ब्लॉग

नौजवान पीढ़ी देख लीजिए, यह काम भारतीय जनता पार्टी के लोग देश और समाज के ख़िलाफ़ कर रहे हैं!

Himanshu Kumar
==========
ऐसा नहीं है कि सिर्फ मुसलमानों के खिलाफ हिंदुओं के दिलों में नफरत भरी जा रही है
बल्कि हर इंसान को दूसरे इंसान के खिलाफ नफरत में डाला जा रहा है
जातियों के बीच नफरत बढ़ाई गई है
औरतों के खिलाफ मर्दों के दिल में नफरत बढ़ाई गई है
अगर आप ध्यान दें तो औरतों की बराबरी की मांग को गंदी गंदी गालियां देना भी एक राजनैतिक विचारधारा है
बेशक यह काम भारतीय जनता पार्टी के लोग कर रहे हैं
लेकिन यह नफरत सिर्फ यहां रुक नहीं जाती
आप नौजवान पीढ़ी को देख लीजिए
वह अब किसी से जुड़ाव महसूस नहीं करते न समाज से न परिवार से
आज बहुत मेहनत के बाद इंसान को अकेले खड़ा कर दिया गया है
अब आप मिलकर किसी बात का विरोध नहीं कर सकते
अब आप कमजोर अकेले इंसान बन गए हैं
यही पूंजीवाद की योजना है
कि इंसान को इतना कमजोर कर दो कि वह आपकी शर्तों पर खुद को बेचने के लिए तैयार हो जाए
और आप का विरोध करने की हिम्मत और ताकत खो बैठे
आज सरकार पूंजीपतियों के कहने से आप की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर रही है आपकी नौकरियां खत्म कर रही है समाज में नफरत फैला रही है लेकिन आप विरोध करने की ताकत खो बैठे हैं
टेक्नोलॉजी को इस काम के लिए इस्तेमाल किया गया
सरकार और उसकी बनाई हुई मीडिया को इस काम के लिए इस्तेमाल किया गया
अदालतों और अन्य सरकारी संस्थाओं को इस काम के लिए इस्तेमाल किया गया
बहुत साल पहले मार्गरेट थैचर के मुंह से निकल गया था कि हम चाहते हैं कि व्यक्ति को समुदाय के रूप में नहीं एक व्यक्ति के रूप में विकसित किया जाए
क्योंकि समुदाय ताकतवर होता है और व्यक्ति कमज़ोर
लेकिन निराश होने की जरूरत नहीं है आप अपनी कमजोरी में से निकल कर मजबूती को फिर से हासिल कर सकते हैं
जैसे ही आप समुदाय के साथ अपने रिश्ते मजबूत करेंगे जातियों के भेद खत्म करेंगे हिंदू मुसलमान का भेदभाव छोड़ेंगे आप फिर से ताकतवर हो जाएंगे
इसलिए जो लोग मुगलों के जुल्मों की फर्जी कहानियां सुनाकर आपको मुसलमानों के खिलाफ भड़काते हैं
धर्म की बात करके जातियों के बीच नफरत फैलाते हैं
एकता की बात करने वालों को देशद्रोही सेकुलरलिस्ट कम्युनिस्ट कहकर आपके दिमाग में नफरत भरते हैं
वह दरअसल आप को कमजोर करने की साजिशें कर रहे हैं
अगर आपको खुद के ही खिलाफ हो जाना है
तो भरे रहिए नफरत से अपने आसपास के हर इंसान के खिलाफ
और खुद को बर्बाद होने से बचाना है तो दिलों से नफरत निकाल दीजिए

डिस्क्लेमर : इस आलेख/post/twites में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया फेसबुक पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *