की ग्रांट को दी मंज़ूरी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने राजधानी इस्लामाबाद में पहले मंदिर के निर्माण के लिए 10 करोड़ रूपए की ग्रांट की मंज़ूरी दी है।

धार्मिक मामलों के मंत्री नूरुल हक़ क़ादेरी ने प्रधानमंत्री से मुलाक़ात में ग्रांट का अनुरोध किया था।

प्रधानमंत्री से मुलाक़ात में धार्मिक अल्पसंख्यकों से संबंध रखने वाले सांसदों का प्रतिनिधि मंडल भी शामिल था जिसमें लालचंद मलही, डाक्टर रमेश वांकवान, जय प्रकाश अकरानी, शनीला रुथ और जेम्ज़ थामस शामिल थे।

प्रतिनिधिमंडल ने धार्मिक अल्पसंख्यकों की समस्याओं पर बातचीत की और देश भर में सिविल सोसायटी और सैन्य बलों की आतंकी नेटवर्क को कुचलने की कोशिशों की सराहना की जो अल्पसंख्यको को निशाना बना रहा था।

डान अख़बार के अनुसार प्रतिनिधिमंडल ने इस्लमाबाद में पहले मंदिर के निर्माण के लिए सरकार से सहयोग का अनुरोध किया था जिसे प्रधानमंत्री ने मंज़ूरी दी।

लालचंद मलही ने कहा कि इस्लामाबाद में हिंदू आबादी 3 हज़ार के क़रीब पहुंच गई है जिनमें सरकारी कर्मचारी, प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारी, कारोबारी समुदाय के लोग और डाक्टरों की एक बड़ी संख्या है।

हिंदू पंचायत इस्लामाबाद श्रीकृष्णा मंदिर का प्रबंधन संभालेगी जबकि पंचायत के अध्यक्ष महेश चौधरी ने कहा कि देश के विभिन्न भागों से लोगों की बड़ी संख्या इस्लामाबाद में बस गई जहां वह ख़ुद को अधिक सुरक्षित महसूस करती है।

दूसरी ओर भारत में बाबरी मस्जिद को गिरा देने के बाद उसके स्थान पर राम मंदिर के निर्माण की तैयारी पूरी कर ली गई है। बाबरी मस्जिद की जगह राम मंदिर का निर्माण भारत चीन सीमा गतिरोध के कारण फ़िलहाल स्थगित कर दिया गया है लेकिन मंदिर के निर्माण की तैयारी में कोई कसर बाक़ी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *