देश

चौकीदार कहां सो रहा था : सांबा से नगरोटा की दूरी 70 किमी है, बीच में तीन दर्जन से अधिक पुलिस और सेना के नाके हैं, आतंकी इन नाकों को चकमा देने में कैसे कामयाब रहे?

santosh gupta
@BhootSantosh
जम्मू के DGP का कहना है :-
कि जैश-ए-मोहम्मद के जो 4 आतंकी नगरोटा में मारे गए हैं.. वे सांबा सेक्टर से घुसे थे.!

सांबा से नगरोटा की दूरी 70 किमी है, और बीच में तीन दर्जन से अधिक पुलिस और सेना के नाके हैं.! आतंकी इन नाकों को चकमा देने में कैसे कामयाब रहे? चौकीदार कहां सो रहा था.?

ANI
@ANI
Today, we are moving forward with the goal of reducing the country’s carbon footprint by 30-35%. Efforts are on to increase the use of natural gas for energy needs by 4 times in this decade: PM Modi

अमेरिका जिसने अफ़ग़ानिस्तान में कथित तौर पर शांति स्थापित करने के नाम पर विश्व के कई देशों के साथ संगठन बनाकर हमला किया था। लेकिन आज वही अमेरिका अफ़ग़ानिस्तान को और ज़्यादा अशांत बनाकर ख़ुद को वहां से भाग लेना चाहता है।

आशंका है कि अफ़ग़ानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों के हटने के बाद वहां हिंसा और क्षेत्रीय अफरा-तफरी बढ़ सकती है। इसका कारण भी साफ़ है कि, अमेरिकी एजेंसियों के इशारे पर अफ़ग़ानिस्तान पहुंचे दाइश और उससे जुड़े तकफ़ीरी आतंकवादी गुट संगठित होकर अफ़ग़ानिस्तान में मज़बूत हो सकते हैं। वैसे भी अमेरिका और तालेबान के बीच हुए समझौते में सैनिकों को धीरे-धीरे हटाने की बात कही गई थी। अमेरिकी सैनिकों को अप्रैल तक अफ़ग़ानिस्तान छोड़ना था। लेकिन अब अमेरिकी रक्षा मंत्रालय का कहना है कि लगभग 2500 अमेरिकी सैनिक जनवरी तक अफ़ग़ानिस्तान छोड़ देंगे,

BJP Delhi
@BJP4Delhi
जीवन में वही लोग सफल होते है, वही लोग कुछ कर दिखाते है जिनके जीवन में Sense of Responsibility का भाव होता है। विफल वो होते है जो Sense of Burden में जीते है।

Sense of Responsibility का भाव व्यक्ति के जीवन में Sense of Opportunity को भी जन्म देता है।

– पीएम
@narendramodi

#IndiaFightsCorona
@COVIDNewsByMIB
#CoronaVirusUpdates:

State-wise details of Total Confirmed #COVID19 cases
(till 21st November, 2020, 8 AM)

1-30000 confirmed cases
30001-225000 confirmed cases
225000+ confirmed cases
Total no. of confirmed cases so far

डिस्क्लेमर : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया फेसबुक पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *