विशेष

और कायरता के इतिहास में अमर हो गया : झूक गया बिक गया……

DEMO PICS

पूरे देश में N.R.C लागू करने की बात हो रही है जबकि अभी सिर्फ असम में सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में पहले एक करोड़, फिर 40 लाख की बात कही गयी और अब फाइनल लिस्ट में 19 लाख से कुछ ज़ियादा हैं।

अगर पूरे देश में ये प्रक्रिया लागू की गई तो फिर 2 से 3 करोड़ लोगों की जिसमें ज़्यादातर मुस्लिम होंगे कि नागरिकता छीन ली जाएगी और उन्हें डिटेंशन सेंटर में रखा जाएगा।जबकि अभी असम से, जो खबरें आ रही हैं वो भयानक और चिंताजनक हैं।

कई ऐसे परिवार हैं, जिनमें हिन्दू भी हैं और मुस्लिम भी, N.R.C list में मां का नाम है तो बाप का नहीं है या फिर लड़का, लड़की का है तो बाप का नही, पति का है तो पत्नी का नही और पत्नी का है तो पति का नही है। इस तरह की गड़बड़ियां बड़े पैमाने पर सामने आई हैं। इससे घर, के घर तबाह ओ बर्बाद हो रहे हैं। मां को जेल में बनाये गए हिरासत केंद्रों में रखने की वजह से छोटे, छोटे निर्दोश बच्चे भी मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। उचित खान, पान और सोने, बैठने की सुविधा ना होने से कई बुड्ढे और बच्चे बीमार हो गए, जो समुचित इलाज की सुविधा ना मिलने से असमय अल्लाह को प्यारे हो गए। कई गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं और हिरासत केंद्रों में इलाज की और चिकित्सक की व्यवस्था नहीं होने से बीमारी का शिकार हो कर मर जा रहे हैं। कई नागरिकता साबित करने के चक्कर में बर्बाद हो गए। कोर्ट, कचहरी और कागज़ात के चक्कर में घर बिक गए। घर से बेघर हो गए। आर्थिक संकटों का सामना है, बच्चों की पढ़ाई छूट गयी और कम उम्र में ही किशोरों पर पढ़ाई छोड़ कर घर चलाने की ज़िम्मेदारी आ पड़ी है और वे मज़दूरी करने को मजबूर हैं।

ठीक है आपने जांच की और अवैध नागरिक या अवैध प्रवासी पाए जाने पर आपने नागरिकता छीन ली फिर भी इंसान होने के नाते उनके कुछ बुनियादी अधिकार हैं या नहीं? इन डिटेंशन सेंटर्स में जिस तरह से बांग्लादेशी घोषित किये गए अवैध अप्रवासियों को आवारा पशुओं की तरह ठूंस, ठूंस कर रखा गया है और घटिया खाना परोसा जा रहा है तो ये लोग असमय काल के गाल में समाते चले जायेंगे और मौत का शिकार हो जाएंगे। ये तो फिर हिटलर के द्वारा बनाये गए हिरासती केंद्रों की तरह होंगे और भारत में भी होलोकास्ट का शिकार हो कर हज़ारों की मौत हो जाएगी। भले ही वो गैस चैम्बर के बजाए किसी और तरह से हो जाये।


Shamsher Ali Khan
============
अटल के पाप, गद्दारी का नतीजा आज भी देश भुगत रहा है..चीन ने क्या बोला : “So Called Arunachal” यानी “तथाकथित अरुणाचल प्रदेश”..कैसे हिम्मत हुई चीन की? क्या मोदी की हिम्मत है “So Called Tibet” बोलने की?

– और चीन के दलाल अटल ने तिब्बत को चीन का हिस्सा होने की मान्यता दे दी थी..आरएसएस ने भी अटल को इस पाप के लिए क्षमा नही किया..देश की आजादी से अटल ने समझौता किया था..

(अटल के पाप का लिंक : https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=1387394464791114&id=100005617215809)

– आजतक भारत सरकार या सेना ने आधिकारिक रूप से 5 भारतीयों के अपहरण को स्वीकार ही नही किया है..और चीन अरुणाचल को भारत का हिस्सा नही मानता..यानी अरुणाचल के नागरिक भी भारतीय नही है..18 बार मोदी चीन गया था इस दिन को दिखाने के लिए?

– एक कायरता का ड्रामा किया है संघी राम माधव ने..स्पेशल फ्रंटियर फ़ोर्स या SFF के तिब्बती जवान तेनजिन के अंतिम संस्कार की फ़ोटो ट्वीट कर डिलीट कर दिया..क्या तेनजिन भारत के शहीद नही है? तो फिर शहीद तेनजिन का अपमान क्यो किया?

– SFF का गठन नेहरुजी ने 1962 में किया था..नेहरुजी ने तिब्बती शरणार्थियों की सेना तैयार की थी..ये सेना चीन के खिलाफ गुप्त ऑपेरशन करती है..
कायर मोदी देश के नागरिकों को चीन से छुड़ाने के बदले एक औरत(!!) का सहारा ले रहा है..तड़ीपार अमित शाह की रेंज देखिए : मानसी सोनी की जासूसी से कंगना की Y सिक्योरिटी तक..और मोदी : कायरता के इतिहास में अमर हो गया..झूक गया, बिक गया..


Suryaansh Mulnivasi
=========
प्रताप सरनाइक का आरोप है कि अर्णब गोस्वामी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया है जिसे देखते हुए उनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई होनी चाहिए। सरनाइक ने कहा कि टीआरपी की होड़ में रिपबल्कि टीवी और उसके एंकर संपादक अर्णब गोस्वामी ने लगातार झूठ बोला और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की प्रतिष्ठा को धूमिल किया।


Kroordarshan / क्रूरदर्शन
========
26 May मई – 09 Sep सितम्बर 2020
100 debates on Republic Bharat रिपब्लिक भारत by Arnab Goswami अर्नब गोस्वामी :
SSR / सुशांत सिंह राजपूत : 39
Anti-Congress / कांग्रेस के खिलाफ : 21
Pakistan / पाकिस्तान : 12
Religion based / धर्म पर आधारित : 11
China / चीन : 5
Vikas Dubey / विकास दूबे : 5
Hailing Modi / मोदी के गुणगान : 3
Delhi riots / दिल्ली दंगे : 3
Unlock 1.0 / अनलॉक : 1
Corona / कोरोना : 0
Economy / अर्थव्यवस्था : 0
Unemployment / बेरोज़गारी : 0
Farmer suicides / किसानों की आत्महत्या : 0
Health infrastructure / स्वास्थय व्यवस्था : 0
Environment / पर्यावरण :0
Education / शिक्षा : 0
Anything relevant to public / आम जनता के मुद्दे : 0
*Last 40 debates (till 10 Sep 20) have been on SSR case.
*आखरी 40 बेहेस सुशांत सिंह राजपूत केस पे हुई हैं.


डिस्क्लेमर : इस आलेख/post/twites में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया फेसबुक पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *