देश

मोदी सरकार के किसान विरोधी अध्यादेशों के ख़िलाफ़ #पंजाब के #किसान_प्रीतम_सिंह नें ज़हर खा लिया, नये किसान आंदोलन के पहले शहीद को सलाम!

बठिंडा।केंद्र सरकार की तरफ से पेश कृषि विधेयकों को लेकर अजीब उलझन की स्थिति पैदा हो गई है। इस बीच पंजाब के एक किसान ने कथित तौर पर इन विधेयकों के विरोध में जहर खाकर जान दे दी है। बताया जा रहा है कि गांव अक्कावाली के किसान प्रीतम सिंह ने तीनों अध्यादेश के खिलाफ शुक्रवार सुबह धरने पर बैठे और उन्होंने जहर खा लिया। उन्हें बठिंडा के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया जहां उनकी मौत हो गई है।


@Misra_Amaresh
@misra_amaresh
सरकार के तीन किसान-विरोधी अध्यादेशों के खिलाफ #पंजाब के #किसान_प्रीतम_सिंह, जिन्होनें आज सुबह धरने पर इन काले कानूनो के खिलाफ जहर खा लिया था, की #बठिंडा_हॉस्पिटल मे मौत हो गयी है! नये किसान आंदोलन के पहले शहीद को क्रांतीकारी नमन!

दरअसल, कृषि विधेयकों के खिलाफ पंजाब के किसाों में कुछ ज्यादा ही रोष देखा जा रहा है। इस कारण इस मुद्दे पर वहां की राजनीति भी गरमा गई है। केंद्र सरकार में शामिल शिरोमणि अकाली दल की एकमात्र नेता हरसिमरत कौर बादल ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। उनके पति और पार्टी प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा है कि बाद में यह फैसला भी लिया जाएगा कि बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय प्रजातांत्रिक गठबंधन (NDA) को भी छोड़ा जाय या नहीं। उधर, कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब की कांग्रेस सरकार किसानों को अपने पक्ष में करने की पुरजोर कोशिश कर रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद ही किसानों को मनाने की पहल की है। उन्होंने कृषि विधेयकों को किसानों के हित में बताया है। उन्होंने कांग्रेस पार्टी का नाम लिए बिना कहा कि आज जो लोग जिन विधेयकों का विरोध कर रहे हैं, वो अपने इलेक्शन मेनिफेस्टो इसका वादा कर चुके हैं। पीएम ने कहा कि कई ताकतें कृषि विधेयकों के खिलाफ किसानों को भड़काने में जुटी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *