विशेष

आपको कभी भी मिल सकती है ‘कोरोना संक्रमित चिट्ठी’

इंटरपोल ने बताया कि ऐसे भी कुछ मामले सामने आए हैं, जहां राजनेताओं को कोरोना संक्रमित पत्र भेजे गए हैं। इस सूचना से दुनिया भर के नेताओं में हड़कंप मच गया है।

दुनियाभर के 180 से अधिक देशों में कोरोना वायरस ने हाहाकार मचाया हुआ है। अब इसको लेकर एक बड़ी साज़िश का खुलासा हुआ है। दुनिया के दिग्गज नेताओं और हस्तियों के ख़िलाफ़ उनसे नफ़रत करने वाले या उनके दुश्मन कोविड -19 का इस्तेमाल कर रहे हैं। इंटरपोल ने सभी देशों की प्रमुख एजेंसियों को चेतावनी दी है कि वह ऐसे पत्रों से सतर्क रहें, जो कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं। वैश्विक नेताओं को निशाना बनाने के लिए उन्हें इस तरह के संक्रमित पत्र भेजे जा सकते हैं। इंटरपोल ने अपने नए दिशा-निर्देशों में भारत समेत कई देशों को सतर्क रहने के लिए चेतावनी दी है। इंटरपोल ने कहा कि ऐसे भी कुछ मामले सामने आए हैं, जहां राजनेताओं को कोरोना संक्रमित पत्र भेजे गए हैं। कोरोना संक्रमित चिट्ठी को अन्य समूहों पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि, इंटरपोल ने ऐसे किसी भी नेता के नाम का उल्लेख नहीं किया है, जिसे संक्रमित चिट्ठी भेजी गई हो। इंटरपोल ने बताया कि कुछ लोग संक्रमित सैंपल को ऑनलाइन भी बेच रहे हैं।

इंटरपोल ने कहा कि जो लोग नेताओं या मशहूर हस्तियों की सुरक्षा में तैनात हैं, उन्हें अधिक सतर्क रहने की ज़रूरत है। साथ ही डाक विभाग को भी इस जैविक हमले से सतर्क रहने की आवश्यकता है। इंटरपोल ने अपनी गाइडलाइन में कहा है कि ऐसे भी मामले सामने आए हैं, जब पुलिस अधिकारियों, डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों और ज़रूरी सेवाओं से जुड़े लोगों पर जान-बूझकर थूका गया। इससे लोगों के कोरोना से संक्रमित होने का जोखिम बढ़ सकता है। दिशा-निर्देशों में यह भी कहा गया है कि फर्श पर थूककर या किसी के मुंह या वस्तु पर खांसकर संक्रमण फैलाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इंटरपोल ने संबंधित विभागों को साइबर अटैक को लेकर भी सावधान रहने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *