देश

CDS जनरल बिपिन रावत ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को अहम बताया : चीन घर में घुसा बैठा है उस पर नहीं बोलेंगे : रिपोर्ट

भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत तक़रीबन हर मामले पर बोलते हैं, वो अपनी बात मीडिया, सोशल मीडिया के माध्यम से कहते रहते हैं, नागरिकता कानून, जवाहर लाल यूनिवर्सिटी के छात्रों पर दिल्ली पुलिस की बर्बरता से लेकर दिल्ली के नरशानाहर के मामले में भी सरकार के समर्थन में किसी राजनेता की तरह मैदान में आ कर बयान देते नज़र आये थे, इस सरकार में ये देखने को मिला है कि जिस नेता अथवा अधिकारी का जो काम है वो उसे छोड़कर बाकी पर बड़े विशेषग की तरह अपनी बात कहते हैं, वित्यमंत्री वित्य की बात न कर कृषि की बा करें, कृषि मंत्री, कोयले पर बोले, रेल मंत्री सड़क की बात करे और सड़क का मंत्री लॉक डाउन में टोल टैक्स माफ़ करे, ऐसा ही हो रहा है, अब शिक्षा नीति पर CDS का क्या मतलब आप चीन की तरफ से जो कब्ज़ा हुआ है उस पर क्यों नहीं बोलते हैं, पुलवामा की जांच रिपोर्ट का क्या हुआ, उस पर क्यों नहीं बोलते हैं और वो अमेरिका निर्मित पाकिस्तानी F -16 जो मार गिराया था जिसकी खिड़की लेकर सेना के अधिकारीयों को मीडिया के सामने झूठ बोलने के लिए भेज दिया था, उस पर क्यों नहीं बोलते हैं

देश में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू होने पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने इसे सेना के दृष्टिकोण से अहम बताया है। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति आने से सीखने की प्रक्रिया में बड़ा बदलाव होगा, इसकी वजह से सशस्त्र बलों को ग्रामीण इलाकों से सेना के लिए युवाओं की पहचान करने में मदद मिलेगी।

रक्षा प्रमुख रावत ने नई शिक्षा नीति लागू करने के लिए शिक्षा मंत्रालय की तारीफ की और कहा कि इससे प्राथमिक स्तर पर नवीन और अनुसंधान आधारित सीख  के साथ युवा पीढ़ी में कौशल विकसित करने का मौका मिलेगा और इससे उन्हें रोजगार मिलने भी मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा, कॉलेज स्तर पर होने वाले बदलावों की वजह से युवाओं को बड़ा फायदा मिलेगा और इसके लिए शिक्षकों को तैयार रहना होगा और आगे बढ़कर भागीदारी निभानी होगी।

बता दें कि बुधवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने स्कूल और कॉलेज स्तर की पढ़ाई में कई अहम बदलाव के साथ राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को मंजूरी दे दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *