दुनिया

बोस्नियाई जनता मना रही है इस्लाम स्वीकार करने की 510वीं सालगिरह का जश्न!

बोस्निया में रविवार को इवाज़ दादा नाम का जश्न शानो शौकत से मनाया गया। यह देश का सबसे लंबा जश्न माना जाता है जो कई दिनों तक जारी रहता है। इस जश्न में बोस्निया के लोग इवाज़ दादा नाम के व्यक्ति के माध्यम से बोस्निया में इस्लाम के प्रवेश की ख़ुशी मनाते हैं।

रविवार को प्रोसाग के इलाक़े में स्थानीय लोगों ने बहुत बड़ा जश्न मनाया और एक खुली जगह पर नमाज़ अदा की।

जश्न के कार्यक्रमों की प्रबंधक कमेटी के प्रमुख अहमद आदिल ओविट्स ने कहा कि इतिहास का सम्मान करना भविष्य की ज़रूरत है।

बोस्निया का इतिहास कहता है कि तुर्की से एक व्यक्ति प्रोसाग पहुंचे थे जिनका नाम इवाज़ दादा था। उस समय इस इलाक़े में सूखा पड़ा हुआ था। उन्होंने चालीस दिन तक इस इलाक़े में इबादत और दुआ की यहां तक कि उन्हें एक पहाड़ से निकलने वाली छोटी नदी की जानकारी मिली। उन्होंने इस नदी से प्रोसाग के इलाक़े में पानी पहुंचाया और पूरी आबादी को सूखे से निजात दिलाई। स्थानीय लोगों ने इसे चमत्कार का नाम दिया और इस्लाम स्वीकार कर लिया। अलबत्ता कुछ इतिहासकारों की अलग राय भी है।

कुछ इतिहासकार कहते हैं कि 15वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में उसमानी ख़िलाफ़त का इस इलाक़े पर नियंत्रण हुआ और उसके बाद एक लंबे समय में धीरे धीरे इस इलाक़े में इस्लाम फैला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *