दुनिया

कैसे बना अफग़ानिस्तान दुनिया में आतंकवाद का सबसे बड़ा शिकार : रिपोर्ट

आतंकवाद के खिलाफ युद्ध के बहाने अफगानिस्तान में अमरीकी की बरसों से जारी उपस्थिति के बावजूद यह देश हालिया सर्वे में दुनिया में आतंकवाद का सब से बड़ा शिकार बताया जा रहा है।

अर्थ व्यवस्था और शांति की संस्था आईईपी ने अपनी हालिया रिपोर्ट में बताया है कि अफगानिस्तान निरंतर दूसरे साल भी विश्व में आतंकवाद का सब से बड़ा शिकार रहने वाला देश बना है।

इस रिपोर्ट के अनुसार, अफगानिस्तान, 41 फीसद लोगों की आतंकवाद से मौत के कारण पिछले साल की तरह इस साल भी आतंकवाद में सब से अधिक ग्रस्त होने वाले देश के रूप में जाना गया है।

यह रिपोर्ट एसी दशा में प्रकाशित हुई है कि जब अमरीका लगभग दो दशकों से अफगानिस्तान में इस दावे के साथ उपस्थित है कि वह इस देश में शांति व सुरक्षा स्थापित करेगा।

यह एसी दशा में है कि इस देश में अमरीका के नेतृत्व में तैनात विदेशी सैनिक भी आम नागरिकों की मौत की एक बड़ी वजह हैं।

आईईपी की रिपोर्ट के अनुसार पिछले वर्ष पूरी दुनिया में होने वाले कुल आतंकवादी हमलों में से आधे हमले केवल अफगानिस्तान में हुए हैं।

रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल पूरी दुनिया में 13 हज़ार 826 लोग आतंकवादी घटनाओं में मारे गये हैं जिनमें से 5 हज़ार 700 लोग अफगानिस्तान में मारे गये।

इराक़, नाइजेरिया, सीरिया, सोमालिया, यमन , पाकिस्तान और भारत का नंबर इसके बाद आता है।

आतंकवादी गुटों के नाम में फ़र्क हैं काम में नहींः अहमद सिराज

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा प्रमुख ने कहा है कि आतंकी गुटों के नाम अलग-अलग हो सकते हैं किंतु उनके काम एक समान हैं।

अहमद ज़िया सिराज का कहना था कि आतंकवादी गुटों के काम में उन्हें कोई अंतर दिखाई नहीं देता जबकि नाम के हिसाब से उनमें बहुत अंतर पाया जाता है।

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा प्रमुख के अुनसार आतंकवादी गुटों ने अपने नाम अलग-अलग रखे हैं किंतु काम सबका एक ही है रक्तपात और नरसंहार। उन्होंने कहा कि हम अफ़ग़ानिस्तान के एसा ही देख रहे हैं। अहमद सिराज का कहना है कि तालेबान ने कई आतंकवादी हमलों में दूसरे आतंकी गुटों से मदद ली है। उनका यह भी कहना है कि बहुत से स्थानों में अलग-अलग नाम वाले आतंकी गुट, एकसाथ सैन्य प्रशिक्षण लेते हैं।

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा प्रमुख ने कहा कि देश के सुरक्षा बल इस समय लगभग 20 आतंकी गुटों से संघर्ष कर रहे हैं जिनका समर्थक तालेबान है। यह सारे गुट अफ़ग़ानिस्तान में रक्तपात, हिंसा और विनाश करने में लगे हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *