देश

भाजपा नेता अमरेश सिंह की बेटी का ऐलान : मैंने अपने प्रेमी अज़हर तनवीर से अपनी मर्ज़ी से शादी कर ली है!

धनबाद। झारखंड के धनबाद जिले में भाजपा नेता की अपहृत बेटी को जिले की पुलिस ने बरामद किया है। बरामदगी के बाद पुलिस ने शनिवार को लड़की को धनबाद कोर्ट में पेश किया। इसके बाद लड़की का 164 के तहत बयान दर्ज कराने के लिए अनुरोध किया गया। हालांकि कोर्ट ने तुंरत 164 का बयान दर्ज करने से इनकार कर दिया। कोरोना टेस्ट कराने का निर्देश दिया है। इसके बाद टेस्ट कराया गया। रिपोर्ट आने के बाद 164 के तहत बयान दर्ज होगा। कोर्ट के निर्देश पर पुलिस युवती को लेकर पीएमसीएच कोरोना जांच‌ कराने ले गई है।

बता दें कि भाजपा नेता की पुत्री का अपहरण की घटना स्थानीय क्षेत्रों में काफी चर्चा में रहा है। भाजपा नेता अपनी बेटी की बरामदगी के लिए लगातार दबाव बनाए हुए थे। पुलिस युवती को लेकर कोर्ट पहुंची तो युवती के माता-पिता युवती के पास पहुंचकर समझाने की कोशिश की। युवती कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थी। वह बुर्का पहन कर आई थी। उसने मीडिया से कहा कि उसने अजहर तनवीर से अपनी मर्जी से शादी दी है। वह 21 सितंबर को घर से भागी थी।

वह अपने माता-पिता के साथ नहीं जाना चाहती। वह अपने प्रेमी के साथ ही रहना चाहती है।

पुटकी थाना क्षेत्र के अगवा युवती ने फेसबुक पर वीडियो पोस्ट कर कहा है कि मैं आज सरेंडर करने जा रही हूं, अगर मेरे साथ आगे कुछ होता है तो उसके जिम्मेदार मेरे पिता और अमरेश सिंह होंगे। युवती ने कहा है कि मैं अपने पिता के घर नहीं जाना चाहती हूं और मेरा अपहरण भी नहीं हुआ था। मैंने अपने प्रेमी से शादी भी कर ली है। बता दें कि युवती 22 सितंबर से घर से गायब थी। इस संबंध में युवती के पिता भाजपा नेता ने पुटकी थाना में उसके प्रेमी के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया था।

युवती ने फेसबुक पर पोस्ट किए गए वीडियो में क्या कहा
फेसबुक पर पोस्ट किए गए वीडियो में युवती ने अपना परिचय देते हुए कहा है कि मैं घर से भागी हुई हूं, जहां पर भी हूं सेफ हूं। घर से भागने का कारण है कि मैं मुस्लिम लड़के से प्यार करती हूं जिसका नाम अजहर तनवीर है। मेरे पिता को हम दोनों के प्यार के बारे में 18 महीने पहले पता चला था। तब से आए दिन किसी न किसी वजह से मेरे साथ मारपीट होता रहता था। मैं 21 सितंबर को भी घर से निकली थी, उसका कारण भी था कि मेरे पिता मेरे साथ मारपीट कर रहे थे और जान से मारने की धमकी भी दे रहे थे। उन्होंने धमकी देते हुए कहा था कि मेरे सामने दो-तीन दिन और रही तो जान से मार दूंगा।

पोस्ट किए गए वीडियो में युवती ने कहा है कि पिता कहते थे कि मारकर तुम्हें कहीं फेंक दूंगा और किसी को पता भी नहीं चलेगा। इसके बाद मैं जान बचाकर घर से निकली थी और अपने फ्रेंड के घर पर थी। फिर मैं 22 सितंबर को महिला थाना गई तो महिला पुलिसकर्मियों ने मुझे गंदी-गंदी गालियां दी और मुझे मेरे पिता के हवाले कर दिया गया। मैं अपने पिता के साथ घर नहीं जाना चाहती थी। घर ले जाने के दौरान मुझे गायब करने की बात की जा रही थी। इसके बाद मुझे घर ले जाया गया। फिर से मैं घर से निकल गई और लड़के के घर पहुंची। यहां लड़के के घरवालों ने मुझे रखने से इनकार कर दिया।

इसके बाद मैं बस से लड़के के घर सीमाबाद पहुंची और लड़के को लेकर कहीं और निकल गई। तब से लेकर तीन अक्टूबर तक मैं इधर-उधर घूम रही हूं। आज मैं धनबाद में सरेंडर करने जा रही हूं। अगर आगे मेरे साथ कुछ होता है तो इसके जिम्मेदार मेरे पापा और अमरेश सिंह होंगे। क्योंकि अमरेश सिंह, मेरे पापा और मेरी मम्मी ने एक वीडियो बनाया था जिसमें कहा गया था कि मैं घर से चार लाख रुपए और कुछ ज्वेलरी लेकर निकली हूं जो कि सरासर गलत है। न ही मेरा अपहरण हुआ है और न ही मेरे साथ किसी तरह की जोर जबरदस्ती की गई है। मैंने शादी भी की है तो दोनों धर्म के अनुसार शादी की है। मेरे साथ किसी तरह की कोई जोर जबरदस्ती नहीं की गई है। न ही मेरा धर्म परिवर्तन कराया गया है। मेरे साथ कुछ गलत होता है तो उसके जिम्मेदार अमरेश सिंह होंगे। उन्होंने झूठा बयान दिया है कि मेरे साथ कुछ गलत हुआ है, मुझे काटकर फेंक दिया गया है। मेरे साथ ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है। मैं घर से एक भी रुपए लेकर नहीं भागी हूं। मुझे वापस घर नहीं जाना है।

24 सितंबर को भाजपा नेता ने पुटकी थाना में दर्ज कराया है बेटी के अपहरण का केस
युवती के पिता भाजपा नेता ने 24 सितंबर को पुटकी थाना में कच्छी बलिहारी 10 नंबर निवासी मौज्जम अंसारी के पुत्र अजहर तनवीर उर्फ मुन्ना के खिलाफ बेटी के अपहरण करने का केस दर्ज कराया है। युवती के पिता ने अपनी लिखित शिकायत में कहा कि अजहर ने मेरी बेटी का 21 सितंबर को अपहरण कर लिया है। 28 सितंबर को भाजपा नेता ने कहा था कि थाने में आरोपी के खिलाफ शिकायत करने पर पुलिस टाल मटोल रवैया अपना रही है। वे विधायक से लेकर पूर्व मेयर तक बेटी की कुशलता के लिए गुहार लगा चुके हैं।

30 सितंबर को लड़की के पिता ने झारखंड भाजपा अध्यक्ष से की थी मुलाकात
भाजपा नेता की बेटी के अपहरण का मामला पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश तक पहुंचा था। लड़की के परिवार के लोगों ने 30 सितंबर को रांची जाकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष से मुलाकात की थी। लड़की की बरामदगी करवाने के लिए फरियाद की थी। इस मामले को प्रदेश अध्यक्ष ने गंभीरता से लेते हुए राज्य के पुलिस महानिदेशक से फोन पर बात की थी। लड़की की सकुशल वापसी के लिए त्वरित कार्रवाई करने को कहा था।

वहीं गिरिडीह जिले के बेंगाबाद थाना अंतर्गत मोतीलेदा पंचायत के केंदुआगड़ा गांव में शुक्रवार की रात 60 वर्षीय किसान बंधु महतो की निर्ममता से हत्या कर दी गई।

सूचना मिलने के बाद शनिवार की सुबह पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए गिरिडीह भेज दिया। बता दें कि इसी गांव में एक महीने पहले 25 अगस्त को राजद के जिला उपाध्यक्ष कैलाश यादव की पीटकर हत्या कर दी गई थी जबकि भाजपा नेता इंद्रलाल वर्मा को बुरी तरह जख्मी कर दिया गया था। मुखिया सुखदेव राय एवं उसके बेटों पर हत्या का आरोप है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *