विशेष

भाजपा का कोरोना बम : राम मंदिर बना कोरोना मरक़ज़ : video

 

shamsher Ali Khan
============
राम मंदिर बना कोरोना मरक़ज़-
अयोध्या राम मंदिर के पुजारी समेत 16 पुलिस वालों को हुआ कोरोना,
बेशक अल्लाह के घर देर है अंधेर नहीं!☝️

sushil Manav
=========
भाजपा का कोरोना बम
…………………
दो दिन पहले मैंने मध्य प्रदेश के एक मंत्री के बारे में लिखा था. ये महोदय शिवराज सिंह चौहान को कोरोना होने से ठीक पहले उनके साथ थे. शिवराज अस्पताल गए और यह आदमी चुनावी बैठक करने में जुट गया.
एक दिन घर में क्वारंटीन रहा. फिर उपचुनाव की तैयारियों में निकल पड़ा. सांवेर सीट के कई गांवों में जाकर क़रीब साढ़े तीन हज़ार लोगों से मुलाक़ात की.
फिर बीजेपी दफ़्तर में बैठक करने भी पहुंच गया.
बैठक उस दिन था जब इंदौर में कंप्लीट लॉकडाउन था. किसी को बिना वजह बाहर घूमने की इजाज़त नहीं थी. फिर भी, तुलसी सिलावट ‘कोरोना बम’ बनकर घूमता रहा. तब उसने कहा कि उसे कोरोना से डर नहीं लगता.
ये भी कहा बीजेपी दफ़्तर भी उसका ‘घर’ ही है, इसलिए वो इसे ‘होम क्वारंटीन’ ही गिनता है.
सिलावट को डर भले न लगता हो, लेकिन उसने सैकड़ों-हज़ारों लोगों तक कोरोना पहुंचा दिया है. इन लोगों के पास सिलावट जैसी सुविधा नहीं है. सिलावट की तरह वे VVIP नहीं हैं.
अब इस सिलावट की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.
लेकिन उससे ठीक पहले, मंगलवार को सुबह-सुबह ये आदमी कलेक्टरेट पहुंचा और वहां वर्चुअल बैठक की. कलेक्टर मनीष सिंह से चर्चा करने के बाद मीडियाकर्मियों से भी मिला.
ये सब तब हुआ तब तुलसी सिलावट टेस्ट के लिए सैंपल भेज चुका था.
‘कोरोना बम’ शब्द से जिसे आपत्ति हो, वो बीजेपी और मीडिया द्वारा जमात के लिए इस्तेमाल किए गए शब्दों की सूची पर नज़र डालें.
जमात को उस दौर में ‘बम’ बताया जा रहा था, जब कोरोना को लेकर स्पष्ट गाइडलाइन तक सरकार ने जारी नहीं की थी. तुलसी सिलावट तो स्पष्ट रूप से दुनिया की जानकारी में कोरोना लेकर लोगों तक फैला रहा था.
सिलावट सिंधिया गुट का पूर्व कांग्रेसी और मौजूदा भाजपाई है. इस वक़्त जल संसाधान मंत्री है सूबे का.


Rani Rajesh
===============
आपका बच्चा बीमार है. मरने की हालत में है. आप पहले आलीशान बंगला बनवाएंगे या बच्चे को अस्पताल ले जाएंगे?

आप कहेंगे कि ये कैसा पागलपन से भरा सवाल है? लेकिन देश इसी पागलपन के हवाले हो चुका है.

मरीज अस्पताल के बाहर दम तोड़ रहे हैं, उन्हें बिस्तर नहीं मिल रहे हैं, डॉक्टर नहीं मिल रहे हैं. सरकार में बैठी पार्टी सैकड़ों आलीशान दफ्तर बनवाने की घोषणा कर रही है.


जेपी नड्डा ने घोषणा की है कि ‘अमित शाह के नेतृत्व में 500 नये दफ्तर बनाए गए, 400 और नए दफ्तर बनाए जाएंगे’.
अभी दो दिन पहले की बात है, गुना में एक महिला अपने टीबी के मरीज पति को अस्पताल ले गई थी. उसके पास पर्ची कटाने के पांच रुपये नहीं थे. अपने

मासूम बच्चे के साथ पति पत्नी जिला अस्पताल के सामने रात भर पड़े रहे. आखिरकार उसकी मौत हो गई.

आज मैंने सोचा कि ऐसी घटनाओं के बारे में लिखता हूं जहां लोगों को अस्पताल न मिलने से मौत हुई हो. मीडिया में देश भर से ऐसी खबरें भरी पड़ी हैं. पूरब से लेकर पश्चिम तक, उत्तर से लेकर दक्षिण तक.


34000 लोगों की मौत हो चुकी है, संक्रमण का आंकड़ा 15 लाख पार कर गया है. पार्टियां दफ्तर बनवा रही हैं. सेंट्रल विस्टा बनवा रही हैं. विधानभवन बनवा रही हैं. मंदिर बनवा रही हैं. सरकार गिरा रही हैं, सरकार बना रही हैं. जनता जो कोरोना से बचेगी, वह बाढ़ में बह जाएगी. ये सरकारें और पार्टियां कुल मिलाकर लोगों को उल्लू बना रही हैं.

हैरानी इस बात की है कि जनता अभाव में मरने को तैयार है, लेकिन सवाल उठाने या नाराजगी जाहिर करने को तैयार नहीं है.
Krishna Kant

Shamsher Ali Khan
==============
तिरूपति मंदिर के महंत की कोरोना से मृत्यु के बाद राम मंदिर महंत 16पुलिसकर्मियों सहित कोविड-19 पॉज़िटिव पाए गये,जय श्रीराम

Journalist Jafri
==============
उत्तर प्रदेश : मुठभेड़ की फोटो वायरल, आईपीएस अधिकारी बोले- दारोगा जी, स्टंट करने का इतना ही शौक था तो फिल्मों में ट्राई मार लेते
विकास दुबे एनकाउंटर के बाद यूपी में कई बदमाशों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। यूपी में अब हालात यह है कि किसी ना किसी जिले में राेज एक या दो बदमाश एनकाउंटर में या तो मारे जा रहे हैं या गिरफ्तार हो रहे हैं। हालांकि समय-समय में यूपी पुलिस के इन एनकाउंटर पर सवाल भी उठते रहे हैं। इसी बीच सोशल मीडिया पर पुलिस की एक फोटो वायरल हो रही है जिसमें दारोग बदमाश को पीछे से पकड़े हैं। इस फोटो के वायरल होने के बाद लोग पुलिस पर खिचाई कर रहे हैं। खुद आईपीएस नवनीत सिकेरा ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा है स्टंट करने का इतना ही शौक था तो फिल्मों में ट्राई मार लेते , कसम से रेम्बो की याद दिला दी।

वैसे अभी तक यह आधिकारिक रूप से पुष्ट नहीं हो पाया है कि यह फोटो किस जिले का है, लेकिन पुलिस सूत्रों के मुताबिक यह हमीरपुर जिले की फोटो है।बताया जा रहा है कि दारोगा ने जिस बदमाश को पकड़ा है वह हिस्ट्रीशीटर है और उसने अपने चाचा पर फायरिंग की थी। यह घटना थाना राठ क्षेत्र अंतर्गत हुई। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर बदमाश को गिरफ्तार किया। बदमाश को जेल भेज दिया गया है।

पुलिस की इस फोटो पर लोग तरह-तरह के कमेंट भी कर रहे हैं। सुधांशु कुमार लिखते हैं इस बंदे को दोबारा ट्रेनिंग सेंटर भेजने की जरूरत है। आईपीएस अधिकारी की पोस्ट पर कमेंट करते हुए देवांश चौहान लिखते हैं इतना काहे चिपक रहे हो भाई कोरोना चल रिया है। अभिषेक लिखते हैं यह तो भोजपुरी फ़िल्म के दारोगा लग रहे हैँ।

डिस्क्लेमर : इस आलेख/post/twites में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया फेसबुक पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *