दुनिया

अरब जगत के पहले परमाणु ऊर्जा संयंत्र ने काम करना शुरू किया : रिपोर्ट

संयुक्त अरब इमारात (यूएई) के परमाणु ऊर्जा विभाग (ईएनईसी) ने कहा है कि अरब जगत के पहले परमाणु ऊर्जा संयंत्र की पहली इकाई ने काम करना शुरू कर दिया है।

प्रमुख तेल उत्पादक देशों में से एक यूएई की राजधानी अबू-धाबी के पश्चिम में फ़ार्स खाड़ी के तट पर स्थित बरकाह परमाणु ऊर्जा संयंत्र को 2017 से काम शुरू करना था, लेकिन इसके उद्घाटन में कई बार देरी हुई।


कोरिया इलेक्ट्रिक पॉवर कॉरपोरेशन (केईपीसीओ) द्वारा तामीर किया जाने वाला अरब जगत का यह पहला परमाणु ऊर्जा संयंत्र है, जिसने काम करना शुरू कर दिया है।

शनिवार को ईएनईसी ने एलान किया कि उसकी सहायक कंपनी नवाह एनर्जी कंपनी ने अबू-धाबी के अल ज़फ़राह क्षेत्र में स्थित बरकाह परमाणु ऊर्जा संयंत्र की यूनि-1 ने सफलतापूर्वक काम शुरू कर दिया है।

दुबई के शासक शेख़ मोहम्मद बिन राशिद अल-मख़तूम ने इसे अरब दुनिया का पहला शांतिपूर्ण परमाणु ऊर्जा संयंत्र बताते हुए ट्वीट किया कि चार इकाईयों वाले इस संयंत्र की पहली इकाई में परामणु ईंधन लोड कर दिया गया है।

यूएई का कहना है कि परियोजना के पूरा होने पर, बरकाह में 5,600 मेगावाट क्षमता वाले चार रिएक्टर होंगे।

यूएई के पास पर्याप्त तेल और गैस भंडार हैं, लेकिन एक करोड़ की आबादी वाले इस अरब देश ने सौर ऊर्जा सहित स्वच्छ ऊर्जा के विकल्पों के विकास पर भारी निवेश किया है।

फ़ार्स खाड़ी के अरब देशों में यह पहला परमाणु संयंत्र है। दुनिया में सबसे अधिक तेल निर्यात करने वाले देश सऊदी अरब ने कहा है कि वह 16 परमाणु रिएक्टर बनाने की योजना बना रहा है, हालांकि अभी तक इस परियोजना पर अमल किया जाना बाक़ी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *