खेल

कोरोना महामारी के बीच वेस्टइंडीज़ ने इंग्लैंड को ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज़ के पहले मैच में चार विकेट से हराया : रिपोर्ट

इंग्लैंड ने टॉस जीतकर स्कोरबोर्ड पर 204 रन टांगे थे, जिसके जवाब में वेस्टइंडीज ने 318 रन बनाए और 114 रन की अहम बढ़त हासिल की। दूसरी पारी में इंग्लैंड ने 313 रन बनाए और मैच के पांचवें और आखिरी दिन वेस्टइंडीज के सामने 200 रन का लक्ष्य रखा था। सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच गुरुवार 16 जुलाई से मैनचेस्टर में खेला जाएगा।


कोरोना महामारी की वजह से ठप हो चुकी क्रिकेट प्रतियोगिता इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच टेस्ट सीरीज से शुरू हुई। साउथैम्पटन के मैदान पर खेले गए इस ऐतिहासिक मैच के पांचवें और आखिरी दिन रविवार को मेहमान टीम ने अपने नाम किया। इस तरह से तीन टेस्ट की श्रृंखला में वेस्टइंडीज ने 1-0 की अहम बढ़त ले ली। इंग्लैंड ने आखिरी दिन वेस्टइंडीज के सामने 200 रन का लक्ष्य दिया था, जिसके जवाब में जेसन होल्डर के लड़ाकों ने चार विकेट से यह मैच अपने नाम किया। इस जीत के हीरो जर्मेन ब्लैकवुड रहे, जिन्होंने 95 रन बनाए, उन्हें इंग्लिश कप्तान बेन स्टोक्स ने शतक बनाने से रोका और अपना दूसरा शिकार बनाया। इंग्लैंड के लिए जोफा आर्चर ने सर्वाधिक तीन विकेट चटकाए।

अंत तक इंग्लैंड ने नहीं मानी हार
आर्चर और जेम्स एंडरसन ने शुरू से ही घातक गेंदबाजी करके वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों को परेशानी में रखा। लंच से पहले क्रेग ब्रेथवेट, शाई होप और समर ब्रूक्स अपना विकेट गंवा चुके थे। जबकि सलामी बल्लेबाज जॉन कैंपबेल को चोट लगने के कारण मैदान छोड़ना पड़ा। बारबाडोस में जन्में तेज गेंदबाज आर्चर ने छठे ओवर में इंग्लैंड को पहली सफलता दिलाई, जब ब्रेथवेट ने उनकी गेंद अपने विकेटों पर खेली। आर्चर ने ब्रूक्स को अगले ओवर में पगबाधा आउट किया। होप ने कवर ड्राइव से दो चौके लगाए, लेकिन वुड ने गेंद संभालते ही उन्हें बोल्ड कर दिया। होप वुड पर ड्राइव करने के प्रयास में चूक गए थे।

शतक से चूके जीत के हीरो ब्लैकवुड
वेस्टइंडीज के लिए दूसरे सत्र का आकर्षण ब्लैकवुड रहे, हालांकि वह शतक से चूक गए, उन्होंने 12 चौके लगाए हैं। रोस्टन चेज ने भी उनका अच्छा साथ निभाया। दोनों के बीच 73 रन की साझेदारी हुई, चेज को आर्चर के बाउंसर पर विकेटकीपर जोस बटलर ने कैच किया। इसके बाद ब्लैकवुड और डोरिच ने पांचवें विकेट के लिए 68 रन जोड़े। इससे पहले सुबह इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी आठ विकेट पर 284 रन से आगे बढ़ाई और आर्चर के 23 रन के मदद से स्कोर 313 रन तक पहुंचाया। इससे पहले दूसरी पारी में कैरेबियाई पेसर शैनोन गैब्रिएल ने आर्चर और वुड (दो) दोनों को विकेट के पीछे कैच कराया तथा 75 रन देकर पांच विकेट लिए।

भले ही कार्यवाहक कप्तान बेन स्टोक्स अपनी कप्तानी में इंग्लैंड को जीत नहीं दिला पाए, लेकिन उन्होंने अपने खाते में एक और रिकॉर्ड जोड़ लिया। वह टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेजी से 150 विकेट और 4000 रन बनाने दूसरे खिलाड़ी बन गए। वह खेल के लंबे प्रारूप में 150 विकेट और 4 हजार रन बनाने की दोहरी उपलब्धि रखने वाले छठे क्रिकेटर बन गए हैं। स्टोक्स से पहले इस सूची में वेस्टइंडीज के गैरी सोबर्स, इंग्लैंड के इयान बॉथम, भारत के कपिल देव, दक्षिण अफ्रीका के जैक कैलिस न्यूजीलैंड के डेनियल विटोरी के नाम शामिल हैं। स्टोक्स ऐसा सबसे तेजी से करने वाले दूसरे खिलाड़ी हैं. उनसे तेज यह उपलब्धि वेस्टइंडीज के गैरी सोबर्स ने किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *