देश

श्री मोदी का मानना ​​है कि दुनिया उनके जैसी है : राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी पर निशाना साधा

राहुल गांधी ने भी मंगलवार को NSA की चीनी पक्ष से हुई बातचीत पर सवाल उठाया था. उन्होंने दोनों पक्षों का बयान शेयर करते हुए ट्विटर पर सवाल उठाया था कि आखिर भारत ने इलाके में यथास्थिति को बनाए रखने पर जोर क्यों नहीं दिया था? वहीं, चीन भारतीय जवानों पर किए गए इस हमले को सही कैसे ठहरा पा रहा है?

बुधवार को सूत्रों के हवाले से आई खबर के मुताबिक, चीनी सेना अब LAC पर भारत-चीन बॉर्डर पर अपनी निर्धारित सीमा के अंदर है. खबर आई है कि रविवार की बातचीत के बाद, दोनों देशों की सेनाओं ने लद्दाख की चार जगहों पर- गलवान घाटी, हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और पैन्गॉन्ग लेकर फिंगर्स इलाके से अपनी-अपनी सेनाएं हटाने और दोनों सेनाओं के बीच में बफर ज़ोन बनाने की प्रक्रिया शुरू कर रही हैं.

देश से जुड़े विभिन्‍न मुद्दों के बीच कांग्रेस और केंद्र की सत्‍ता पर काबिज बीजेपी के बीच ‘बयान वार’ थमने का नाम नहीं ले रहा. चीन से जुड़ा सीमा विवाद हो या फिर कोरोना महामारी के खिलाफ सरकार का बचाव मुद्दा राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की अगुवाई में कांग्रेस नेताओं ने बीजेपी खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगातार हमले बोले हैं. बीजेपी की ओर से भी चीन मामले और इमरजेंसी के मामले में कांग्रेस और इसके गांधी परिवार के खिलाफ बयान दिए गए हैं. कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)पर निशाना साधा है. एक ट्वीट करके उन्‍होंने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है.

Rahul Gandhi
@RahulGandhi
Mr Modi believes the world is like him. He thinks every one has a price or can be intimidated.

He will never understand that those who fight for the truth have no price and cannot be intimidated.

पीएम पर हमला बोलने के मुद्दे का राहुल ने सीधा जिक्र तो नहीं किया है लेकिन ट्वीट की भाषा से अंदाज लगाया जा सकता है कि संभवत: गांधी परिवार से जुड़े तीन ट्रस्‍ट पर सरकार की ओर से जांच के लिए समिति गठित करने के मसले पर उन्‍होंने यह ‘वार’ किया है. राहुल ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘ श्री मोदी का मानना ​​है कि दुनिया उनके जैसी है. वह सोचतें है कि हर एक की कीमत है या उसे डराया जा सकता है. वह यह कभी नहीं समझेंगे कि जो लोग सच्चाई के लिए लड़ते हैं उनकी कोई कीमत नहीं है और उन्हें डराया नहीं जा सकता.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार (Government of India) ने कहा है कि गांधी परिवार (Gandhi Family) से जुड़े तीन ट्रस्टों के खिलाफ वित्तीय लेन-देन में कथित अनियमितताओं को लेकर जांच की जाएगी. केंद्रीय गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) के प्रवक्ता ने बुधवार सुबह एक ट्वीट में जानकारी दी है कि राजीव गांधी फाउंडेशन (Rajiv Gandhi Foundation), राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट (Rajiv Gandhi Charitable Trust) तथा इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट (Indira Gandhi Memorial Trust) द्वारा इनकम टैक्स (Income Tax) तथा वित्तीय दान से जुड़े नियमों के कथित उल्लंघन के खिलाफ जांच के लिए मंत्रालय द्वारा अंतर-मंत्रालयी समिति (inter-ministerial committee) का गठन किया गया है.

गृह मंत्रालय के एक ट्वीट में कहा गया कि जांच का फोकस गांधी परिवार द्वारा संचालित किए जाने वाले ट्रस्टों द्वारा प्रिवेन्शन ऑफ मनी लॉन्डरिंग एक्ट (PMLA), इनकम टैक्स एक्ट तथा फॉरेन कॉन्ट्रीब्यूशन (रेग्युलेशन) एक्ट जैसे कानूनों के उल्लंघन पर रहेगा. गृह मंत्रालय के अनुसार, प्रवर्तन निदेशालय (ED) के विशेष निदेशक (special director) समिति के प्रमुख होंगे. पिछले माह, सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने कांग्रेस पर ‘खुल्लमखुल्ला धोखाधड़ी’ का आरोप लगाया था, और कहा था कि अपने कार्यकाल के दौरान डॉ मनमोहन सिंह सरकार ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (PMNRF) से राजीव गांधी फाउंडेशन (RGF) को रकम दान की थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *