देश

जॉर्ज फ़्लायड ऑफ़ इंडिया के लिए लोग सड़कों पर उतरे : तमिलनाडु में पुलिस के ख़िलाफ़ ग़ुस्सा फूटा!

भारत के राज्य तमिलनाडु में पुलिस हिरासत में पिता-पुत्र की मौत से लोगों में ग़ुस्सा भड़क गया है और लोग सड़कों पर उतर आए हैं।

तमिलनाडु के तूतीकोरिन ज़िले में सथनकुलम गांव के पिता-पुत्र की कथित तौर पर पुलिस हिरासत में मौत के मामले को लेकर कई बड़ी हस्तियों समेत हज़ारों लोग सोशल मीडिया पर भी न्याय की मांग कर रहे हैं। 19 जून को लॉकडाउन का उल्लंघन करने के आरोप में पुलिस ने 58 वर्षीय जयराज और उनके 38 वर्षीय बेटे बेनीक्स को हिरासत में लिया था। दो दिन बाद कुछ घंटों के अंतराल से दोनों की मौत हो गई। यह ख़बर सामने आते ही लोगों का ग़ुस्सा फूट पड़ा और वे सड़कों पर निकल आए। अब भारत के कई स्थानों पर इस मामले में पुलिस के ख़िलाफ़ कड़ी कार्यवाही की मांग को लेकर लोग प्रदर्शन कर रहे हैं।

इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी आम लोगों के अलावा, खिलाड़ी, अदाकार और राजनितिज्ञ तमिल नाडु के इन पिता-पुत्र को इंसाफ़ दिलाने की मांग कर रहे हैं। तमिल नाडु की पुलिस ने कहा है कि इन दोनों को हिरासत में लेने वाले पुलिसकर्मियों के ख़िलाफ़ कार्यवाही की गई है और मृतकों के घर वालों को हर्जाना दिया गया है। जयराज और उनका बेटा बीनिक्स मोबाइल की दुकान चलाते थे। बाप-बेटे की 23 जून को कोविलपट्टी स्थित अस्पताल में मृत्यु हो गई। जयराम की पत्नी का आरोप है कि पुलिस स्टेशन में बर्बरता से पीटने के कारण उनके पति और बेटे की मौत हुई है।

पुलिस हिरासत में पिता और बेटे की मौत की घटना ने पूरे भारत को हिला कर रख दिया है। इस तरह से पिता और बेटे की मौत की वजह से लोगों में भारी ग़ुस्सा है और वे अपना विरोध जताने के लिए सड़कों पर उतर आए हैं। इस मामले में डॉक्टर की रिपोर्ट में दर्ज टिप्पणियां इस बात की ओर संकेत करती हैं कि दोनों को काफ़ी शारीरिक यातनाएं दी गईं थी।अस्पताल के रिकॉर्ड दोनों को यातनाएं दिए जाने की ओर संकेत करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *