देश

#कपिल_मिश्रा को क्या युगांडा की पुलिस गिरफ़्तार करेगी : दंगाई मज़े कर रहे हैं और मासूम जेलों में सड़ रहे हैं!

NRC, NRP और नागरिक कानून का विरोध करने वाले सामाजिक कर्यकर्ता व छात्रों के खिलाफ दिल्ली पुलिस की कार्यवाहियां जारी है, आईएम लोगों को सरकार ने दिल्ली में दंगा भड़काने के आरोपों में भी गिरफ्तार किया है लेकिन दिल्ली दंगों के मुख्य सूत्रधार बीजेपी नेता कपिल मिश्रा समेत अन्य किसी कोई भी न तो गिरफ्तार किया गया है और न ही हिंसा में उनका नाम लिया गया है

सोशल मीडिया पर लोगों ने दिल्ली पुलिस, भारत सरकार को निशाने पर लेते हुए अनेक लेख/पोस्ट लिखी हैं, ये अँधा कानून ही कहा जायेगा जहाँ दंगाई मज़े कर रहे हैं और मासूम जेलों में सड़ रहे हैं


– मेजर जनरल रैंक के सेना के अफसरों ने बुधवार को बातचीत की

– पैंगोंग झील के फिंगर 4 इलाके में चीनी सेना बड़ी तादाद में मौजूद

लद्दाख में LAC पर तनाव को लेकर भारत और चीन के मेजर जनरल रैंक के सेना के अफसरों ने बुधवार को बातचीत की. ये बातचीत सकारात्मक बताई जा रही है. लेकिन भारत सरकार के सूत्रों के मुताबिक, LAC पर चीनी सैनिकों की तैनाती जारी रहने तक बात नहीं बनने वाली.

सूत्रों ने आजतक से कहा कि भारी सैन्य साजो-सामान, टैंक और लड़ाकू विमानों के बेड़े के साथ 10 हजार चीनी सैनिकों की तैनाती भारत की चिंता की वजह है. वैसे तो मंगलवार को गलवान नदी घाटी के 2 प्वाइंट और भारत के गोगरा पोस्ट के पास हॉट स्प्रिंग इलाके से चीन ने अपने लगभग 20 प्रतिशत सैनिकों को करीब 3 किलोमीटर तक पीछे हटाया है. लेकिन भारत-चीन की मौजूदा तनातनी वाले चौथे प्वाइंट, पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे से चीन बिल्कुल पीछे नहीं हटा है. इसी जगह पर 5 मई को भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प हुई थी.

सूत्रों के मुताबिक, पैंगोंग झील के फिंगर 4 इलाके में चीनी सेना बड़ी तादाद में मौजूद है और उनके सामने उतनी ही तादाद में भारतीय सैनिक मोर्चा संभाले हुए हैं. LAC पर से चीनी सैनिक जब तक पूरी तरह नहीं हटते, भारत भी अपनी फौज पीछे नहीं करेगा.


6 जून को भी हुई थी बात

बीते 6 जून को लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने चीन के मेजर जनरल लियु लिन से मोल्डो में बात की थी. जो LAC में चीनी हिस्से में है. इसके बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेनाओं के प्रमुख और चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के साथ एक लंबी बैठक की थी, जिसमें मौजूदा स्थिति के बारे में मंथन हुआ.

बैठक में रक्षा मंत्री को बताया गया कि चीन की ओर से बॉर्डर पर बड़ी संख्या में सैन्य मौजूदगी की गई है, इसके अलावा दोनों देशों की सेनाओं के बीच जो बात हुई उस पर मंथन किया गया. सूत्रों की मानें, तो रक्षा मंत्री को इस बात की जानकारी दी गई कि सेना की ओर से अभी भी बातचीत का सिलसिला जारी रहेगा, ताकि एक महीने से जारी इस विवाद को सुलझाया जा सके

Office Of Kamal Nath
@OfficeOfKNath
मै तो शुरू दिन से ही कह रहा था कि भाजपा ने मेरी बहुमत व जनादेश प्राप्त सरकार को जानबूझकर साज़िश-षड्यंत्र व प्रलोभन का खेल रच गिराया है क्योंकि मेरी सरकार किसानो का क़र्ज़ माफ़ कर रही थी, युवाओं को रोज़गार दे रही थी , महिलाओं को सुरक्षा देकर उनके सम्मान की रक्षा कर रही थी ,

Wg Cdr Anuma Acharya (Retd)
@AnumaVidisha

जब देश को पड़ोसी धौंस दे,स्थिति बिगड़ती जाये,तो रक्षामंत्री देश को एक से ज़्यादा बार आश्वस्त करें,इससे अफ़वाहें नहीं फैलेंगी और अपारदर्शिता के आरोप नहीं लगेंगे.सब की चुप्पी से जनता कैसे समझे कि ये चुप्पी रणनीतिक है या अकर्मण्यता से जुड़ी है.सवाल तो उठेंगे सर #रक्षा_मंत्री_जवाब_दो

Monika Singh
@MonikaSingh__
#कपिल_मिश्रा को क्या युगांडा की पुलिस गिरफ्तार करेगी

#पूँछता_है_भारत


Brahma Chellaney
@Chellaney
China’s statement doesn’t support Indian claims about “troops’ deinduction” and “disengagement.” The aggressor speaks of “properly handling the situation” and actions to “ameliorate” the situation. There’s absolutely no evidence that PLA is willing to roll back its encroachments.

Brahma Chellaney
@Chellaney
Never ignore China’s words. If the “Wuhan spirit” became an evil spirit, India is to blame. China didn’t endorse India’s two claims on Wuhan summit’s outcome: 1. Modi and Xi “issued strategic guidance” to prevent further border trouble. 2. Agreed to “balanced, sustainable” trade.

Brahma Chellaney
@Chellaney
My piece on why China’s aggression against India will prove costly for it: Like its success in the South China Sea without firing a shot, China is seeking to complete a bullet-less aggression against India. But its miscalculation will eventually haunt it.


The Mekong Eye
@MekongEye
“Meanwhile, Xi’s regime has stepped up efforts to turn internationally shared river-water resources into a political weapon by building cascades of large dams in China’s borderlands.”

Brahma Chellaney
@Chellaney
That the army is “back in control in Pakistan” is no news. This is a praetorian state where real power is wielded by the generals, who rarely trust their civilian proxies, such as the present PM. The PM who sought to to assert civilian control was removed.


Brahma Chellaney
@Chellaney
In no democracy that I’ve been to is the police force so militarized and powerful as in U.S., where police excesses have long been institutionalized. Police practices have reinforced systemic racism. The grassroots protests for overhauling policing reflect a groundswell of anger.

Brahma Chellaney
@Chellaney
How can the EU become a major force in international relations if its foreign-relations chief believes China doesn’t have military ambitions and doesn’t “want to use force”? Communist China was born in blood in 1949 and has been employing force ever since.

Brahma Chellaney
@Chellaney
Nepal is symbiotically tied to India. Worsening ties with Nepal reflect poorly on Indian foreign policy. Nepal’s pro-China communist rulers may be provoking India, but it is India under Singh that paved the Nepalese communists’ path to power. My old piece:

advocate
@impr3m
Kapil Mishra was secular. That’s why he is out of jail?


Ravi Nair
@t_d_h_nair
Of the 53 people killed during the Delhi riots, 38 were Muslim. 14 mosques and a dargah were attacked. RW goons erected saffron flags on top of mosques.
But Amit Shah’s Delhi Police says Harsh Mander Incited violence and they are silent on Kapil Mishra!


Norbert Elekess
@Indian_Thug_
INDIA: Delhi police to nominate BJP leader Kapil Mishra for Nobel Peace Prize for his role in #DelhiRiots.

Indian Muslims
@_IndianMuslims
Delhi violence: In one charge sheet, police claim Muslim protestors provoked riots

However, the Delhi Police charge sheet presents Kapil Mishra and his supporters as victims of Muslim mobs, who, it is claimed, came “pre-determined for violence”.

Pritpal Singh Pannu
@PritpalPannu07
Delhi police chargesheet skips the hate speeches by bjp leaders,let’s not forget the riots instigator Kapil Mishra who earned worldwide shame, even FB ceo has referred his speech as incitement of violence now he is marked safe by police #रक्षा_मंत्री_जवाब_दो
@PriaINC

@me_pratii

 

डिस्क्लेमर : इस आलेख/post/twites में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया फेसबुक पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Disclaimer : views express in blog and twitts are people own openions, TEESRI JUNG ENGLIS not having any responsibility

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *