विशेष

कानपुर मेडिकल कॉलेज की डॉ आरती लालचंदानी के ज़हरीले बोल सुने, कहती है मुसलमान कोरोना फैला रहे हैं, ये लोग आतंकवादी हैं : देखें वीडियो

 

Wasim Akram Tyagi
=============
कानपुर मेडिकल काॅलेज की प्राचार्य डाॅक्टर आरती लालचंदानी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। उस वीडियो में मोहतरमा फरमा रहीं हैं कि कोरोना संक्रमित ये लोग (मुसलमान) आतंकवादी हैं, ये कोरोना फैलाने के मक़सद से ही आए हैं। हम इनकी सेवा में लगे हैं, डाॅक्टर्स लगे हैं, सरकार का पैसा खर्च हो रहा है, इन्हें तो …..। वीडियो देखकर लगता है कि ‘गोरी चमड़ी’ वाली मोहतरमा ने मेडिकल में नहीं बल्कि जहालत में पीएचडी की है। जिस देश में डाॅक्टर की मानसिकता इतनी ज़हरीली हो वहां नफरतें कैसे खत्म होंगी? अब तक अफसरों की ऐसी हरकतें सामने आतीं थीं लेकिन कोरोना काल में कुछ डाॅक्टर्स की मानसिकता भी खुलकर सामने आई है। मेरठ के अस्पताल ने तो बाकायदा एक बड़े अख़बार में विज्ञापन देकर कहा था कि ‘हम मुसलमानों का इलाज नहीं करेंगे’। ‘भक्त’ तो जाहिल हैं, कम पढे लिखे हैं, ह्वाटसप ‘विषविद्यालय’ में पढते हैं, लेकिन अफसर और डाॅक्टर्स तो उच्च शिक्षा गृहण करने बाद बनता है, इसके बावजूद भी ऐसी जहालत है तो फिर सही पदों पर गलत लोगों की नियुक्ती चुकी है। ऐसे लोग दरअस्ल बजरंगदल के लठैत हैं, लेकिन गलती से अफसर, डाॅक्टर बन गए हैं। ऐसे जाहिलों को कुछ रोज़ उन मुसलमानों के साथ छोड़ देना चाहिए जिन्होंने लाॅकडाउन में चिलचिलाती धूप में इंसानियत का फर्ज़ निभाया है। शायद इससे इनके अंदर का शैतान मर जाए।

Ashok Swain
@ashoswai
In any civilized country, she would have been already behind bars!

Rifat Jawaid
@RifatJawaid
In this viral video, head of Kanpur Medical College is seen making highly objectionable comments about Muslim #covid19 patients. Accuses CM @myogiadityanath of indulging in Muslim appeasement politics. She was the one who had accused Tablighi Jamaar members of spitting last month

 

 

अफवाह और नफरत का असर

 

कोरोना वायरस (corona virus) को लेकर तब्लीगी जमात का मामला जब से सामने आया है उसके बाद से सोशल मीडिया (social media )पर फैलाई जा रही अफवाह और नफरत का असर देश के विभिन्न हिस्सों में देखने को मिल था और मिल रहा है.

कहीं मुसलमान होने की वजह से सब्जी वाले को गली में घुसने नहीं दिया जा रहा था, कहीं उनसे आधार कार्ड मांगा जा रहे थे , कहीं जबरदस्ती लोगों ने मुस्लिमों की दुकानें बंद करा दीं तो कहीं हिंदू फेरी वालों के ठेले पर भगवा झंडा लगा दिया गया था, ताकि उसकी पहचान की जा सके.

कोरोना महामारी (corona virus)संकट के बीच मुसलमानों के खिलाफ सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही नफरत की वजह से ऐसी ही अनेकों खबरें आ रही थी और इससे जुड़े वीडियो भी वायरल हो रहे थे

एक ऐसी ही वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और यह वीडियो किसी और का नहीं बलिकी एक डॉक्टर का है उस डॉक्टर का जिसने डॉ. नवनीत कुमार का तबादला राजकीय मेडिकल कॉलेज कन्नौज के प्राचार्य (principal) पद पर करने के बाद खुद को रातों रात कानपूर जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज (gsvm medical college)प्राचार्य पद पर बहाल होने वाली डॉक्टर आरती लालचंदानी (doctor aarti lalchandani)का है

Abdul Hafiz Gandhi (अब्दुल हफीज़ गाँधी )

@hafizgandhi
यह UP के एक मेडिकल कॉलेज/हॉस्पिटल की प्रोफेसर बताईं जा रही हैं। लगता है प्रोफेसर साहिबा को मुसलमानों से काफी नफरत है। इस वीडियो की सत्यता की जांच करा कर @myogiadityanath जी इनपर उचित कानूनी और प्रशासनिक कार्यवाही कीजिये ताकि देश, प्रदेश और समाज में नफरत ना फैले। @CMOfficeUP

इस वीडियो में देखा जा सकता है डॉक्टर आरती लालचंदानी (doctor aarti lalchandani)कैसे मुसलमानों के खिलाफ नफरत भरा कमेंट कर रही हैं वीडियो में देखा और सुना जा सकता है की वह कह रही हैं कि जमाती आतंकवादी (terrorist) है और उसे हम लाखों का ट्रीटमेंट (treatment) दे रहें हैं लेकिन इनकी वजह से सब लोग कोरोना वायरस के शिकार हो रहे हैं अगर ये लोग न हो तो हमें कोई किट कि ज़रूरत नहीं ,

इस वीडियो में एक शख्स कहता दिख रहा है कि मेम फिर आप जमातियों का क्या करेंगी उसपर डॉक्टर आरती लालचंदानी कहती हैं कि इसी लिक मत करना आप लोग रिकॉर्ड तो नहीं कर रहे फिर ऐसी बात बोल गई जो एक आम आदमी भी नहीं बोल सकता आप खुद सुने और फैसला करें।

मीडिया आलोचक
@001Habeb
कानपुर मेडिकल कॉलेज की डॉ० आरती लाल चंदानी जी के जहरीले बोल ज़रूर सुने
किस तरह एक समुदाय के लिए दिल में नफरत भरे है। इनकी नजर में जमाती आंतकवादी है इनको अस्पताल में इलाज करना मूर्खता है

अनुराग वर्मा (पटेल)
@AnuragVerma_SP
महोदय
@DMKanpur
ये कानपुर मेडिकल कॉलेज की प्राचार्य डॉक्टर आरती लालचंदानी हैं ऐसी दोहरी मानसिकता के डॉक्टर की हमारे हिंदुस्तान में कोई जरूरत नहीं है मामले को संज्ञान में लेकर महोदय कार्रवाई करें।

ⓋⒾⓃⓄⒹ
@VPforINDIA
आरएसएस और भाजपा ने देश में लोगों के दिलो में नफ़रत का ऐसा ज़हर भर दिया है शायद जो अब कभी खतम ना हो पाए , यह कानपुर मेडिकल कॉलेज की हेड आरती लालचंदानी है इसके हिसाब से देश में कोरोना बीमारी यहाँ के 30करोड़ मुसलमानो ने फेलायी है |

श्याम प्रजापति पत्रकार
@shyam242424
डॉक्टर आरती लाल चंदानी (प्राचार्य जी एस वी एम मेडिकल कॉलेज कानपुर) जमाती क़ोरोना पॉज़िटिव के बारे में अपनी मानसिकता खुद बयान कर रही हैं
इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *