दुनिया

पवित्र मस्जिदे नबवी खुलते ही श्रद्धालुओं का उमड़ा जनसैलाब : पहले ही दिन एक लाख लोगों ने अदा की नमाज़!

सऊदी अरब में कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण को देखते हुए 20 दिनों से अधिक चले लॉकडाउन में 26 मई से धीरे-धीरे छूट दी जाने लगी थी। सऊदी अरब सरकार ने पवित्र मक्का के अलावा लगभग सभी राज्यों और इलाक़ों से कर्फ़्यू को लगभग समाप्त कर दिया था। जबकि इससे पहले चरणबद्ध तरीक़े से इस देश की सरकार ने लॉकडाउन में ढील देना आरंभ कर दिया था।

सऊदी अरब की सरकार ने मई महीने के अंत में लॉकडाउन में और अधिक ढील देते हुए मस्जिदों के दरवाज़े भी आम लोगों के लिए खोल दिए। इस बीच पवित्र मदीने में स्थिति मस्जिदे नबवी को भी 31 मई को खोल दिया गया और लगभग 45 दिनों बाद आम नागरिकों ने मुसलमानों की सबसे महत्वपूर्ण मस्जिदों में से एक इस मस्जिदे नबवी में नमाज़ अदा की। सऊदी अरब के हरमैन-शरीफ़ैन विभाग की ओर से जारी किए गए आंकड़ों में बताया गया है कि, मस्जिदे नबवी के खुलने के पहले ही दिन 93 हज़ार 774 श्रद्धालुओं ने इस पवित्र मस्जिद में नमाज़ अदा की। रिपोर्ट में बताया गया है कि मस्जिदे नबवी के 11 दरवाज़े 31 मई को सुबह की नमाज़ से एक घंटे पहले खोल दिए गए थे और सभी नमाज़ियों को कड़ी जांच के बाद ही मस्जिद में प्रवेश करने की इजाज़त दी गई। मस्जिद खुलने के पहले ही दिन सबसे ज़्यादा 40 हज़ार से अधिक नमाजियों ने मग़रिब की नमाज़ अदा की और इस बीच सोशल डिस्टेंसिंग का भी ख़्याल रखा गया।

उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी को देखते हुए सऊदी अरब सरकार ने 20 मार्च से मस्जिदे नबवी सहित देश की सभी मस्जिदों को बंद कर दिया था। इस बीच 30 और 31 मई के बाद सऊदी अरब की हज़ारों मस्जिदों के दरवाज़ों को नमाज़ियों के लिए खोल दिया गया। दूसरी ओर कर्फ़्यू और लॉकडाउन में ढील दिए जाने के बाद सऊदी अरब में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या में एक बार फिर वृद्धि देखने को मिल रही है। 2 जून से 3 जून के बीच 24 घंटों के अंदर सऊदी अरब में 1800 से अधिक कोरोना से संक्रमित नए मामले सामने आए हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *